स्टूडेंट्स सुधार लें जेईई मेन्स के फार्म में रही गलतियां, वरना पछताना पड़ेगा जिंदगी भर

स्टूडेंट्स सुधार लें जेईई मेन्स के फार्म में रही गलतियां, वरना पछताना पड़ेगा जिंदगी भर

raktim tiwari | Publish: Jan, 14 2018 04:02:39 PM (IST) Ajmer, Rajasthan, India

ऑफलाइन परीक्षा 8 अप्रेल और ऑनलाइन परीक्षा 15-16 अप्रेल को होगी। फार्म में रही गलतियां परीक्षा और परिणाम जारी होने तक यूं ही रहेंगी।

रक्तिम तिवारी/अजमेर।

विद्यार्थियों का जेईई मेन्स परीक्षा-2018 के ऑनलाइन फार्म में रही त्रुटियां सुधारना जारी है। विद्यार्थियों को 22 जनवरी तक इसका अवसर मिलेगा। इसके बाद सीबीएसई स्टूडेंट्स को कोई मौका नहीं देगा। फार्म में रही गलतियां परीक्षा और परिणाम जारी होने तक यूं ही रहेंगी। ऑफलाइन परीक्षा 8 अप्रेल और ऑनलाइन परीक्षा 15-16 अप्रेल को होगी।

सीबीएसई की जेईई मेन्स की ऑफलाइन परीक्षा 8 अप्रेल तथा ऑनलाइन परीक्षा 15-16 अप्रेल को होगी। इसके ऑनलाइन फार्म भरने की अंतिम तिथि 1 जनवरी रखी गई थी। देश में 11 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों ने आवेदन किए हैं। कई विद्यार्थियों के नाम, परिजनों के नाम में स्पेलिंग, आधार नम्बर सहित अन्य त्रुटियां रही हैं। बोर्ड ने विद्यार्थियों को 22 जनवरी को आवेदन में रही त्रुटियों में सुधार का अवसर दिया।

इसके लिए विद्यार्थी 23 जनवरी तक बैंक में फीस जमा करा सकेंगे। सीबीएसई ने साफ किया है, कि स्टूडेंट्स ने गलतियां नहीं सुधारी तो इसके बाद कोई अवसर नहीं मिलेगा। गलतियों को सही सूचना मानते हुए बोर्ड इन्हें यूं ही बरकरार रखेगा। बाद में गलतियों को नहीं सुधारा जाएगा।

उर्दू में आएगा पेपर

जेईई मेन्स में इस बार पहली दफा उर्दू में भी पेपर आएगा। इस्लामिक स्टूडेंट मूवमेंट की याचिका पर पिछले वर्ष सुप्रीम कोर्ट ने सीबीएसई को यह निर्देश दिए थे। अब तक जेईई मेन्स में हिंदी, अंग्रेजी, तमिल, मलयालम और अन्य भारतीय भाषाओं में ही पेपर आता रहा है। मुस्लिम विद्यार्थी जो विशेष कर उर्दू भाषा पढ़ते हैं, उनके लिए पेपर देेने में आसानी हेागी।

लाने होंगे 75 प्रतिशत अंक

सीबीएसई ने साफ किया है, कि साल 2018 से बारहवीं के अंक जेईई मेन्स की रैंकिंग के लिए नहीं जोड़े जाएंगे। स्टूडेंट्स को बारहवीं में 75 प्रतिशत अंक लाने होंगे। बोर्ड जेईई मेन्स की रैंकिंग जारी करते के वक्त स्टूडेंट्स के बारहवीं के अंक काउन्ट नहीं करेगा। दूसरे राज्य जिन्होंने जेईई मेन्स को अपनाया है, उन्हें भी इसकी पालना करनी होगी। वैसे राज्य चाहें तो अपने स्तर पर कोई सिस्टम अपना सकते हैं। मालूम हो कि पिछले चार साल से सीबीएसई बारहवीं 40 प्रतिशत प्राप्तांक जेईई मेन्स के लिए जोड़ता रहा है।

आगे के कार्यक्रम
ऑफलाइन परीक्षा-8 अप्रेल : ऑनलाइन परीक्षा- 15 और 16 अप्रेल

वेबसाइट पर प्रवेश पत्र : मार्च के द्वितीय सप्ताह में
वेबसाइट पर उत्तर कुंजी : 24 से 27 अप्रेल

परिणाम की घोषणा : 30 अप्रेल
ऑल इंडिया रैंक की घोषणा : 31 मई

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned