बिजली की तरह थिरकीं तबले पर अंगुलियां, श्रोताओं के मुंह से निकला वाह उस्ताद

कभी मध्यम तो कभी तेज थाप, हारमोनियम की धुन पर संगत का सम्मिश्रण देखने को मिला।

By: raktim tiwari

Published: 10 Nov 2017, 09:14 AM IST

एस. एम. लोढ़ा फाउंडेशन की ओर से मेयो कॉलेज गल्र्स स्कूल में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। उस्ताद रिम्पा शिवा की अंगुलियां तबले पर थिरकीं तो सुनने वाले मंत्रमुग्ध हो गए। उन्होंने तालियां बजाकर हौसला अफजाई की। सबके मुंह से वाह उस्ताद..निकला तो रिम्पा ने हाथ जोड़कर अभिवादन किया।

रिम्पा शिवा ने तबले पर प्राचीन भारतीय शास्त्रीय कला को बखूबी प्रस्तुत किया। तबले पर उनकी अंगुलियां किसी इलेक्ट्रॉनिक यंत्र की तरह दौड़ती नजर आई। कभी मध्यम तो कभी तेज थाप, हारमोनियम की धुन पर संगत का सम्मिश्रण देखने को मिला।

इस दौरान लोढ़ा फाउंडेशन की संयोजक पुष्पा लोढ़ा और मेयो कॉलेज गल्र्स स्कूल की प्राचार्य कंचन खांडके ने स्वागत किया। समारोह में मेयो कॉलेज के निदेशक लेफ्टिनेंट जनरल एस. एच. कुलकर्णी सहित जर्मनी के विद्यार्थी और मेयो कॉलेज की छात्राएं- शिक्षक मौजूद रहे।

कला प्रेमी थे संपतमल लोढ़ा :

मेवाड़ टेक्सटाइल मिल के निदेशक और सौभागमल लोढ़ा के पुत्र संपतमल कला प्रेमी थे। उन्होंने भीलवाड़ा में 1939 में पहली कपड़ा मिल स्थापित की थी। अजमेर के प्रसिद्ध लोढ़ा परिवार से ताल्लुक रखने वाले संपतमल तत्कालीन ब्रिटिशराज में रेलवे के बैंकर भी रहे। उन्होंने राजस्थान टेक्सटाइल मिल्स एसोसिएशन के चेयरमैन के रूप में कामकाज किया। वे सामाजिक कार्यकर्ता, कला प्रेमी और उद्यमी भी थे।

शहर में लोढ़ा ने धर्मशाला, स्कूल और कई भवनों का निर्माण कराया। वे मेयो कॉलेज में पढऩे वाले गैर राजघरानों के पहले विद्यार्थी भी रहे। मालूम हो कि सम्पतमल लोढ़ा की पुत्री स्मृति मेहता, नम्रता चौकसी, प्रगति जैन, तृप्ति जैन और प्रेरणा सेठिया मिलकर 11 साल से देश भर से ख्यातनाम कलाकारों को बुलाकर शहरवासियों को सांस्कृतिक विरासत से रूबरू करा रही हैं।

आ चुके हैं कई कलाकार

लोढ़ा फाउन्डेशन के तत्वावधान में कई कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन कर चुके हैं। इनमें गीता चंद्रन, रिम्पा शिवा और अन्य शामिल हैं। इनके अलावा प्रसिद्ध नाटक कंगारू कोर्ट का मंचन भी हुआ है। यह नाटक इलेक्ट्रिॉनिक मीडिया की कारगुजारियों, बड़े बिजनेस हाउस से डील और अन्य घटनाओं पर आधारित है। दर्शकों ने नाटक को काफी पसंद भी किया है।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned