आप भी चौंक जाएंगे जानकर, कई बार झगड़े करा चुका है कॉलेज का यह गेट

आप भी चौंक जाएंगे जानकर, कई बार झगड़े करा चुका है कॉलेज का यह गेट

raktim tiwari | Publish: Aug, 12 2018 09:27:00 AM (IST) Ajmer, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

अजमेर

पार्र्किंग शुल्क वसूली पर सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालय में फिर विवाद हो गया। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्र और ठेकाकर्मी आमने-सामने हो गए। छात्रों ने चेताया कि जबरन वसूली बंद नहीं हुई तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के महानगर मंत्री मेहुल गर्ग और अन्य ने बताया कि कॉलेज में विद्यार्थियों से जबरन पार्र्किंग शुल्क वसूला जा रहा है। पचास रुपए पार्र्किंग शुल्क लेने के बावजूद यह स्थिति है। नियमित विद्यार्थियों के पास परिचय पत्र, फीस रसीद होने के बाद भी ठेकेदार के जबरन शुल्क वसूली कर रहे हैं। इससे छात्र-छात्राएं परेशान हैं। कई बार ठेकाकर्मी बदसलूकी भी करते हैं। कॉलेज प्रशासन ने जबरन शुल्क वसूली बंद नहीं की तो आंदोलन किया जाएगा।

जुलाई में भी हुआ था विवाद

जबरन पार्र्किंग शुल्क वसूली, कुछ शिक्षकों के कथित अपशब्द और मारपीट, बिना परिचय पत्र और फीस रसीद के परिसर में नहीं घुसने को लेकर बीती जुलाई में विवाद हुआ था। एनएसयूआई और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों ने 16 जुलाई को कॉलेज में जबरदस्त प्रदर्शन किया था। उग्र छात्रों पर पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया। इससे कॉलेज में कुछ दिन माहौल तनावपूर्ण भी रहा था।

किया ठेकेदार को पाबंद

विवाद को देखते हुए कॉलेज प्राचार्य डॉ. स्नेह सक्सेना ने तत्काल प्रोक्टर बोर्ड की बैठक बुलाई। उन्होंने बताया कि ठेकेदार को नियमित विद्यार्थियों से शुल्क नहीं लेने, रसीद-आईकार्ड होने पर किसी को नहीं रोकने के लिए पाबंद किया गया है। इसके अलावा छात्राओं का प्रवेश सेंट एन्सलम्स स्कूल के निकट प्रवेश द्वार और छात्रों का प्रवेश ब्यावर रोड द्वार से निर्धारित किया गया है।


तबीयत बिगड़ी तो अस्पताल में चढ़वाई ड्रिप

राजस्थान लोक सेवा आयोग की वरिष्ठ अध्यापक भर्ती परीक्षा-2016 के चयनित अभ्यर्थियों का आंदोलन जारी है। सुबह अभ्यर्थियों ने मानव श्रंखला बनाई। कुछ अभ्यार्थियों की तबियत खराब होने पर मेडिकल टीम ने मौके पर पहुंचकर जांच की। करीब 8 अभ्यर्थियों को अस्पताल पहुंचाया गया। वहां वे ड्रिप चढ़वाकर वापस अनशन पर बैठ गए।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned