अस्पताल से फरार आरोपी स्टेशन पर पकड़ा

टॉयलेट से जुड़े स्टोर रूम से निकल भागा था आम्र्स एक्ट का आरोपी, सिपाही बाहर करता रहा इंतजार

By: manish Singh

Published: 10 Sep 2021, 02:27 AM IST

अजमेर. जवाहरलाल नेहरू अस्पताल के कोविड सस्पेक्ट वार्ड से बुधवार शाम आम्र्स एक्ट में गिरफ्तार आरोपी शौचालय से लगते स्टोर की दीवार फांदकर फरार हो गया। आरोपी को क्लॉक टावर थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया था। जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए थे। पुलिस ने उसको कोविड जांच के बाद कोविड सस्पेक्ट वार्ड में भर्ती कराया था। वारदात के तीन घंटे बाद ही आरोपी को जीआरपी ने रेलवे स्टेशन से दबोच लिया। हालांकि मामले में किसी ने रिपोर्ट नहीं दी।
आम्र्स एक्ट का है आरोपी

बुधवार शाम साढ़े 4 बजे जेएलएन अस्पताल के कोविड सस्पेक्ट वार्ड में क्लॉक टावर थाने से आम्र्स एक्ट में पकड़े गए आरोपी गेगल लाडपुरा निवासी शिवराज वार्ड में तैनात सुरक्षाकर्मी को गच्चा देकर भाग निकला। सिपाही दलबीर सिंह आरोपी शिवराज को लघुशंका के लिए वार्ड के बाहर स्थित टॉयलेट में लेकर गया था। शिवराज टॉयलेट में चला गया जबकि सिपाही दलबीर सिंह बाहर इंतजार करता रहा।
स्टोररूम से निकल भागा

शिवराज टॉयलेट से लगते हुए आपातकालीन इकाई के स्टोर रूम के टॉयलेट में उतर गया। इसी दरम्यिान स्टोर रूम का दरवाजा खुला तो शिवराज उसे धक्का देकर भाग निकला। स्टोर से निकलकर भाग रहे शिवराज पर दलबीर सिंह की नजर पड़ गई। उसने पीछा किया लेकिन आरोपी मोर्चरी के पास की दीवार फांद बाहर निकल गया। सिपाही ने मौके पर मौजूद लोगों की मदद से घेराबंदी कर पकडऩे का प्रयास किया लेकिन शिवराज हाथ नहीं आया। सुरक्षाकर्मियों ने कोतवाली थाना, पुलिस कन्ट्रोल रूम व आलाधिकारी को घटना की सूचना दे दी। पुलिस ने शहर में नाकाबंदी कर तलाश शुरू कर दी।
अजमेर-दादर एक्सप्रेस से दबोचा

जीआरपी के सिपाही सुमेरसिंह, मानसिंह ने सतर्कता दिखाते हुए अजमेर-दादर एक्सप्रेस में नजर आए संदिग्ध को दबोचा। पड़ताल में लाडपुरा निवासी शिवराज पुत्र लक्ष्मणसिंह रावत को पुलिस की चालानी गार्ड के सुपुर्द कर दिया। हालांकि देर रात तक मामले में सदर कोतवाली थाने में किसी ने रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाई।

डेढ़ घंटे पहले आया वार्ड में
सिपाही दलबीर सिंह ने बताया कि शिवराज को दोपहर साढ़े 3 बजे कोविड टेस्ट कराने के बाद क्लॉक टावर थाना पुलिस ने वार्ड में पहुंचाया। शाम सवा 4 बजे शिफ्ट बदलने के बाद आरोपी ने खाना खाने और उससे पहले लघुशंका करने की इच्छा जाहिर की। इससे पहले आरोपी के हाथ में हथकड़ी लगी थी। वह उसे टॉयलेट के लिए लेकर गया तो आरोपी दीवार फांदकर निकल गया।

वार्ड की सुरक्षा में सेंध

आरोपी शिवराज के फरार होने की घटना ने अस्पताल में बनाए गए कोविड सस्पेक्ट वार्ड की सुरक्षा पर सवालिया निशान लगा दिया है। अपराधियों को वार्ड में सामान्य मरीजों के साथ रखा जाता है। बुधवार को वारदात के वक्त सिपाही दलबीरसिंह के साथ सिपाही महेन्द्र सिंह, रामचरण, महिला कांस्टेबल कृष्णा व कविता तैनात थी।

इनका कहना है...
मामले में फिलहाल कोई रिपोर्ट नहीं मिली है। नियमानुसार कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

शमशेर खां, थानाप्रभारी कोतवाली

manish Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned