डकैत ने सेवर जेल में फोन पर तैयार की थी योजना

बंदी डकैत को छुड़ाने के लिए फायरिंग व मिर्च पाउडर फेंकने का मामला, फरार आरोपियों को पकडऩे के लिए पुलिस की दबिश धौलपुर में न्यायालय पेशी के बाद लौटने के दौरान बंदी डकैत को छुड़ाने के प्रयास के मामले में पुलिस ने पड़ताल शुरू कर दी है। दबोचे गए युवक ने पूछताछ में कई खुलासे किए हैं। इसमें पता चला है कि २ मार्च को सेवर जेल से बंदी डकैत ने मोबाइल फोन के जरिए अपने साथियों से बात कर फरार होने की योजना तैयार की थी। पुलिस ने वारदात में शामिल अन्य आरोपियों की भी पहचान कर ली है, जिन्हें पकडऩे के लिए पुलिस

By: Dilip

Published: 04 Mar 2021, 11:51 PM IST

धौलपुर.धौलपुर में न्यायालय पेशी के बाद लौटने के दौरान बंदी डकैत को छुड़ाने के प्रयास के मामले में पुलिस ने पड़ताल शुरू कर दी है। दबोचे गए युवक ने पूछताछ में कई खुलासे किए हैं। इसमें पता चला है कि २ मार्च को सेवर जेल से बंदी डकैत ने मोबाइल फोन के जरिए अपने साथियों से बात कर फरार होने की योजना तैयार की थी। पुलिस ने वारदात में शामिल अन्य आरोपियों की भी पहचान कर ली है, जिन्हें पकडऩे के लिए पुलिस ने तलाश शुरू कर दी है।

जिला पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत ने बताया कि कोतवाली थाना इलाके के गांव देवपुरा मारौली निवासी कुख्यात बदमाश धर्मेन्द्र उर्फ लुक्का पुत्र विजय सिंह को बुधवार भरतपुर पुलिस के हैड कांस्टेबल राजेन्द्र सिंह व तीन कांस्टेबलों की टीम पेशी के लिए राजस्थान रोडवेज की बस से लेकर धौलपुर न्यायालय लाई थी।
बंदी डकैत की पेशी होने के बाद जब चालानी गार्ड का दल बंदी डकैत को लेकर रोडवेज बस से धौलपुर से भरतपुर के लिए रवाना हुए।

इस दौरान रास्ते में गांव जाकी के समीप बस के रूकने पर हथियारबंद पांच जने बस में चढ़ गए। बस के कुछ दूरी पर चलने के बाद पार्वती नदी के पहुंचने पर बदमाशों ने बंदी डकैत धर्मेन्द्र उर्फ लुक्का को छुड़ाने का प्रयास करते हुए चालानी गार्ड की आंखों में मिर्च पाउडर उड़ेल दिया, अन्य ने बस में मिर्च पाउडर उड़ाना और फायरिंग करना शुरू कर दिया, जिससे बस के शीशे भी टूट गए।
इस दौरान भरतपुर आरएसी छठी बटालियन के जवान कुमर सिंह ने फरार होने का प्रयास कर रहे बंदी धर्मेन्द्र उर्फ लुक्का को बस के आगे के बोनट पर दबोच लिया। मौका पाकर पार्वती नदी के पुल से कूदकर फरार हो गए। जानकारी मिलने पर जिला पुलिस की टीमों ने हमलावरों को पकडऩे के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया। इस दौरान पुलिस एक हमलावरों को दबोच लिया।

जेल में बैठे बंदी डकैत लुक्का ने रची थी योजना
एसपी शेखावत ने बताया कि बंदी डकैत लुक्का को छुड़ाने के प्रयास में पकड़ गया बदमाश मध्य प्रदेश के मुरैना जिले के थाना सरायछोला थाने के गांव चिलौंद निवासी योगी उर्फ संदीप पुत्र राजवीर सिंह है। गिरफ्तार आरोपी से पूछताछ सामने आया है कि गत २ मार्च को सेवर जेल से धर्मेन्द्र उर्फ लुक्का का फोन आया था।

इस दौरान लुक्का ने फरार होने के लिए योजना तैयार करते हुए बताया कि वह बुधवार को पेशी के लिए धौलपुर आएंगा और यहां से लौटने के दौरान चालानी गार्ड पर हमला कर छुड़ा ले जाना। इस वारदात में योगी उर्फ संदीप के साथ गिर्राज, आशु, नरेश व एक अन्य का भी नाम सामने आया है। इसके बाद पुलिस ने बुधवार देर रात तक सेवर जेल में तलाशी अभियान चलाया, यहां से पुलिस ने बंदियों से छह मोबाइल बरामद किए, जिसमें एक मोबाइल डकैत धर्मेन्द्र उर्फ लुक्का का होना सामने आया है।
लुक्का से गहरा दोस्तना

गिरफ्तार आरोपी से पूछताछ में बताया है कि वह और धर्मेद्र उर्फ लुक्का का गहरा दोस्त है। पहले भी कई अपराधिक वारदातों में वह लुक्का के साथ रहा है। जबकि फरार चल रहे अन्य साथी भी लुक्का के दोस्त है। ये सभी मिलकर अपराधिक गतिविधियों को अंजाम देते हैं।

पांच हजार का इनामी है

एसपी शेखावत ने बताया कि मामले में गिरफ्तार योगी उर्फ संदीप पर धौलपुर पुलिस की ओर से पांच हजार रूपए का इनाम घोषित किया गया है। गत २४ जनवरी को आरोपी ने अपने साथियों के साथ मिलकर शहर के निहालगंज थाना इलाके में ज्वैलर से लूट की वारदात में अपने साथियों के साथ मिलकर अंजाम दिया था। इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर लिया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned