करंट बना काल : नवनिवाहिता का सुहाग उजड़ा, तो बुजुर्ग माता-पिता से छिन गई बुढ़ापे की लाठी

विद्युत लाइन पर रखरखाव कार्य के दौरान हादसा, कार्मिक को बचाने के प्रयास में ठेकेदार भी झुलसा, सात बहनों का इकलौता भाई था मृतक युवक

By: dinesh sharma

Updated: 03 Feb 2021, 02:41 AM IST

ओमप्रकाश चौधरी

पीसांगन ( अजमेर ).

हाथों से अभी मेहंदी का रंग भी नहीं उतरा था कि हमसफर हमेशा-हमेशा के लिए साथ छोड़ गया। बैरी क्रूर काल ने हंसती-खिलखिलाती जिंदगी को ऐसा जख्म दिया जो जिंदगीभर नहीं भरेगा। जिसके साथ सुख-दुख में साथ निभाने की कसमें खाई और साथ फेरे लेकर नई जिंदगी की शुरूआत की उसका यूं मंझधार में अलविदा कह जाना किसी वज्रपात से कम नहीं।

नियति ने कुछ ऐसा ही खेल खेला है ब्यावर निवासी अन्नू के साथ। शादी को अभी पूरे दो महीने भी नहीं हुए कि पति चेनाराम एक हादसे का शिकार हो गया। काल बनकर आए करंट ने इस परिवार की खुशियां ही छीन लीं।

हादसे में जहां अन्नू का हमसफर उससे छीन लिया तो बुजुर्ग मां-बाप की बुढ़ापे की लाठी भी उनसे छिन गई। इतना ही नहीं क्रूर काल ने 7 बहनों के इकलौते भाई को उनसे हमेशा-हमेशा के लिए जुदा कर दिया। पीसांगन क्षेत्र में मंगलवार को करंट की चपेट में आए चेनाराम की शादी 10 दिसम्बर को ब्यावर निवासी अन्नू देवी के साथ हुई थी।

हादसे के कुछ देर पहले ही वह पत्नी को ससुराल से लाकर अपने घर पाली जिले के कुड़की ग्राम में छोड़कर आया था। वो घर पर कहकर आया था कि थोड़ा सा रखरखाव का कार्य कर जल्द आ रहा हूं। पर नियति को तो कुछ और ही मंजूर था। घर आई तो उसकी मौत की खबर...।

ट्रांसफार्मर लगाने के दौरान करंट से मौत

गोविंदगढ़ सरहद में ट्रांसफार्मर लगाने के दौरान मंगलवार शाम करंट की चपेट में आने से ठेकेदार के कार्मिक पाली जिले के कुड़की ग्राम निवासी चेनाराम साहू की मौत हो गई।

उसे बचाने के प्रयास में ठेकेदार जयपुर जिले के फागी तहसील अंतर्गत रोटवाड़ा ग्राम निवासी दिलीप सिंह भी बुरी तरह झुलस गया। उसे प्राथमिक उपचार के बाद अजमेर रेफर कर दिया गया, वहीं चेनाराम का शव मोर्चरी में रखवाया गया है, जहां बुधवार को पोस्टमार्टम कराया जाएगा।

पीसांगन थानाधिकारी प्रीति रत्नू ने बताया कि कस्बे के गोविंदगढ़ बांध स्थित रेबारियों की ढाणी से लगती गोविंदगढ़ सरहद में 11 हजार केवी हाइटेंशन लाइन से जुड़े ट्रांसफार्मर पर रखरखाव का कार्य चल रहा था।

यहां ठेकेदार दिलीप सिंह कार्मिकों के साथ कृषि कनेक्शन के लिए दो ट्रांफार्मर लगाने गए थे। पगारा में काम पूरा कर वे रेबारियों की ढाणी पर पहुंचे।

नहीं समझ पाए कहां से आ रही है लाइन

ठेकेदार दिलीप की सूचना पर फीडर इंचार्ज अरमान ने पगारा फीडर का शटडाउन दिया था। पगारा फीडर पर लाइन पीसांगन जीएसएस से आ रही थी, जबकि पास ही करीब 20 दिन पूर्व खींची गई अखेरा 11 फीडर की लाइन गुजर रही थी। यह गोविंदगढ़ जीएसएस से जुड़ी हुई थी। हादसा इसी लाइन पर हुआ। ठेकेदार व कर्मचारी यह समझ नहीं पाए कि यह लाइन पगारा फीडर की नहीं होकर गोविंदगढ़ जीएसएस से जुड़ी है।

चेन डालते ही लगा करंट

चेनाराम ने जैसे ही 11 केवी अखेरा जीएसएस की लाइन को लोहे की चेन के जरिए अर्थ करना चाहा वैसे ही वह करंट की चपेट में आ गया। जमीन गीली होने से करंट से मौके पर ही उसकी मौत हो गई। ठेकेदार व अन्य ने उसे फस्र्टएड देने का प्रयास किया, लेकिन यह काम नहीं आया।

पांच मिनट बाद दिलीप प्लास्टिक का पाइप लेकर विद्युत लाइन से लोहे की चेन हटाने पहुंचा। पाइप गीला होने से उसका हाथ करंट से जख्मी हो गया। हादसे के बाद मौके पर पहुंचे आस-पास के लोगों व विद्युतकर्मियों ने दोनों को अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने चेनाराम को मृत घोषित कर दिया। ठेकेदार दिलीप सिंह को प्राथमिक उपचार के बाद अजमेर रेफर कर दिया।

परिजन व ग्रामीणों में रोष

हादसे की सूचना पर परिजन व कई ग्रामीण अस्पताल पहुंचे। विद्युत निगम व ठेकेदार पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए मृतक के परिजन को मुआवजा दिलाने और दोषियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही की मांग पर रोष जताया।

थानाधिकारी प्रीति रत्नू ने तेलीवाड़ा मौहल्ला निवासी मृतक के मामा कैलाश चंद साहू की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

एईएन, जेईएन नहीं पहुंचे मौके पर

ठेकाकर्मी की मौत और एक के झुलस जाने की घटना के बाद भी पीसांगन सब डिवीजन के एईएन दुर्गालाल देवत, जेईएन सुधीर पाठक और लाइनमैन मौके पर नहीं पहुंचे। वे कार्यालय में ही बैठे रहे। कार्य के दौरान भी लाइनमैन मौके पर नहीं था।

यहां तक कि हादसे के चार घंटे के बाद भी इसकी जानकारी एक्सईएन दिनेश सिंह व एसई शीशराम वर्मा को नहीं थी। मामला एमडी वी.एस.भाटी की जानकारी में आने के बाद उन्होंने एसई वर्मा को अस्पताल भेजा। एमडी ने घटना की जांच के निर्देश दिए हैं।

Show More
dinesh sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned