पत्थर इकाइयों के मलबे ने की सड़कों की हालात खस्ता

क्षेत्र में स्थापित पत्थर उद्योग में लगी पत्थर इकाइयों के अपशिष्ट मलबे ने कस्बे सहित आसपास के इलाकों तक पहुंचने वाली सड़कों की सूरत बिगाड़ कर रख दी है। इन इकाइयों से निकलने वाले मलबे को ट्रैक्टर ट्रॉलियों से सड़कों के किनारे डाल दिया जाता है, जिससे कई जगह तो यह सड़कों पर ही फैलने लगा है। सड़कों की हालत खस्ता कर दी है।

By: Dilip

Updated: 26 Dec 2020, 11:18 PM IST

सरमथुरा. क्षेत्र में स्थापित पत्थर उद्योग में लगी पत्थर इकाइयों के अपशिष्ट मलबे ने कस्बे सहित आसपास के इलाकों तक पहुंचने वाली सड़कों की सूरत बिगाड़ कर रख दी है। इन इकाइयों से निकलने वाले मलबे को ट्रैक्टर ट्रॉलियों से सड़कों के किनारे डाल दिया जाता है, जिससे कई जगह तो यह सड़कों पर ही फैलने लगा है। सड़कों की हालत खस्ता कर दी है। लोगों के दुर्घटनाओं का कारण बन रहा है।

जानकारी के अनुसार इकाइयों पर भारी मात्रा में पत्थर की कटिंग होती है। इसमें निकलने वाली टुकडिय़ा व महीन रेत (लेपा) इकाई मालिक ट्रैक्टर ट्रॉलियों से फिंकवाते हैं, लेकिन इन ट्रैक्टरों के मालिक दूर जगह पर ना जाकर सड़कों के किनारे ही डाल जाते हैं। जिससे सड़कें लबालब हो गई है।

कस्बे की सोने का गुर्जा रोड, हाल ही बने एनएच 11बी पर बने बाइपास व नदियों किनारे पर इस मलबे को भारी मात्रा में देखा जा सकता है। ऐसा नहीं है कि प्रशासन कार्यवाही नहीं करता हो, लेकिन ट्रैक्टर मालिक चुपचाप अंधेरे का फायदा उठाकर रात्रि में सड़कों के किनारे मलबे को डाल जाते हैं, जो दुर्घटनाओं का कारण बन रहे हैं।नदियों के भराव पर प्रतिकूल असरमलबे में निकला लेपा, पत्थर की कटिंग की छोटी-छोटी टुकडिय़ां बरसात के पानी में बह कर प्राय: निचले इलाकों में चली जाती है। वहां से पानी के बहाव के साथ ही विभिन्न नदियों, तालाबों में पहुंच जाती हैं। जिससे दिन प्रतिदिन इन नदी तालाबो की भराव क्षमता पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। गर्मियों के दिनों में यह सूख जाते हैं।
जगह निश्चित नहीं

क्षेत्र में बहुतायत से होने वाले उद्योग से निकलने वाले इस मलबे को फेंकने के लिए प्रशासन द्वारा कोई जगह निश्चित नहीं की गई है। जिससे ट्रैक्टर मालिक इकाइयों से तो पूरा पैसा वसूल करते हैं, लेकिन जगह निश्चित ना होने के कारण इधर उधर फैककर अपना मुनाफा कमाते हैं। सड़कों के किनारे डाली जाने वाले इस मलबे के कारण आए दिन वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं। कई कई जगह पर तो यह मलबा रोड पर भी फैलने लगा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned