कोरोना के खिलाफ जंग : दरगाह और ब्रह्मा मंदिर में आज से श्रद्धालुओं का प्रवेश बंद,प्रबंधकों पर पाबंदी नहीं

प्रदेश में कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए जिला प्रशासन को निर्णय,अजमेर में ख्वाजा साहब की दरगाह और पुष्कर स्थित ब्रह्मा मंदिर में 16 अप्रेल से श्रद्धालुओं का प्रवेश रहेगा बंद

By: suresh bharti

Updated: 15 Apr 2021, 10:59 PM IST

ajmer अजमेर. कोरोना से मुकाबले के लिए राज्य सरकार की ओर से जारी नई गाइडलाइन के तहत शुक्रवार से सूफ ी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह और पुष्कर स्थित ब्रह्मा मंदिर में आम जायरीन का प्रवेश बंद रहेगा। दरगाह में केवल इबादत एवं प्रबंधन से जुड़े लोगों को ही प्रवेश मिलेगा। इसी तरह पुष्कर के ब्रह्मा मंदिर सहित प्रमुख मंदिरों के कपाट आम श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेंगे। केवल पुजारी रोजमर्रा के तरह मंदिरों में पूजा अर्चना कर सकेंगे। मंदिर प्रबंधन सुविधानुसार दर्शनार्थियों के लिए ऑन लाइनदर्शन की व्यवस्था कर सकेंगे।

कोरोना गाइड लाइन की पालना में गुरूवार को उपखंड अधिकारी दिलीप सिंह राठौड़ ने मंदिर संचालकों, पुरोहितों सहित अन्य प्रतिनिधियों की बैठक करके इस आदेश की पालना सुनिश्चित करने से अवगत करा दिया है।

16 अप्रेल से कपाट बंद

अधिकारी राठौड़ ने बताया कि कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर जारी गाइड लाइन के अनुसार 16 अप्रेल से पुष्कर के प्रमुख ब्रह्मा मंदिर सहित अन्य मंदिरों में श्रद्धालुओं के लिए कपाट बंद कर दिए जाएंगे। मंदिर के पुजारी पूर्व की भांति देवी देवताओं की पूजा अर्चना सहित सारे धार्मिक कार्य करेंगे लेकिन पुष्कर में आने वाले श्रद्धालुओं का मंदिर में प्रवेश वर्जित कर दिया गया है।

राठौड़ ने बताया कि मंदिर प्रबंधन अपनी सुविधा अनुसार पूजा आरती व दर्शन की मंदिर के बाहर लाइव दर्शन की व्यवस्था कर सकेंगे। देवनगर रोड स्थित चित्रकू  टधाम के महंत संत पाठक ने बताया कि गाइड लाइन की पालना में शिव मंदिर पूरी तरह से बंद रहेगा।

तफरी करने पर होगी सख्ती

एसडीएम राठौड़ ने बताया कि रात को छह बजे से प्रात: पांच बजे तक ग्यारह घंटे तक कस्बे में कफ्र्यू रहेगा। इस दौरान इमरजेन्सी सेवाएं बाधित नहीं होगी। लेकिन कफ्र्यू के दौरान अकारण तफरी करने वालों पर सख्ती बरती जाएगी।

गाइडलाइन की पालना संबंधी बैठक

गाइडलाइन की पालना में गुरूवार को प्रशासन ने कस्बे की तीन दुकाने सीज की तथा बिना मास्क घूूमने वालों के चालान काटकर जुर्माना वसूल किया। अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर गजेन्द्र सिंह राठौड़ ने गुरुवार को धार्मिक स्थलों के लिए जारी गाइडलाइन की पालना संबंधी बैठक ली। बैठक में ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह में गाइडलाइन की पालना को लेकर चर्चा की गई।

राठौड़ ने प्रतिनिधियों को बताया कि दरगाह में खिदमत एवं प्रबंधन से जुड़े व्यक्तियों को ही प्रवेश मिलेगा। दरगाह कमेटी एवं अंजुमन से जुड़े प्रतिनिधियों ने बैठक में कहा कि सरकार के निर्देशों की अक्षरश: पालना करवाई जाएगी। प्रवेश से जुड़ी विभिन्न औपचारिकताओं के लिए दरगाह कमेटी को अधिकृत किया गया है। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर, पुलिस उप अधीक्षक एवं अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned