scriptThe number of Omicron patients increased to three in the district | जिले में तीन हुई ओमिक्रॉन मरीजों की संख्या, फिर भी लोगों को नहीं चिंता | Patrika News

जिले में तीन हुई ओमिक्रॉन मरीजों की संख्या, फिर भी लोगों को नहीं चिंता

जिले में आए छह नए मरीज, कलकत्ता तथा आगरा से आए व्यक्ति निकले ओमिक्रॉन से संक्रमित

ओमिक्रॉन से पीडि़त सीएमएचओ व उनकी पत्नी की रिपोर्ट आई नेगेटिव

जिले में कोरोना के फैलाव के बीच कोरोना के नए वेरियंट ओमिक्रॉन का दायरा भी बढता जा रहा है। जिले में पहले मरीज मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के ओमिक्रॉन से पीडि़त होने के बाद नेगेटिव हो गए हैं, लेकिन दूसरे दिन ही जिले में दो व्यक्ति ओमिक्रॉन संक्रमण से पीडि़त मिले हंै। इ

 

अजमेर

Updated: January 11, 2022 01:47:09 am

धौलपुर. जिले में कोरोना के फैलाव के बीच कोरोना के नए वेरियंट ओमिक्रॉन का दायरा भी बढता जा रहा है। जिले में पहले मरीज मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के ओमिक्रॉन से पीडि़त होने के बाद नेगेटिव हो गए हैं, लेकिन दूसरे दिन ही जिले में दो व्यक्ति ओमिक्रॉन संक्रमण से पीडि़त मिले हंै। इससे चिकित्सा विभाग में हड़कम्प मचा हुआ है। दोनों ही मरीज दूसरे प्रदेशों से अपने घर आए थे। इनमें से पचगांव निवासी युवक आगरा से तो बाड़ी ग्रामीण क्षेत्र के सनोरा गांव निवासी व्यक्ति कलकत्ता से लौटा था। दोनों ने लक्षण दिखाई देने पर चिकित्सालय में सैम्पल कराया था। इस पर एक जनवरी को आई रिपोर्ट में दोनों ही व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव आए थे। इसके बाद चिकित्सा विभाग ने दोनों के सैम्पल पुणे स्थित लैब में जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे थे, जिनकी रिपोर्ट दस दिन बाद आई है। दोनों व्यक्तियों को ओमिक्रॉन वेरियंट की पुष्टि हुई है।
जिले में तीन हुई ओमिक्रॉन मरीजों की संख्या, फिर भी लोगों को नहीं चिंता
जिले में तीन हुई ओमिक्रॉन मरीजों की संख्या, फिर भी लोगों को नहीं चिंता
वहीं जिले में छह नए कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। इनमें चार धौलपुर शहर तथा दो सरमथुरा निवासी है। इसके चलते जिले में तीसरी लहर के बीच कुल ६७ मरीज सामने आ चुके हैं।
बिना मास्क घूम रहे लोग
जिले में भले ही कोरोना का फैलाव लगातार बढ़ता जा रहा है। साथ ही कोरोना के नए वेरियंट ओमिक्रॉन के मामले भी बढऩे लगे हों, लेकिन लोग चिंता नहीं कर रहे हैं। इससे प्रशासन तथा चिकित्सा विभाग भी चिंतित हैं। लोग बाजारों में न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं और ना ही मास्क लगा रहे हैं। ऐसे में कोरोना के मामले बढऩे की आशंका बनी हुई है। दूसरी ओर जिला प्रशासन व चिकित्सा विभाग लगातार लोगों को जागरूक कर रहा है, लेकिन लोगों पर इसका असर दिखाई नहीं पड़ रहा है। ऐसे में प्रशासन भी सख्ती के मूड में दिखाई दे रहा है।
आगरा नहीं बन जाए जिले के लिए नासूर
जिले से सटते उत्तरप्रदेश के आगरा की सीमा में निरंतर लोगों का आवागमन जिले के लिए कोरोना के प्रति नासूर बन सकता है। पूर्व में भी सामने आए अधिकांश मरीज आगरा से लौटे थे। वहीं इस बार भी अधिकांश मरीज आगरा से लौटने वाले आ रहे है। ओमिक्रॉन वायरस से संक्रमित हुआ व्यक्ति भी आगरा से ही लौटा था। उल्लेखनीय है कि जिले के लोगों का रिश्तेदारी तथा व्यापार के कारण आगरा जिले में निरंतर आवागमन बना रहता है। वहीं इन दिनों शादियों का सीजन होने के कारण लोग अधिकांश खरीदारी आगरा से ही कर रहे है। ऐसे में आगरा-धौलपुर के बीच लगातार आवागमन जिले के लिए घातक साबित हो सकता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.