अजमेर में ख्वाजा की दरगाह पर उमड़ा जायरीन का सैलाब,मखमली चादर और गुलदस्ता चढ़ाने में आई तेजी

सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती का ८०९वां उर्स : अकीदतमंद चादर और फूल लेकर दिन-रात दरगाह में हाजिरी देने पहुंच रहे हैं। इससे दरगाह क्षेत्र में उर्स की रौनक बनी हुई है। वहीं नेताआें की ओर से भी चादरें भेजे जाने का सिलसिला तेज हो गया है।

By: suresh bharti

Published: 17 Feb 2021, 01:53 AM IST

ajmer अजमेर. सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के ८०९वें उर्स में शिरकत करने के लिए जायरीन की आवक हर रोज बढ़ रही है। अकीदतमंद चादर और फूल लेकर दिन-रात दरगाह में हाजिरी देने पहुंच रहे हैं। इससे दरगाह क्षेत्र में उर्स की रौनक बनी हुई है। वहीं नेताआें की ओर से भी चादरें भेजे जाने का सिलसिला तेज हो गया है।

उधर, कायड़ विश्राम स्थली में भी मंगलवार को बसों की संख्या में बढ़ोतरी हुई। यहां शाम तक ५२ बसें पहुंच चुकी थीं। दरगाह परिसर में भी देर रात तक अकीदतमंद कव्वालियों पर झूमते रहे। दरगाह में मंगलवार को उर्स की चौथी महफिल हुई। मजार शरीफ पर गुस्ल की रस्म अदा की गई।

प्रधानमंत्री की चादर से अन्य को मिली सहुलियत

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की चादर को इस बार खोल कर नहीं ले जाया गया, लेकिन चादर के दरगाह में जाने से अन्य लोगों के लिए रास्ता जरूर खुल गया। कोविड नियमों को देखते अब तक खादिम व नेता सार्वजनिक रूप से चादर चढ़ाने से बचते रहे हैं।

यह बात अलग है कि उर्स के दौरान आम जायरीन को चादर लेकर जाते देखा गया है। हालांकि इनकी संख्या भी कम रही, लेकिन पीएम मोदी की चादर चढऩे के बाद यह तय हो गया कि दरगाह में चादर लेकर जाने पर अब कोई रोक नहीं है।

जिला प्रशासन ने नहीं चढ़ाई चादर

दरअसल, दरगाह में चादर पेश किए जाने को लेकर कोई स्पष्ट दिशा-निर्देश नहीं होने से जिला प्रशासन चादर की इजाजत देने से बचता रहा है। यहां तक कि प्रशासन ने स्वयं भी इस बार उर्स के शुरुआत में चादर नहीं चढ़ाई।

प्रधानमंत्री की चादर मंगलवार को यहां आए केंद्रीय मंत्री नकवी ने दरगाह के निजाम गेट पर चादर को सिर पर रखा। बाद में खादिम को चादर सौंप दी गई। उधर, पाकिस्तान के डिप्टी हाईकमिश्नर भी चादर खुद लेकर नहीं गए। बाद में उन्हें बताया गया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भी चादर चढ़ी है तो उन्होंने खादिम के हुजरे में चादर के सिर्फ हाथ लगाया।

केन्द्रीय मंत्री नकवी पहुंचे

प्रधानमंत्री की चादर लेकर केंद्रीय मंत्री अब्बास नकवी पहुंचे। उनके साथ दरगाह कमेटी सदर अमीन पठान, नायब सदर सैयद बाबर अशरफ सहित दरगाह कमेटी के तमाम सदस्य, नाजि़म अश्फाक़ हुसैन, अंजुमन सदर सैयद मोईन हुसैन, सचिव सैयद वाहीद हुसैन अंगारा, अंजुमन यादगार के अध्यक्ष सदाकत अली चिश्ती, सचिव एहेतशाम चिश्ती, खादिम सैयद अब्दुल बारी चिश्ती, सैयद अफ़शान चिश्ती, दरगाह दीवान के पुत्र सैयद नसीरूद्दीन चिश्ती आदि रहे।
टॉयलेट ब्लॉक का उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की चादर लेकर आए केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने दरगाह के पास सोलहखम्बा में बने टॉयलेट ब्लॉक का उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने दरगाह के पांच नम्बर गेट का भी अवलोकन किया, जिसे हाल ही चौड़ा किया गया है। गरीब नवाज गेस्ट हाउस नकवी ने ११ कमरों का लोकार्पण भी किया।

इस मौके पर नकवी ने कहा कि मैं जब भी आता था तो यह बात जरूर पूछता था कि दरगाह में आने वाले जायरीन के लिए टॉयलेट की क्या व्यवस्था है। इस पर यहां से कुछ समस्याएं बताई गई, लेकिन दरगाह कमेटी, अंजुमन और दरगाह दीवान आदि ने संयुक्त प्रयास किए और समस्याओं को हल करवाया।

राहुल गांधी अपना कोच और कोचिंग बदले : नकवी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के बयानों को लेकर केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलात मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने एक बार फिर हमला बोला है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर लगाए आरोपों पर कहा कि राहुल गांधी को अपना कोच और कोचिंग दोनों बदल लेनी चाहिए। नकवी ने कहा कि राहुल जब सरकार में थे तो रन आउट हुआ करते थे और अब विपक्ष में हैं तो नो-बोल किए जा रहे हैं।

मोदी किसानों के प्रति समर्पित

राहुल गांधी ने हाल ही अपने राजस्थान दौरे में आरोप लगाए कि मोदी देश के40 फीसदी लोगों का कृषि कारोबार अपने दो उद्योगपति मित्रों को देना चाहते हैं। इसके जवाब में नकवी ने कहा कि उनकी बातों के सिर पैर नहीं होते। उनकी गांव, गरीब और किसान के बारे में सकारात्मक सौच हो ही नहीं सकती। मोदी किसानों के प्रति समर्पित थे और रहेंगे। किसानों पर किसी भी तरह का कुठाराघात नहीं होगा। चीन को हमारी जमीन सौंपे जाने के आरोप को लेकर नकवी ने कहा कि एेसी लफ्जबाजी का इलाज हम नहीं कर सकते।

भाजपा में कोई गुटबाजी नहीं

राजस्थान भाजपा में गुटबाजी सामने आने के सवाल पर नकवी ने कहा कि भाजपा कहीं कोई गुटबाजी नहीं है। बीजीपी में सिर्फ एक ही गुट है और वह भाजपा है

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned