scriptThe road built till Diwali again turned into potholes | दिवाली तक बनी सड़कों का एक महीने में ही निकल गया 'दिवालाÓ | Patrika News

दिवाली तक बनी सड़कों का एक महीने में ही निकल गया 'दिवालाÓ

फिर गड्ढों में हुई तब्दील,आमजन का चलना मुश्किल

पीडब्ल्यूडी व जलदाय विभाग की नाकामी से सड़कों में हो रहे गड्ढे

स्मार्ट सिटी की सड़क निर्माण से भी गुणवत्ता नदारद

अजमेर

Published: December 07, 2021 07:41:00 pm

अजमेर. शहर में जोरशोर के साथ दिवाली तक गड्ढा मुक्त सड़क देने के दावों की पोल एक महीने में ही खुल गई है। सड़कें और उनके पेचवर्क का एक माह में ही दिवाला निकाल गया है। दोबारा गड्ढों में हुई तब्दील हुई इन सड़कों पर आमजन का चलना मुश्किल हो रहा है। सड़के गड्ढों के कारण आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं। सड़कों की बदहाली के लिए जितना पीडब्ल्यूडी जिम्मेदार है उतना ही जलदाय विभाग तथा स्मार्ट सिटी के अभियंता भी हैं। इनकी नाकामी और मिलीभगत के कारण शहर की सड़कें गड्ढों में तब्दील होती जा रही हैं।
ajmer
ajmer
सीआरपीएफ ब्रिज से से बस

स्टैंड तकसड़क के बीच में छोटे बड़े 20-30 गड्ढे हैं। करीब डेढ़ किमी इस सड़क पर 10 जगहों पर जलदाय विभाग की पाइप लाइन में लीकेज है इससे जहां लोगो का पीने का पानी नसीब नहीं हो रहा है वही पानी सड़क पर फैल रहा है और सड़क में गड्ढे बढ़ रहे हैं। बस स्टैंड व कोर्ट बीच सड़क का काफी हिस्सा उखड़ गया है। जलसंसाधन विभाग के सामने सड़क पर पाइप लाइन का लीकेज है। संभागीय आयुक्त कार्यालय तथा नवीन कोर्ट बिल्डिग के सामने भी पानी का लीकेज से सड़क बर्बाद हो चुकी है।
यहां पानी के गड्ढे में ढूंढनी पड़ रही है सड़क

जयपुर रोड से बैंक कॉलोनी पुलिस लाइन की ओर जा रही सड़क पानी की लीकेज के कारण बदहाल है। यहां बड़े बड़े गड्ढे में सड़क ढूंढनी पड़ रही है। इस सड़क से गुजरना खतरे से कम नहीं है। अम्बेडकर सर्किल पर सड़क कई जगह धंस चुकी है। कई गड्ढे हो गए हैं। कलक्ट्रेट से सावित्री स्कूल तक सड़क में 10 गड्ढे व पानी लीकेज 6 प्वांइट हैं। सड़क उबड़ खाबड़ है।
एलीवेटेड रोड की सड़कें फिर बदहाल

एलीवेटेड रोड के नीचे बनी सर्विस लेन की सड़कें फिर से बदहाल नजर आ रही हैं। इनमें गड्ढे पड़ चुके हैं। कचहरी रोड, आगरा गेट नगर निगम, स्टेशन रोड का हाल बदहाल है। जयपुर रोड ही बदहाल माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से घूघरा घाटी तक मुख्य सड़क में बड़ी संख्या में गड्ढे हैं। पानी की पाइप लाइन में लीकेज के कारण पानी सड़क पर ही फैल रहा है।
इनका कहना है

जरा सी बंूदाबांदी में ही सड़क बह जाती है। सड़क निर्माण के साथ उसकी गुणत्ता पर ध्यान दिया जाए। ठेकेदार और अधिकारी मिलकर बिल बनाने में लगे हुए हैं। इसकी जांच होनी चाहिए। सड़कों की मरम्मत करवाई जाए।
हितेश बंसतानी

एक तरफ शहरवासी पीने के पानी को तरस रहे हैं वहीं जलदाय विभाग की लापरवाही से अमृत समान जल सड़कों पर फैल रहा है। इससे न केवल जल की बर्बादी हो रही है बल्कि सड़कें भी लगातार टूट रहीं हैं। पानी का लीकेज बंद करवाया जाए।
कृष्ण कुमार टाक

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

संसद में फिर फूटा कोरोना बम, बजट सत्र से पहले सभापति नायडू समेत अब तक 875 कर्मचारी संक्रमितRepublic Day 2022 parade guidelines: बिना टीकाकरण और 15 साल से छोटे बच्चों को परेड में नहीं मिलेगी इजाजतकोरोना ने टीका कंपनियों को लगाई मुनाफे की बूस्टरदेश में कोरोना के बीते 24 घंटे में 3 लाख से ज्यादा नए मामले, जानिए कुल एक्टिव मरीजों की संख्यासुप्रीम कोर्ट में 6000 NGO के FCRA लाइसेंस रद्द करने के खिलाफ याचिका पर सुनवाई आजसुप्रीम कोर्ट के वकीलों को मिला रिकॉर्डेड कॉल, दिल्ली में कश्मीर का झंडा फहराने की धमकीसेल्स एंड टाइल्स व्यापारी के घर GST का छापा, सुबह-सुबह पहुंची टीम, घर, गोदाम और दुकान में खंगाले दस्तावेजमुठभेड़ में ढेर हुआ ईनामी नक्सली कमांडर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.