Get-Safe-Go Campaign : बेशक नुकसान होता. ., सुरक्षा से नहीं समझौता. . .

दुकानदार स्वयं कर रहे और ग्राहकों से करा रहे गाइड लाइन की पालना
गिनती के ग्राहकों को प्रवेश की अनुमति, रोकने पर हो जाते हैं खफा

 

By: himanshu dhawal

Published: 11 Nov 2020, 08:28 PM IST

अजमेर. दीपावली के सीजन के चलते बाजारों में खरीदारों की रेलमपेल है। हर दुकान और शोरूम पर ग्राहकों की भीड़ उमड़ रही है। इसके बीच कुछ शोरूम संचालक कोरोना संक्रमण से स्वयं के बचाव के साथ ग्राहकों की सुरक्षा को सर्वाधिक प्राथमिकता दे रहे हैं। इसके चलते कई बार उनके ग्राहक लौट भी जाते हैं. . .कुछ नाराज भी होते हैं. . . इसके बावजूद वे सुरक्षा में कोई चूक नहीं रखना चाहते। राजस्थान पत्रिका के गेट-सेफ-गो अभियान के तहत शहर के ऐसे ही चुनींदा शोरूम के जाने हालात।

दुकानदार इससे परेशान. . .
- ग्राहक अंदर आते ही मास्क हटाने का प्रयास करते हैं

- ग्राहक को बाहर इंतजार करने को कहने पर कई चले जाते हैं
- एक जने की खरीददारी के लिए आता है पूरा परिवार

- ट्रॉयल और एक्सचेंज को मना करने पर भी नहीं मानते


सबकी सुरक्षा जरूरी, हर चीज होती सेनिटाइज

शहर के इंडिया मोटर चौराहा स्थित तनिष्क ज्वैलरी के शोरूम पर ग्राहकों के साथ स्टाफ की सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जाता है। शोरूम में प्रवेश से पहले ग्राहक को जूते-चप्पल सहित केमिकल युक्त पानी से गुजरना पड़ता है। हैंड सेनिटाइज कराने के बाद तापमान चैक किया जाता है। पर्स और चाबी को भी सेनिटाइज करने की व्यवस्था है। शोरूम के डायरेक्टर अनुज अग्रवाल ने बताया कि ग्राहकों की भीड़ होने पर बाहर बैठने की व्यवस्था कर रखी है। ग्राहक के खरीदारी के बाद उसके द्वारा देखी गई शेष ज्वैलरी को भी सेनिटाइज किया जाता है।

चेन खरीदने आए दिनेश कुमार ने बताया कि मुख्य बाजार स्थित दुकानों पर भीड़ और कोरोना गाइड लाइन की पालना नहीं होने के कारण यहां पर खरीदारी के लिए आए हैं।

शोरूम में 8-10 को ही प्रवेश

वैशाली नगर रोड स्थित शादी-विवाह शोरूम में प्रवेश करते ही हैंड सेनिटाइज के साथ ही तापमान जांचने के इंतजाम हैं। शोरूम में सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए टेबल पर उम्र और साइज के अनुसार कपड़े और अन्य सामान रखे हैं। वहां पर ग्राहक स्वयं पसंद करता है और काउंटर पर भुगतान करता है। डायरेक्टर वरूण जैन ने बताया कि एक फ्लोर पर 8-10 लोगों को ही प्रवेश दिया जाता है, ज्यादा होने पर रोक दिया जाता है। कई ग्राहक वापस लौट जाते हैं। इससे आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़़ता है। परिवार सहित खरीदारी करने आए सुमित गोयल ने बताया कि मुख्य बाजार में भीड़ देखने के बाद यहां आकर सुकून से खरीदारी की है।

himanshu dhawal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned