'वो धमकी देते हैं. . .हम सबक सिखाते हैं. . .!

पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप ने कहा- सामान्य बात है पुलिस को धमकी मिलना, हाई सिक्योरिटी जेल में गैंगस्टर लॉरेंस की बैरक का निरीक्षण किया

By: manish Singh

Published: 26 Dec 2020, 01:38 AM IST

अजमेर. गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई के गुर्गे की ओर से जेल अधीक्षक प्रीति चौधरी को धमकाए जाने के बाद शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप हाई सिक्योरिटी जेल पहुंचे। उन्होंने लॉरेन्स विश्नोई से पूछताछ करते हुए जेल के वार्ड, बैरक की व्यवस्थाएं देखी। हालांकि उन्होंने इस संबंध में कुछ भी बताने से इनकार कर दिया। उनका कहना था कि पुलिस अफसर को धमकी सामान्य घटना है। राजस्थान पुलिस पहले भी कई अपराधियों को सबक सिखा चुकी है। पुलिस को अपराधी से निपटना बखूबी आता है। शुक्रवार मध्याह्न 12 बजे एसपी कुंवर राष्ट्रदीप घूघरा स्थित हाई सिक्योरिटी जेल पहुंचे। उनके साथ जेल अधीक्षक प्रीति चौधरी व सिविल लाइन्स थानाप्रभारी अरविन्दसिंह चारण भी थे।
इंतजाम देखे, नियमानुसार काम के निर्देश

एस.पी. ने जेल की व्यवस्थाओं का जायजा लेने के बाद लॉरेन्स के वार्ड व बैरक को देखा। बंदियों को बैरक में जेल मैन्युअल केअनुसार ही सुविधाएं देने के निर्देश दिए। करीब एक घंटे जांच पड़ताल के बाद लौटे एसपी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि अपराधी द्वारा पुलिस को धमकी देना सामान्य है। कई बार हमले भी हुए हैं। लेकिन इससे विचलित और परेशान होने की जरूरत नहीं है। यह काम का हिस्सा है। कोई नई बात नहीं है। ऐसे अपराधियों से निपटने के लिए राजस्थान पुलिस सक्षम है। यह किसी एक अधिकारी का मामला नहीं है। राजस्थान पुलिस बड़ी फोर्स है। किसी अपराधी में पुलिस फोर्स को दबाने की हिम्मत नहीं है। फोर्स कानून के दायरे में रहकर काम करना जानती है।

READ MORE-गैंगस्टर लॉरेन्स को सुविधा के लिए जेल अधीक्षक को धमकी!
अनुसंधान में होगा खुलासा

जेल अधीक्षक को धमकी प्रकरण में लॉरेन्स की लिप्तता के संबंध में एसपी ने कहा कि यह अनुसंधान का हिस्सा है। प्रकरण के अनुसंधान के बाद स्पष्ट हो सकेगा कि किसने, किसको, कहां से कॉल करवाया था और कॉलर कौन था। जांच के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा।

कर्तव्य से डिगने वाले नहीं. . .
जेल अधीक्षक प्रीति चौधरी का कहना था कि प्रकरण में पुलिस अनुसंधान चल रहा है। उन्होंने मामले में रिपोर्ट दी है। अनुसंधान के बाद ही लिप्तता उजागर हो सकेगी। उन्होंने कहा कि धमकियों से विचलित होने की जरूरत नहीं। मेरे साथ पुलिस के मुखिया से लेकर प्रत्येक सिपाही साथ खड़ा है। ऐसे में हम कर्तव्य से डिगने वालों में से नहीं हैं।

manish Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned