चोरों ने तीन सर्राफा दुकानों को बनाया निशाना

लाखों का माल पार, लाइट चली जाने के कारण सीसीटीवी फुटेज नहीं मिले, 2 वर्ष पूर्व भी हो चुकी है ऐसी घटना,

- सांसद के आश्वासन के बाद भी घटना का नहीं हो सका था खुलासा, प्रशासन के विरोध में स्वर्णकार संघ ने बाजार रखे बंद- धरना प्रदर्शन किया

बाड़ी में छीनाझपटी, लूटपाट की घटनाओं के साथ अब चोरों ने बाजार में सर्राफा की दुकानों पर हाथ साफ कर दिया। इससे गुस्साए लोगों ने बाजार को बंद कर दिया। वहीं पुलिस के प्रति आक्रोश जताते हुए धरना-प्रदर्शन किया।

By: Dilip

Published: 10 Sep 2021, 01:32 AM IST

बाड़ी. बाड़ी में छीनाझपटी, लूटपाट की घटनाओं के साथ अब चोरों ने बाजार में सर्राफा की दुकानों पर हाथ साफ कर दिया। इससे गुस्साए लोगों ने बाजार को बंद कर दिया। वहीं पुलिस के प्रति आक्रोश जताते हुए धरना-प्रदर्शन किया। साथ ही शीघ्र ही चोरी का खुलासा करने की मांग की की है। बुधवार देर रात कस्बे के सर्राफा बाजार में चोरों ने तीन स्वर्णकार ककी दुकानों को निशाना बनाया। दो दुकानों के ताले खुलने में असफलता मिली, जबकि एक दुकान के ताले को तोडऩे में चोर सफल रहे। जिसमें से लाखों की चोरी की गई। घटना की जानकारी मिलती ही वृत्ताधिकारी बाबूलाल मीणा एवं थाना प्रभारी गजानंद चौधरी ने घटनास्थल का मुआयना किया। व्यवसायियों को समझाइश शीघ्र ही चोरी का खुलासा करने का आश्वासन दिया। कस्बे के सर्राफा बाजार में सुरेश राव मराठा की दुकान से बुधवार देर रात चोरों ने माल पार कर लिया। घटना की सूचना गुरुवार सुबह 6 बजे पीडि़त दुकानदार को फोन पर मिली। इस पर मुख्य रूप से सोने चांदी को गलाने का काम करने वाले पीडि़त सुरेश राव मराठा मौके पर पहुंचे। इस दौरान दुकान का शटर टूटा मिला। देखा तो चोर 5 हजार की नकदी तथा तकरीबन डेढ़ लाख रुपए का सोने चांदी पार कर ले गए। इस पर आसपास के दुकानदारों ने भी दुकानें देखी तो दो अन्य दुकानों के भी ताले टूटे मिले, लेकिन उसमें चोरों को सफलता नहीं मिली।

अंधेरे के कारण सीसीटीवी में नहीं आई फुटेज
स्वर्णकार संघ महामंत्री हरिशंकर सराफ ने बताया कि चोरी रात के 12 बजे बाद की गई है, क्योंकि उस समय लाइट चली गई थी। जिस कारण आसपास की दुकानों में लगे सीसीटीवी में किसी भी प्रकार का सुराग नहीं मिल पाया है।

2 वर्ष पूर्व भी हुई चोरी की घटना
सर्राफा संघ अध्यक्ष राजकुमार वर्मा ने बताया कि इसी प्रकार की घटना विगत 2 वर्ष पूर्व भी अंजाम दी जा चुकी है। जिसमें से मोहन लाल वर्मा के यहां बड़े पैमाने पर चोरी की गई। जिसमें उनका तकरीबन 4 से 5 लाख तक का माल पार किया गया था। सांसद मनोज राजोरिया भी मौके पर आए थे और उन्होंने जल्द ही मामले के खुलासे का आश्वासन दिया था, लेकिन उस आश्वासन का आज तक कुछ भी नहीं हो सका।

बंद रहा सराफा बाजार
चोरी की घटना के आक्रोशित व्यवसायियों ने सर्राफा संघ अध्यक्ष राजकुमार वर्मा के नेतृत्व में प्रशासन के विरोध में संपूर्ण सर्राफा बाजार बंद कर दिया। साथ ही पुलिस प्रशासन के विरुद्ध अपनी नाराजगी व्यक्त की। साथ ही जल्द ही मामले का खुलासा ना होने पर प्रशासन के आला अधिकारियों से शिकायत करने एवं राजनीतिक स्तर पर भी बढ़ती चोरी की घटनाओं को उठाने की बात कही।

पुलिस की गश्त व्यवस्था लचर
संघ महामंत्री हरिशंकर सराफ ने बताया कि लगातार बढ़ती चोरियों का सबसे बड़ा कारण पुलिस प्रशासन द्वारा मुस्तैदी से ड्यूटी ना करना है। गश्त में लापरवाही करना है। देखने को मिलता है कि पुलिस प्रशासन द्वारा विगत 3 वर्षों से किसी भी चोरी की घटना का खुलासा नहीं किया जा सका है। ऐसे में चोरों के हौसले बुलंद होना लाजमी है, यदि ऐसा ही रहा तो सभी व्यापारियों का कस्बे में व्यापार करना मुश्किल हो जाएगा।

पुलिस ने किया मामला दर्ज
बुधवार देर रात हुई चोरी को लेकर संघ द्वारा पुलिस में तहरीर दे दी गई है। कोतवाल गजानंद चौधरी ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। मौके पर एसएफएल और एमओवी की टीम ने फिंगर प्रिंट लिए हैं। बारीकी से जांच की जा रही है। सीसीटीवी कैमरा को भी खंगाला जा रहा है। इसके अलावा बाड़ी में अतिरिक्त पुलिस जाब्ता लगाकर प्रभावी गश्त की जाएगी। जल्द ही मामले का खुलासा भी कर लिया जाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned