पढ़ें कैसे केवल ये पीला बल्ब बदलकर हर दिन बचाए जा सकते हैं 9 लाख रुपए

पढ़ें कैसे केवल ये पीला बल्ब बदलकर हर दिन बचाए जा सकते हैं 9 लाख रुपए

Sonam Ranawat | Publish: Sep, 16 2018 03:00:00 PM (IST) Ajmer, Rajasthan, India

www.patrika.com/ajmer-news

 

भूपेन्द्र सिंह/ अजमेर. अजमेर विद्युत वितरण निगम के नवाचारों का असर धरातल पर नजर आने लगा है। बिना एक रुपया खर्च किए निगम पिछले चार महीनों से प्रतिदिन डेढ़ लाख यूनिट बिजली बचा रहा है। इससे करीब 9 लाख रुपए की निगम को बचत हुई है। यह असर नजर आया है निगम द्वारा भामाशाहों, निगम अभियंताओं व कर्मचारियों के सहयोग से ग्रामीण व आदिवासी इलाकों में फिलामेंट (पीला) बल्ब बदलने के के लिए चलाए गए अभियान से।

 

निगम के प्रबन्ध निदेशक बी.एम.भामू की पहल पर शुरू किए गए इस अभियान के तहत अब तक 60 वाट के 3 लाख फिलामेंट बल्ब के बदले 9 वाट के एलईडी बल्ब नि:शुल्क बदले जा चुके हैं। इससे बिजली छीजत में कमी आर्ई है। उपभोक्ताओं के बिल की राशि भी घटी है। अजमेर विद्युत वितरण निगम ने राज्य की अन्य बिजली कम्पनियों के मुकाबले घाटे में रिकॉर्ड कमी की है।


घाटे में 920.73 करोड़ की कमी

वित्तीय वर्ष 2016-17 में निगम का वित्तीय घाटा 1303.55 करोड़ रुपए था, जबकि वित्तीय वर्ष 2017-18 में यह घटकर 382.82 करोड़ रुपए आ गया। इस तरह घाटे में 920.73 करोड़ की कमी आई है।


छीजत भी घटी

निगम की कुल छीजत 22.10 से घटकर 20.15 प्रतिशत पर आ गई इसमें 1.95 प्रतिशत की कमी आई है।


फीडर को इकाई मानकर काम किया गया है। सुधार कार्यो के जरिए बिजली चोरी पर अंकुश लगाया गया है। कॉस्ट कम की गई है,नवाचारों का भी असर है। एटीसी घटने से घाटे पर सीधा असर पड़ा है। बी.एम.भामू, एमडी,अजमेर डिस्कॉम

Prev Page 1 of 2 Next

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned