निजी फाइनेंस कम्पनी की रकम लूटने के तीन आरोपी गिरफ्तार

आरोपियों से लूट में प्रयुक्त बाइक,नकदी व टेबलेट बरामद,निजी फाइनेंस कम्पनी के प्रतिनिधि से लूटी थी रकम

By: suresh bharti

Published: 26 Aug 2020, 12:41 AM IST

अजमेर/रूपनगढ़. अपराधी कितना ही शातिर क्यों ना हो। वह कानून से बच नहीं सकता। पुलिस के शिकंजे में उसे फंसना ही होगा। अजमेर जिले की रूपनगढ़ थाना पुलिस ने लूट के गिरफ्तार आरोपियों से बाइक, नकदी व टेबलेट बरामद किए हैं। थानाप्रभारी सियाराम विश्नोई के अनुसार 7 अगस्त को करकेड़ी के पास केरिया की ढाणी में निजी फाइनेंस कम्पनी ग्राम शक्ति का प्रतिनिधि नन्दलाल यादव कलेक्शन एकत्रित कर वापस बाइक से रूपनगढ़ आ रहा था। उसके पीछे से सफेद रंग की बाइक पर दो युवक आए और डरा धमका कर बैग से कलेक्शन की राशि 57,170० ले भागे। यकायक हुई घटना से नन्दलाल बी घबरा गया।

प्राथमिकी दर्ज कराई

रूपनगढ़ थाने पर पहुंच सुनील ने प्राथमिकी दर्ज कराई। पुलिस ने अनुसंधान के बाद आरोपी सुनील जाट (२२) निवासी कालेटड़ा थाना पीलवा नागौर, इसके भाई सुशील (19) तथा जगदीश (25) निवासी पींगलोद को गिरफ्तार कर लिया। इनकी निशानदेही पर मोटरसाइकिल, बैग, पीसी टेबलेट व नकद राशि 21 हजार रुपए बरामद किए।

बेटों की करतूत से पिता कुएं में कूदा !

इधर, सुनील व सुशील जाट के पिता मेघाराम ने कुएं में कूदकर आत्महत्या कर ली। कुछ लोगों का कहना है कि बेटों की करतूत से परेशान पिता ने बदनामी व जवान बेटों के जेल जाने से व्यथित होकर उसने यह कदम उठाया। दूसरी ओर मेघाराम कर्ज से भी परेशान बताया। ग्राम कालेटड़ा में गुलाब सागर ढाणी निवासी मेघाराम का शव मंगलवार सुबह कुएं में मिला।

रुपए देने का दबाव...

मेघाराम पुत्र रघुनाथराम जाट (48) सुबह घर से निकला था जो लौटकर नहीं आया। ढाणी समीप ही रामेश्वर लाल मण्डोवरी के कुएं में मेघाराम का शव मिला। मृतक के काका हीराराम कलवानियां ने पुलिस को सौंपी रिपोर्ट में आरोप लगाया कि जंवरीलाल निवासी मोखमपुरा व मृतक मेघाराम के बीच रुपए के लेन-देन को लेकर विवाद था। मेघाराम पर जंवरीलाल रुपए देने का दबाव बना रहा था। इसी परेशानी के चलते मेघाराम ने आत्महत्या जैसा कदम उठा लिया। असलियत क्या है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned