ऑनलाइन शॉपिंग : देश-दुनिया में पहुंच रही ब्यावर की तिलपट्टी

वेबसाइट्स के जरिए बिक्री से दुनियाभर में बनी पहचान

तिल पपटी, गोल पट्टी और तिल चक्की जैसे नामों से हो रही है बिक्री

काले तिल के लड्डू, तिल खजूर ड्राई फू्रट आदि खाद्य उत्पाद भी बनने लगे

By: dinesh sharma

Updated: 18 Dec 2020, 02:09 AM IST

ब्यावर.

ब्यावर में बने तिल के व्यंजनों की महक अब देश-दुनिया तक पहुंच गई है। देर के अन्य प्रांतों के लोग ही नहीं विदेशी भी अब ब्यावर में बने तिल के व्यंजनों का आनंद उठा रहे हैं। यह संभव हुआ है ऑनलाइन शॉपिंग की बदौलत। बयावर में बनी तिलपट्टी विभिन्न वेबसाइट्स के जरिए ऑनलाइन शॉपिंग के माध्यम से देश-दुनिया में पहुंच रही हैं। तिलपट्टी को इन वेबसाइट्स पर तिल पपड़ी, गोल पट्टी, तिल चक्की जैसे नाम देकर बेचा जा रहा है।

यही नहीं तिल से बनी मिठाइयों की बिक्री के लिए ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइटों ने ब्राण्ड बना लिया है। समय के साथ बदले बाजार ने ब्यावर की तिलपट्टी को दुनियाभर में पहचान दी है। तिल से जुड़ी मिठाइयों के बाजार में भी काफी उछाल आया है।

तिलपट्टी के व्यवसाय से जुड़े व्यापारियों का कहना है कि तिलपट्टी की डिमांड देश के कई राज्य के अलावा विदेश में भी बढ़ी है। ब्यावर से तिलपट्टी गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, दिल्ली सहित दक्षिण भारत के कई राज्यों में सप्लाई हो रही है।

ऑनलाइन बाजार में भी तिलपट्टी की पहचान बन गई है। तिलपट्टी बनाने वाली फर्मों ने भी ऑनलाइन बाजार में पैर जमाने की तैयारियां की हैं। शॉपिंग वेबसाइट्स पर भी तिलपट्टी की डिमांड बढ़ी है।

ऑनलाइन बाजार में तिलपट्टी लॉंन्च

ऑनलाइन बाजार का चलन बढ़ते ही कई व्यापारियों ने अपनी फर्म की वेबसाइट्स बना ली है। इसके जरिए देश और विदेश से तिलपट्टी की डिमांड सीधे व्यापारियों के पास पहुंचने लगी है। ऑर्डर के साथ ही ट्रांसपोर्टेशन या कम मात्रा के ऑर्डर को कोरियर इत्यादि संसाधनों के जरिए भेजे जा रहे हैं।

इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय शॉपिंग बाजार की प्रमुख वेबसाइट पर तिलपट्टी को प्रमुख उत्पादों में शामिल कर ग्राहकों को सीधे भी उपलब्ध करा रही हैं। कई वेबसाइट्स तो तिलपट्टी की फ्री डिलीवरी भी कर रही हैं।

विदेशों में भी डिमांड

शॉपिंग वेबसाइट के जरिए ऑर्डर देकर कुछ ही दिनों में विदेशों में भी तिलपट्टी प्राप्त की जा सकती है। रजिस्टर्ड फर्म ही शॉपिंग वेबसाइट से जुड़कर ग्राहकों को सीधे तिलपट्टी व तिल से बने उत्पाद उपलब्ध कर रहे हैं।

तिल की नई-नई मिठाइयां

ब्यावर में तिलपट्टी के व्यापारी वासुदेव खत्री ने बताया कि तिलपट्टी की बिक्री का दायरा अब असीमित है। खरीदारों की कमी नहीं है। ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट के जरिए देश और विदेशों तक तिलपट्टी की मांग बढ़ी है।

ऑनलाइन वेबसाइटों पर तिलपट्टी से बनी मिठाइयों की डिमांड दिनों-दिन बढ़ रही है। अब तो नई-नई मिठाइयां भी बनाई जाने लगी हैं। काले तिल के लड्डू, तिल खजूर ड्राई फू्रट आदि खाद्य उत्पाद भी बनने लगे हैं। अजमेर जिले के अलावा कई प्रदेशों में भी तिलपट्टी व तिल की मिठाइयां जा रही हैं।

Show More
dinesh sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned