Tonk : पैंथर ने सांड को बनाया शिकार

दहशत में ग्रामीण : कई पशु बन चुके हैं काल के ग्रास

By: dinesh sharma

Updated: 20 Feb 2020, 12:16 AM IST

निवाई ( टोंक ).

गांव मंडालिया में मंगलवार रात को अस्थायी गौशाला में पैंथर घुस गया और एक सांड को शिकार बनाया। बुधवार सुबह इसकी जानकारी मिलने पर ग्रामीण गौशाला पर एकत्रित हो गए। ग्रामीणों ने उपखंड अधिकारी जेपी बैरवा और रेंजर योगेंद्र सिंह को सूचना दी।

रेंजर ने सिरस नाका प्रभारी रामवतार चौधरी को मौके पर पहुंचने के निर्देश दिए। नाका प्रभारी और बीट प्रभारी रामराज मीणा मण्डालिया गांव पहुंचे और ग्रामीणों से चर्चा की। रमेशचंद्र गुर्जर, भंवरलालए चतभुर्ज, कालूराम, धारासिंह, कजोड़, मुकेश, शिवराज, रामकरण, राजेंद्र, मनोहर आदि ने बताया कि गांव के बाहर चरागाह में अस्थायी गौशाला बना रखी। इसकी देखभाल ग्रामीण करते हैं।

मंगलवार को एक पैंथर गौशाला में घुसकर सांड का शिकार किया। ग्रामीणों को अब गायों की सुरक्षा की चिंता सताने लगी है, क्योंकि अस्थायी गौशाला में केवल तारबंदी ही हैं। नाका प्रभारी और बीट प्रभारी ने मौके से पैंथर के पगमार्क लिए। इसके बाद पंचनामा तैयार कर सांड का पोस्टमार्टम कराया।

उल्लेखनीय कि पूर्व में बघेरे ने गांव नोहटा, बस्सी, सिरस सहित आस-पास के गांव में पशुओं को शिकार बनाया था। नोहटा में वन विभाग के रवैये को लेकर ग्रामीण प्रर्दशन भी कर चुके हैं। नोहटा में कई पशु और कुत्तों को बघेरे ने शिकार बनाया था। वन विभाग के पिंजरा रखवाने के बाद भी विभाग के हाथ खाली ही रहे।

रेंजर जोगेंद्र सिंह शेखावत का कहना है कि गांव मंडालिया से ग्रामीणों ने बघेरे की सूचना दी। इसके बाद विभाग के कर्मचारी मौके पर पहुंचे और बघेरे के पगमार्क लिए। बघेरे के पैरों के निशान से उसका मूमेंट मंडालिया के जंगल में आ रहा हैं।

Show More
dinesh sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned