यातायात पुलिस का हाइवे पर ध्यान, शहर से अनजान!

, unaware of the cityशहर गलत दिशा में दौड़ते हैं वाहन, दुर्घटना को देते हैं न्योता

जिला मुख्यालय पर ओवरब्रिज के कारण शहर के वाहन चालक गलत दिशा में वाहन दौड़ाते हैं, ऐसे में हमेशा दुर्घटना का अंदेशा बना रहता है। वहीं अब तक कई बार दुर्घटनाएं हो चुकी हैं, जिनमें कई लोगों की जान भी चली गई है।

By: Dilip

Published: 21 Jun 2021, 01:04 AM IST

धौलपुर. जिला मुख्यालय पर ओवरब्रिज के कारण शहर के वाहन चालक गलत दिशा में वाहन दौड़ाते हैं, ऐसे में हमेशा दुर्घटना का अंदेशा बना रहता है। वहीं अब तक कई बार दुर्घटनाएं हो चुकी हैं, जिनमें कई लोगों की जान भी चली गई है। गंभीर बात तो यह है कि ओवरब्रिज के नीचे ही यातायात पुलिस की गुमटी है। वहीं हाइवे पर दिनभर यातायात पुलिसकर्मी तैनात रहते हैं, लेकिन इनका ध्यान गलत दिशा में जाने वाले लोगों की तरफ नहीं होता है, बल्कि हाइवे से गुजरने वाले ट्रकों पर होता है। इस कारण वाहन चालकों के भी हौसलें बुलंद हैं और आए दिन दुर्घटनाओं को न्योता देते रहते हैं।
दुर्घटनाओं का केन्द्र बना वाटर वक्र्स चौराहा

धौलपुर से निकल रहे राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या तीन पर स्थित वाटर वक्र्स चौराहा दुर्घटना का केन्द्र बन गया है। स्थित यह है कि यहां पर चार लेने की बजाय छह लेन सड़क बनी हुई है। वहीं वाहन चालक एक ओर से दूसरी तरफ जाने के लिए यातायात नियमों का भी पालन नहीं करते हैं, वहीं दोनों सर्विस रोड के बीच में निकल रहे हाइवे पर सरपट वाहन दौड़ते हैं, ऐसे में दुर्घटना हो जाती है। कई बार बड़े वाहन पलट जाते हैं। जिनको उठाने में ही कई घंटे मशक्कत करनी पड़ती है। गत दिनों ही एक बाइक पर सवार दो महिला घायल हो गई, तो गत दिनों एक डामर का ट्रक ही पलट गया था। वहीं छोटी-छोटी दुर्घटनाएं तो आम बात हैं।

हाइवे पर भी गलत दिशा से चढ़ते हैं वाहन चालक

रोडवेज बस स्टैण्ड पर आगरा की ओर से आने वाले वाहन चालकों के लिए हाइवे को उतारा गया है। लेकिन वाहन चालक ग्वालियर वाले हाइवे पर जाने के लिए भी इसी गलत दिशा से चढ़ते हैं। इससे आमने-सामने वाहन चालक टकरा जाते हैं। पूर्व में भी यहां पर कई बार दुर्घटनाएं हो चुकी हैं, जिसमें जान भी जा चुकी हैं। वहीं रोडवेज बस स्टैण्ड के बाहर ही निजी बसों का रेला लगा रहता है। इससे रोडवेज को तो नुकसान होता ही है, साथ ही यातायात जाम की समस्या पैदा हो जाती है। जबकि यहां पर ट्रेफिक प्वॉइंट बनाया हुआ है और करीब चार से पांच यातायात कर्मी भी तैनात रहते हैं, लेकिन निजी बस चालकों को कोई नहीं टोकता है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned