VC appointment: बीच में रोकी एप्लीकेशन तो मंडराएगा ये खतरा

हाईकोर्ट के बर्खास्तगी आदेश रद्द करने के फैसले से आवेदन प्रक्रिया पर फिलहाल कोई असर नहीं पड़ा है।

By: raktim tiwari

Published: 21 Feb 2021, 09:21 AM IST

अजमेर. राजभवन और सरकार के आदेश पर महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय ने 26 फरवरी तक कुलपति पद के लिए आवेदन मांगे हैं। यह आवेदन रामपाल की बर्खास्तगी के बाद रिक्त हुए कुलपति पद की एवज में मांगे गए हैं। हालांकि हाईकोर्ट के बर्खास्तगी आदेश रद्द करने के फैसले से आवेदन प्रक्रिया पर फिलहाल कोई असर नहीं पड़ा है।

उच्च आदेशों का इंतजार
कुलपति पद के लिए आवेदन प्रक्रिया को बीच में रोकना भी आसान नहीं है। विवि को सरकार और राजभवन से मार्गदर्शन मांगना जरूरी होगा। सर्च कमेटी को भी यूजीसी, राजभवन और सरकार को इसकी जानकारी देनी जरूरी होगी। बीच में प्रक्रिया रोके जाने पर आवेदक हाईकोर्ट में चुनौती दे सकते हैं।

पहले बैलगाड़ी नहीं मिली, फिर बिदक गया बैल

अजमेर. केंद्र सरकार के तीन कृषि विधेयकों और आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में कांग्रेस ने शनिवार को पैदल मार्च निकाला। कांग्रेसियों ने केंद्र सरकार को हठधर्मिता छोड़कर किसानों के हित में कानून वापस लेने की मांग की। इस दौरान बैलगाड़ी भी चलाई गई। लेकिन मदार के निकट बैल बिदक गया। इससे बैलगाड़ी को छोडऩा पड़ गया।

सिंघु बॉर्डर, शाहजहांपुर और अन्य स्थानों पर जारी किसान आंदोलन के समर्थन और कृषि विधेयकों के खिलाफ कांग्रेसियों ने पैदल मार्च निकाला। अजमेर शहर कांग्रेस कमेटी के केसरगंज कार्यालय स बैलगाड़ी नहीं मिलने से जुलूस रवाना नहीं हो पाया। आखिर बगैर बैलगाड़ी के ही कांग्रेसी रवाना हुए।
निवर्तमान शहर कांग्रेस अध्यक्ष विजय जैन ने कहा कि मंडियों को खत्म करने और औद्योगिक घरानों के हित में केंद्र सरकार ने कृषि कानून लागू किए हैं। यह देश और किसानों के हित में नहीं है। पूर्व विधायक डॉ. श्रीगोपाल बाहेती ने कहा कि किसान कड़ाके की ठंड में अपने हक के लिए संघर्षरत हैं। लेकिन केंद्र सरकार हठधर्मिता से कानून वापस लेने के बजाय किसानों और उनके हक में आवाज उठाने वालों को कुचल रही है। पूर्व विधायक रामनारायण गुर्जर ने भी किसानों के समर्थन में कानून वापस लेने की मांग की।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned