महंगी बाइक चुराने वाला शातिर गिरफ्तार

आदर्शनगर थाना पुलिस को मिली कामयाबी, कई मामले खुलने की उम्मीद, मौताणे में आने पर दबोचा, जयपुर-अजमेर से सात बाइक बरामद

By: manish Singh

Updated: 17 Jun 2020, 10:46 AM IST

अजमेर(Ajmer News). जयपुर-अजमेर से महंगी स्पोट्र्स व पावर बाइक चुराने वाले शातिर चोर को आदर्शनगर थाना पुलिस ने सोमवार रात को उसके रिश्तेदार के घर से दबोच लिया। आरोपी पुलिस को पिछले 6 माह से परेशान किए हुए था। जनवरी में बालअपचारी से चोरी की बाइक बरामद होने के बाद से आरोपी फरार चल रहा था। आरोपी की गिरफ्तारी के बाद उसकी निशानदेही पर पुलिस ने जयपुर व अजमेर से चुराई की गई सात पावर बाइक बरामद की हैं।
थानाप्रभारी धर्मवीरसिंह ने बताया कि परिवादी चन्द्रवरदाई नगर निवासी निर्मेश सिंह ने 21 जनवरी को केटीएम बाइक चोरी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। पुलिस ने चोरी की बाइक चेनपुरा में बालक से बरामद की थी। बालअपचारी ने बाइक चोरी की वारदात गिरोह के सरगना मांगलियावास तबीजी मायापुर रोड हाल रामपुरा डाबला निवासी नरेन्द्र गैना पुत्र सोदान गैना के साथ मिलकर अंजाम देना कबूला। मुखबिर की सूचना पर सोमवार रात को आरोपी के ननिहाल में मृत्युभोज में आने की सूचना पर पुलिस ने पीसांगन रामपुरा डाबला के निकट दबिश देकर नरेन्द्र गैना को दबोचा। आरोपी कार्यक्रम में मुंह पर कपड़ा बांध कर घूम रहा था। पुलिस ने नरेन्द्र की निशानदेही पर सात बाइक जब्त की। कार्रवाई में एएसआइ विजयकुमार, सिपाही राजेश, धर्मेन्द्र सिंह, गिरजाशंकर, सुनील कुमार व साइबर सेल के आशीष सैनी शामिल रहे।


ऐश के लिए चोरियां

पड़ताल में सामने आया कि नरेन्द्र गैना गिरोह के साथी नारायण जाट व प्रधान जाट को जयपुर चित्रकूट थाना पुलिस ने 2019 में पकड़ा था। पुलिस ने उनसे 25 पावर बाइक बरामद की थी। नरेन्द्र अजमेर शहर, किशनगढ़, जयपुर से महंगी बाइक की चोरी कर औने-पौने दाम में बेचकर ऐश करता था। आरोपी पहली मर्तबा पुलिस के हत्थे चढ़ा है।

सिर्फ वीडियोकॉल पर बात
पड़ताल में सामने आया कि नरेन्द्र गैना सीकर के निजी कॉलेज में बीए प्रथम वर्ष तक पढ़ा है। लेकिन महंगे शौक पूरे करने और मजे के लिए बाइक चोरी की वारदातें अंजाम देने लगा। नरेन्द्र सिर्फ वाट्सएप कॉलिंग का इस्तेमाल करता है। इसके लिए भी वह अक्सर अपने मिलनेृजुलने वालों से वाई-फाई से जुडऩे के बाद वाट्सएप वीडियो कॉलिंग करता था।

प्रेमिका के नाम पर सिम
पुलिस ने उससे एक मोबाइल व सिमकार्ड बरामद किया है। सिमकार्ड टोंक में रहने वाली प्रेमिका के नाम पर है। पड़ताल में बताया कि नरेन्द्र जयपुर में बाइक चोरी की वारदात अंजाम देने के बाद अजमेर आ जाता था। यहां उसने लोहाखान क्षेत्र में कमरा किराए पर ले रखा था। इसी तरह अजमेर में वारदात अंजाम देकर जयपुर चला जाता। यहां भी कमरा किराए पर ले रखा था। ऐसे में वह यहां के वाहन वहां और वहां के यहां लाकर बेच देता।

इतने वाहन किए बरामद

जयपुर शहर से चुराए- 2 रॉयल इनफील्ड, 2 केटीएम, एक होंडा एक्टिवा
अजमेर शहर से चुराए- एक केटीएम बाइक, 2 रॉयल इनफील्ड

किशनगढ़ से चुराए- एक पल्सर बाइक

manish Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned