scriptVigilance team pulled hands from action | बाड़ी प्रकरण से सहमा विद्युत निगम, विजिलेंस टीम ने कार्रवाई से खींचे हाथ | Patrika News

बाड़ी प्रकरण से सहमा विद्युत निगम, विजिलेंस टीम ने कार्रवाई से खींचे हाथ

- अभियंताओं से मारपीट के बाद नहीं हुई एक भी कार्रवाई - जिले में ४४३.६६ करोड़ बकाया में से ३७७.६९ रुपए की वसूली- ४८२ सिंगल फेज व १२० थ्री फेज ट्रांसफॉर्मर उतारे

अजमेर

Published: April 14, 2022 01:49:35 am

धौलपुर. प्रदेश में बिजली चोरी में अव्वल धौलपुर जिले में इस साल जयपुर डिस्कॉम ने उच्चाधिकारियों के डंडे के बाद जमकर कार्रवाइयां की लेकिन, बाड़ी में हुई विद्युत अभियंताओं के साथ मारपीट की घटना के बाद विजिलेंस टीम ने अपने हाथ पीछे खींच लिए। यहां तक की वारदात के एक पखवाड़े बाद भी जिले में एक भी विजिलेंस की कार्रवाई नहीं हुई है। विद्युत निगम सूत्रों के अनुसार बाड़ी ही नहीं पूरे जिले के विद्युत निगमकर्मी घटनाक्रम के बाद सहमे हुए हैं। कई बार उच्चाधिकारियों के कहने पर जाने को तैयार नहीं है, हालांकि उच्चाधिकारी भी अधिक दबाव नहीं डाल पा रहे हैं।
बाड़ी प्रकरण से सहमा विद्युत निगम, विजिलेंस टीम ने कार्रवाई से खींचे हाथ
बाड़ी प्रकरण से सहमा विद्युत निगम, विजिलेंस टीम ने कार्रवाई से खींचे हाथ
जिले में यह हुई कार्रवाई

धौलपुर जिले में निगम उपभोक्ताओं पर बिजली बिल का ४४३.६६ करोड़ रुपए बकाया था। इसमें से निगम ने लगातार कार्रवाई कर ३७७.६९ करोड़ रुपए की वसूली भी कर ली। यह कुल बकाया का ५५.१६ प्रतिशत रहा है। इस दौरान जिले भर में निगमकर्मियों ने अधिकारियों के नेतृत्व में कार्रवाई करते हुए जिले भर में सिंगल फेज के ४८२ ट्रांसफॉर्मर उतारे। इन पर ९.२७ करोड़ रुपए बकाया चल रहा था। वहीं थ्री फेज के १२० ट्रांसफॉर्मर उतारने की कार्रवाई की गई। इन उपभोक्ताओं पर २.४५ करोड़ रुपए का बकाया चल रहा था। इतना ही नहीं दस हजा रुपए से अधिक के बकायादारों के मीटरों को ऑटोमैटिक सिस्टम से विद्युत निगम कार्यालय से बंद कर दिया गया। ऐसे में उपभोक्ताओं ने निगम की बकाया राशि को भी जल्द ही जमा करा दिया।
विगत तीन माह से चल रही थी कार्रवाई
विद्युत निगम सूत्रों के अनुसार इस बार निगम ने बकायादारों से वसूली के लिए मार्च माह का इंतजार नहीं किया। बल्कि तीन माह पहले से ही कार्रवाई करना शुरू कर दिया। इससे धौलपुर, राजाखेड़ा, बसेड़ी, बाड़ी के अलावा सरमथुरा तथा सैंपऊ में भी बड़ी कार्रवाइयां की। इस दौरान जमकर ट्रांसफॉर्मर उतारे गए। वहीं कई जगहों पर विरोध भी हुआ, लेकिन पुलिस बल के कारण ट्रांसफॉर्मर उतारने में सफल हो गए। हालांकि दिहौली थाना क्षेत्र के पास एक ट्रांसफॉर्मर उतारने को लेकर निगमकर्मी जरूर खिन्न नजर आए, जब ग्रामीण जब्त ट्रांसफॉर्मरों को ही पुलिस के सामने उठा ले गए। लेकिन राजनीतिक हस्तक्षेप के कारण कोई अधिकारी बोल नहीं पाया था।
राजस्थान की बिजली से यूपी के गांव रोशन होने के भी लगे आरोप
बसेड़ी में जनसुनवाई के दौरान पूर्व प्रधान ने एससी आयोग अध्यक्ष खिलाड़ीलाल बैरवा के समक्ष राजस्थान की बिजली से उत्तरप्रदेश के गांवों में बिजली चोरी होने तक का मुद्दा उठा दिया था। हालांकि बैरवा ने मामले की जांच के निर्देश दिए। लेकिन अगले ही दिन बाड़ी में बड़ा घटनाक्रम होने के कारण अभी तक जांच भी नहीं हो पा रही है। जिले में बड़ी मात्रा में होती है बिजली चोरी
प्रदेश भर में सबसे अधिक बिजली चोरी धौलपुर जिले में होती है। कई गांवों में तो फर्जी ट्रांसफॉर्मर तक लगाए हुए हैं, जिनको खुद विद्युत निगम ने कई बार पकड़ा है। वहीं गैर उपभोक्ता भी बड़ी संया में हैं, जो हमेशा बिजली चोरी करते हैं। इनके खिलाफ लगातार कार्रवाई करने के बाद भी चोरी करने से बाज नहीं आते हैं।
इनका कहना है
यह सही है कि बाड़ी के घटनाक्रम के बाद जिले में विजिलेंस सहित अन्य निगमकर्मी सहमे हुए हैं। इस कारण वारदात के बाद कोई कार्रवाई नहीं हुई है। हालांकि इससे पहले जिले में ५५.१६ प्रतिशत वसूली कर ली गई थी।
- बीएल वर्मा, अधीक्षण अभियंता, विद्युत निगम, धौलपुर।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

DGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्डIPL 2022 के समापन समारोह में Ranveer Singh और AR Rahman बिखेरेंगे जलवा, जानिए क्या कुछ खास होगाबिहार की सीमा जैसा ही कश्मीर के परवेज का हाल, रोज एक पैर पर कूदते हुए 2 किमी चलकर पहुंचता है स्कूलकर्नाटक के सबसे अमीर नेता कांग्रेस के यूसुफ शरीफ और आनंदहास ग्रुप के होटलों पर IT का छापाPM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहाOla, Uber, Zomato, Swiggy में काम करके की पढ़ाई, अब आईटी कंपनी में बना सॉफ्टवेयर इंजीनियरपंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतें
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.