चोरी के आरोपित को पकडऩे गये पुलिसकर्मियों का किया बुरा हाल, एक घंटे तक बंधक बनाकर की मारपीट

चोरी के आरोपित को पकडऩे गये पुलिसकर्मियों का किया बुरा हाल, एक घंटे तक बंधक बनाकर की मारपीट

Sonam Ranawat | Publish: Sep, 03 2018 01:39:40 PM (IST) Ajmer, Rajasthan, India

www.patrika.com/ajmer-news

 

मदनगंज-किशनगढ़. (अजमेर) चोरी के प्रकरण में आरोपितों को गिरफ्तार करने आई मुम्बई पुलिस और गांधीनगर थाना पुलिस दल पर आरोपितों एवं उनके परिचितों ने रविवार को हमला बोल दिया। साथ ही पुलिस दल के छह सदस्यों को करीब एक घंटे तक बंधक बनाए रखा और उनके साथ मारपीट की। प्रकरण में गांधीनगर थाना पुलिस ने आठ आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया और मौके से 11 मोटरसाइकिलें भी जब्त की हैं।


गांधीनगर थाना प्रभारी भागसिंह ने बताया कि रविवार सुबह करीब 10 बजे मुम्बई के देवनार पुलिस थाने के सब इंस्पेक्टर प्रवीण भास्कर, हैड कांस्टेबल मुरलीधर गायकवाड़, कांस्टेबल आजिनाथ पोटे एवं प्रकाश हांके थाने पहुंचे और कुचील गांव से चोरी के आरोपित मंजूर अली को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस इमदाद मांगी। इस पर बीट कांस्टेबल विनोद व कांस्टेबल प्रधान को मुम्बई पुलिस के साथ कुचील के लिए रवाना कर दिया। गांव पहुंचे पुलिस दल ने आरोपित मंजूर अली उर्फ अपला के मकान के बारे में पूछताछ की।

 

इस पर गांव का ही जमील नाम का व्यक्ति चिल्लाने लगा और अपला, किस्मत, माफिया, इस्लाम और इमरान को लाठियां और सरिए समेत आने की जोर से आवाज लगाई। इतने में ही सभी लाठियों और सरियों से लैस होकर आ गए और पुलिस दल पर हमला बोल दिया। मुम्बई पुलिस कांस्टेबल प्रधान अपने मोबाइल से वीडियो बनाने लगा तो आरोपितों ने उसका मोबाइल छीन लिया। मुम्बई पुलिस मंजूर अली को पकडकऱ जीप में बैठाने लगी तो इन आरोपितों के साथ सेठ मोहम्मद, पूसी बानो, सुभान अली, रज्जाक, अशफाक, लुकमान, भूरे खां, इमरान, सिराजुद्दीन, पप्पू रसीद खां, फिरोज, वीरा और हैदर ने मंजूर अली को पुलिस से छुड़वा लिया और मुम्बई पुलिस एवं गांधीनगर थाना पुलिस से मारपीट की। आरोपितों ने पुलिसकर्मियों से मोबाइल, पिस्टल आदि छीनकर उन्हें कमरे में बंद कर दिया।

 

करीब एक घंटे तक पुलिसकर्मियों को बंधक बनाकर रखा। इस दौरान गांधीनगर थाना पुलिस के कांस्टेबल विनोद ने थाना प्रभारी भागसिंह को घटना की जानकारी दी। इस पर थाना प्रभारी भागसिंह, एसएचओ रूपनगढ़ सुमित्रा चौधरी, किशनगढ़, मदनगंज और गांधीनगर पुलिस जाप्ता कुचील पहुंचा। मौके पर पहुंची पुलिस की संयुक्त टीम ने कमरे में बंद मुम्बई अैर गांधीनगर थाना पुलिस को छुड़वाया। मारपीट में मुम्बई पुलिस के गायकवाड़ और हांके चोटिल हो गए। वहीं चोरी प्रकरण का मुख्य आरोपित मंजूर अली मौके से भाग गया। पुलिस ने मौके से मारपीट करने, बंधक बनाने और राजकार्य में बाधा डालने के मामले में तीन महिलाओं समेत आठ आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया।

 

मोटरसाइकिल जब्त

पुलिस ने मौके से 11 मोटरसाइकिल को जब्त किया। मौके पर मोटरसाइकिलें लावारिस हालत में पड़ी थी।

 

यह है मामला
मुम्बई के देवनार थाने के पुलिस सब इंस्पेक्टर प्रवीण भास्कर ने बताया कि देवनार थाना क्षेत्र में बकरों की मंडी लगती है। वहां पर 20 अगस्त को अजमेर के कायड़ निवासी फोजू और कुचील के मंजूर अली अपने बकरे बेचने गए। इस दौरान फोजू खां ने थाने में रिपोर्ट दी कि उसकी जेब में रखे आठ लाख दस हजार रुपए चोरी हो गए। उसने मंजूर अली पर चोरी का आरोप लगाया। इस दौरान मंजूर अली घटना स्थल से भाग गया। उक्त मामले में मुम्बई पुलिस मंजूर अली को गिरफ्तार करने के लिए गांधीनगर थाना क्षेत्र स्थित कुचील आई थी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned