दुष्कर्म के बाद मासूम की हत्या करना चाहता था दरिंदा, कुएं पर जाल लगी होने से बच गई जान

पोर्न साइट देखने का आदी है आरोपी, वारदात के बाद भागने की बजाए घर जाकर सो गया था आरोपी,सोशल मीडिया पर फोटो वायरल होने पर आरोपी के पड़ोसियों ने पुलिस को दी इत्तला

By: suresh bharti

Published: 20 Feb 2021, 11:20 PM IST

झुंझुनूं. जिले के एक गांव में मासूम का अपहरण कर बलात्कार करने का आरोपी दरिंदा उसकी कुएं में डालकर हत्या करना चाहता था, लेकिन कुएं पर जाल लगा होने से बालिका की जान बच गई। बाद में उसे लहुलूहान हालत में छोडकऱ भाग गया।

पुलिस ने शुक्रवार देर रात आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया था। रविवार को झुंझुनूं कोर्ट में उसे पेश किया जाएगा। जांच अधिकारी ने बताया कि आरोपी आवारा प्रवृत्ति का है। इसके खिलाफ जिले के एक थाने में मारपीट का मामला भी दर्ज है। वह मोबाइल में पोर्न साइट देखने का आदी है और नशा भी करता है।

गांव के रास्तों से गुजरा आरोपी

मासूम का अपहरण करने के बाद आरोपी उसे गांव के रास्तों से लेकर गया। वारदात से पहले बच्ची को गांव में भी घुमाया। बाद में बच्ची से ज्यादती कर उसे रास्ते के पास फेंककर चला गया। युवक को वारदात से पहले खुद के गांव में भी देखा गया था। युवक ने वारदात के बाद भागने का प्रयास नहीं किया। वारदात स्थल से वह सीधा अपने घर जाकर सो गया। उधर, वारदात से जुड़ी आरोपी की फोटो वायरल होने पर किसी ने पुलिस को आरोपी की सूचना दे दी। इसके बाद पुलिस ने दबिश देकर आरोपी को उसके घर से ही धर-दबोचा।

बेरोजगार और नशे का आदी

आरोपी बारहवीं तक पढ़ा हुआ है जो बेरोजगार था। ग्रामीणों की मानें तो युवक को नशे की भी आदत है। खेतों में रहता है। उसका एक बड़ा भाई भी है।

जिंदगी और मौत से जूझ रही मासूम

अपहरण के बाद दरिदंगी के शिकार हुई मासूम का जयपुर के जेके लोन अस्पताल में उपचार चल रहा है। चिकित्सकों की टीम ने ऑपरेशन किया। इसके बाद बच्ची की सेहत में सुधार बताया जा रहा है। पोक्सो सहित कई धाराओं में मामला दर्ज उधर, मासूम के भाई ने दरिंदे के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है, जिसमें पुलिस ने धारा 378 अ,ब, ढ, 366 अ तथा पोक्सो एक्ट की धारा 4 और 6 के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार मामले की जल्द से जल्द जांच पूर्ण कर चालान पेश किया जाएगा। आरोपी को सख्त सजा दिलवाने के प्रयास किए जाएंगे। कलक्टर यूडी खान और एसपी मनीष त्रिपाठी ने शनिवार को पीडि़त परिवार के गांव जाकर ढांढस बंधाया।

अंतिम सांस तक जेल की सजा

आरोपी के खिलाफ विभिन्न आपराधिक धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है। राजस्थान हाइकोर्ट के एडवोकेट संजय महला के अनुसार धारा 376 में आजीवन कारावास, 366 में अपहरण की धारा में दस वर्ष के कारावास और पोक्सो एक्ट की धाराओं में अंतिम सांस तक जेल की सजा का प्रावधान है। जो कि इस मामले में लगी है। यानी कि सब कुछ ठीक रहा तो आरोपी के खिलाफ कठोर से कठोर सजा तय है।

एक माह में सजा दिलाकर रहूंगा

इस घटना को मैं चैलेंज के रूप में ले रहा हूं। जनता की भावनाओं का भी मुझे ध्यान है। रातभर इसी में लगा रहा। केस स्कीम ऑफिसर में इसे शामिल किया है। आरपीएस लेवल के अधिकारी को जांच दी है। पूरे सबूत जुटा लिए हैं। इसके अलावा भी सबूत जुटाए जा रहे हैं। सात दिन में कोर्ट में चालान पेश करना मेरी प्राथमिकता है। एक माह में आरोपी को सजा दिलवाकर ही रहूंगा।

मनीष त्रिपाठी, एसपी झुंझुनूं

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned