Water crisis: अभी से ये हाल है जनाब, कहीं दो तो कहीं तीन दिन में मिल रहा पानी

बीसलपुर बांध में पानी की लगातार कमी होने के साथ ही अजमेर एवं जिले में पेयजल आपूर्ति बढ़ाने की मांग जोर पकड़ती जा रही है।

By: raktim tiwari

Published: 10 Apr 2019, 09:14 AM IST

अजमेर. गर्मी शुरू होने के साथ ही पेयजल संकट गहराने लगा है। ग्रामीण क्षेत्र ही नहीं शहरी क्षेत्र में आमजन पेयजल आपूर्ति कम होने से परेशान हैं। बीसलपुर बांध में पानी की लगातार कमी होने के साथ ही अजमेर एवं जिले में पेयजल आपूर्ति बढ़ाने की मांग जोर पकड़ती जा रही है।

अजमेर शहर में पेयजल संकट की यह स्थिति है कि कई क्षेत्रों में दो से तीन दिनों में आपूर्ति हो रही है तो कहीं चार दिन में पानी पहुंच रहा है। पेयजल आपूर्ति के समय में भी अब कटौती होने लगी है। यही नहीं क्षेत्रवार आपूर्ति के समय में भी बिना सूचना के फेरबदल होने से महिलाओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में तो हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं।

कायड़ में चार दिन में आपूर्ति
शहर के निकटवर्ती ग्राम कायड़ में चार दिनों में बीसलपुर लाइन में पेयजल आपूर्ति की जा रही है। इसके ग्रामीणों को पेयजल संकट से गुजरना पड़ रहा है। ग्रामीण महिला हशमत ने बताया कि चार दिन में पानी की आपूर्ति की जा रही है। वह भी आधे गांव में, इसके चलते परेशानी हो रही है। उधर गुलजार मोहम्मद ने बताया कि पेयजल के अभाव में ग्रामीणों पर तो संकट है ही साथ ही जानवरों के पीने का पानी भी कम है।

जिंक की ओर से टैंकरों से हो रही सप्लाई
कायड़ के ग्रामीणों के अनुसार आधे गांव में ही पानी की सप्लाई होने पर हिन्दुस्तान जिंक की ओर से टैंकरों से भी पानी की सप्लाई की जा रही है, मगर वह भी कम पड़ रही है। ग्रामीणों के साथ मवेशियों के लिए भी पानी की जरूरत पड़ती है। जलदाय विभाग को चाहिए कि बीसलपुर लाइन में समान रूप से पूरे गांव में बराबर पानी मिलना चाहिए।


शहर के साथ ही कायड़, सरस्वती नगर आदि में 72 घंटे में पेयजल आपूर्ति की जा रही है। पेयजल आपूर्ति के समय में बदलाव नहीं किया है। जरूरत पडऩे पर टैंकर से आपूर्ति भी की जाएगी। -राजीव सुगोत्रा, एक्सईएन (शहर) जलदाय विभाग

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned