scriptWi-Fi' system will be installed at 6 places in the city | शहर में 6 जगहों पर लगेंगे 'वाई-फाईÓ सिस्टम | Patrika News

शहर में 6 जगहों पर लगेंगे 'वाई-फाईÓ सिस्टम

90 लाख की लागत आएगी, मिलेगी 50 एमबीपीएस की स्पीड
स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत होगा काम

अजमेर

Updated: January 10, 2022 08:46:43 pm

अजमेर. स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत शहर में सार्वजनिक स्थानों पर वाई-फाई की सुविधा भी मिलेगी। इसके लिए शहर के 6 प्रमुख स्थानों पर 90 लाख रूपए खर्चकर वाई-फाई सिस्टम लगाए जाएंगे। सोमवार को अजमेर विकास प्राधिकरण की कार्य समिति की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। शहर में आनासागर लिंक रोड चौपाटी के पास, रीजनल कॉलेज चौपाटी के पास, अजमेर उद्यान (लेक फ्रंट गार्डन), सागर विहार बर्ड पार्क, अरबन हाट वैशाली नगर तथा विवेकानन्द स्मारक कोटड़ा में वाई-फाई सिस्टम लगाए जाएंगे। यहां तीन साल के लिए बीएसएनएल के कनेक्शन लिए जाएंगे जिनमें 50 एमबीपीएस की स्पीड मिलेगी ।
बैठक की अध्यक्षता प्राधिकरण आयुक्त अक्षय गोदारा ने की। बैठक में एडीए सचिव किशोर कुमार तथा अन्य अधिकारी शामिल हुए।
bsnl.jpg
bsnl
यह प्रस्ताव भी मंजूर

-जवाहर लाल नेहरू अस्पताल कैम्पस में बहुमंजिला सर्जिकल ब्लॉक निर्माण कार्य की निविदा दर स्वीकृत।
-3.5 एमएलडी सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट पुष्कर तथा पम्पिंग स्टेशन (पुष्कर एवं पंचशील) के 12.87 लाख रुपये से अधिक के निर्माण कार्य का प्रस्ताव स्वीकृत।
-पंचशील पम्प हाउस को शिफ्ट किए जाने पर सहमति।

-कायड़ में बनने वाले मेडिकल कॉलेज भवन निर्माण की निविदा दर स्वीकृत।

लीगेसी वेस्ट के आरडीएफ का सीमेंट प्लांट में होगा उपयोग

अजमेर. शहर के लीगेसी वेस्ट (पुराना एवं प्रत्यक्त कूड़ा) से निकलने वाले आरडीएफ (जलने वाला कूड़ा ईंधन) को सीमेंट प्लांट में उपयोग में लाया जाएगा। सोमवार को एक ट्रक जलने वाला कूड़ा ईंधन माखुपुरा स्थित ट्रेंचिंग ग्राउंड से रवाना किया गया। 3 लाख 60 हजार क्युबिक मीटर कचरे से लगभग 40 प्रतिशत आरडीएफ निकलेगा। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत माखुपुरा ट्रेंचिंग ग्राउंड पर लिगेसी वेस्ट के निस्तारण किया जा रहा है। ट्रोमल मशीन के द्वारा लीगेसी वेस्ट से पॉलीथिन एवं मिट्टी को अलग किया जा रहा है। साथ ही इससे निकलने वाला आरडीएफ (जलने वाला कूड़ा ईंधन) सीमेंट फैक्ट्रियों में उपयोग होगा। माखुपुरा ट्रेंचिंग ग्राउंड पर 3 लाख 60 हजार टन कचरा साफ करने हेतु प्लांट लगाया गया है। वर्तमान में अजमेर शहर से प्रतिदिन निकलने वाला लगभग 250 टन कचरा ट्रेंचिंग ग्राउंड में डाला जा रहा है। मशीन से पुराने कूड़े से प्लास्टिक, पॉलीथिन आदि ज्वलनशील पदार्थ को अलग किया जा रहा है। इसके अलावा मिट्टी और कंक्रीट को भी अलग-अलग किया जा रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

SSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगानिलंबित एडीजी जीपी सिंह के मोबाइल, पेन ड्राइव और टैब को भेजा जाएगा लैब, खुल सकते हैं कई राजविराट कोहली ने किसके सिर फोड़ा हार का ठीकरा?, रहाणे-पुजारा का पत्ता कटना तयएसईसीएल ने प्रभावित गांवों को मूलभूत सुविधा देना किया बंद, कोल डस्ट मिले पानी से बर्बाद हो रहे हैं खेततीसरी लहर का खतरनाक ट्रेंड, डाक्टर्स ने बताए संक्रमण के ये खास लक्षण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.