लुटेरी दुल्हन : पहले नाता प्रथा से करती थी विवाह, बाद में जेवरात व नकदी लेकर फरार

किसी अविवाहित युवक को फंसाना और फिर नाते के जरिए ब्याह करना पूर्व नियोजित रहता था, करीब छह युवकों से फर्जी शादी करने के बाद आखिर लुटेरी दुल्हन पुलिस के चढ़ी हत्थे

By: suresh bharti

Published: 24 Sep 2020, 11:02 PM IST

अजमेर. अपराध के भी कई तरीके अपनाए जाने लगे हैं। फिर कोई महिला मासूम बनकर विवाह का प्रस्ताव रखे तो कई अविवाहित युवक मजबूरी में शादी कर बैठते हैं,लेकिन उन्हें हकीकत का पता नहीं रहता।

ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है। एक युवती ने नाता प्रथा से विवाह कर कई युवकों से ठगी कर ली। कुछ दिन तो यह लुटेरी दुल्हन ससुराल में विश्वास बनाकर रहती थी। तब तक उसे घर की सारी गोपनीय जानकारी मिल जाती थी। उसका मकसद किसी की बीवी बनकर रहना नहीं,बल्कि पत्नी के वेश में लूटना था, लेकिन पुलिस के हत्थे चढ़ी तो हकीकत सामने आ गई।

शादी के बाद भी गैंगरेप की धमकी

अजमेर जिले की अरांई थाना पुलिस ने बुधवार शाम मामले का खुलासा किया है। पुलिस ने मुण्डोती निवासी एक युवक की रिपोर्ट पर कथित लुटेरी दुल्हन को गिरफ्तार कर लिया। अनुसंधान में आरोपित महिला की ओर से गत तीन वर्षो में ही छह लोगों के साथ नाता प्रथा कर मोटी रकम ऐंठने का पर्दाफाश हुआ है।

आरोप है कि महिला पीडि़तों के साथ ठगी के बाद भी गैंग रैप की धमकी देकर वसूली करती है। पुलिस ने पीडि़त की रिपोर्ट पर आरोपित महिला को गिरफ्तार कर सक्षम न्यायालय में पेश किया है। पुलिस वृत्ताधिकारी किशनगढ़ भूपेन्द्र शर्मा ने बताया कि मुण्डोती निवासी रामसिंह जाट पुत्र कालूराम (32) ने 24 जुलाई को अरांई थाना में रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। इसमें परिवादी ने बताया कि नाता प्रथा से उसका विवाह सोनू देवी पुत्री कल्याण जाट निवासी लोहरवाड़ा थाना नसीराबाद से हुआ था। विवाह के कुछ समय बाद आरोपित महिला सोनू २२ जुलाई की रात्रि को घर से जेवरात और नकदी लेकर चली गई।

शिकायत पर बलात्कार के केस में फंसाने की धमकी

सीओ शर्मा ने बताया कि पीडि़त की रिपोर्ट पर अरांई थाने में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की गई थी। आरोपिता ने शिकायतकर्ता को बलात्कार के झूठे केस में फंसाने की धमकी दी है। अब तक यह महिला बीते तीन साल में छह लोगों के साथ ठगी कर चुकी है। सीओ भूपेन्द्र शर्मा ने बताया कि नाता प्रथा से विवाह कर ठगी करने में यह महिला माहिर है।

कुछ दिन ससुराल में

आरोपी महिला कुछ लोगों की मदद से और सामाजिक कार्यक्रमों आदि में जाकर अविवाहित, विधुर युवकों से सम्पर्क करती है। उनसे मोटी रकम लेकर नाता प्रथा विवाह करती है। इसके बाद आरोपित महिला कुछ दिन ससुराल में ही रहती है। मौका मिलने पर जेवरात और नकदी लेकर घर से फरार हो जाती आई है। इसके बाद भी पीडि़त युवकों को बलात्कार के केस में फंसाने की धमकी देकर मोटी रकम ऐंठती रहती है।
सीओ शर्मा ने बताया कि महिला को गिरफ्तार करने बाद पूछताछ में सामने आया है कि छह युवकों के साथ नाता प्रथा विवाह कर गहने और नकदी लेकर ठगी कर चुकी है। कार्रवाई करने वाली पुलिस टीम वृत्ताधिकारी किशनगढ़ भूपेन्द्र शर्मा के नेतृत्व में आरोपित महिला को गिरफ्तार करने में हैड़कांस्टेबल मदनलाल, कांस्टेबल विजय कुमार, रामेश्वर, परमाराम, महिला कांस्टेबल महेन्द्र टीम में साथ रहे।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned