scriptWooden stubbles are cut by burning the chilly cold night | लकड़ी के ठूंठ जलाकर काटते हैं हाड़ कंपाती सर्द रात! | Patrika News

लकड़ी के ठूंठ जलाकर काटते हैं हाड़ कंपाती सर्द रात!

ह्युमन स्टोरी-जब सब घरों में आराम से सोते हैं तब जागते हैं शहर की गश्त में तैनात हमारे जवान

 

अजमेर

Updated: January 16, 2022 02:41:29 am

मनीष कुमार सिंह
अजमेर.

शहर में कोी वारदात हो या ट्रैफिक जाम। हम पुलिस को कोसने में कोई कसर नहीं छोड़ते। मगर जब आप-हम ठण्डी रात में घरों में रजाई-कम्बल में लिपटकर आराम से सोते हैं तब पुलिस के जवान सड़क-चौराहों पर गश्त में होते हैं। हाड़ कंपाने देने वाली ठण्डी रात में खुली सड़क पर उनको सहारा है तो कुछ अदद लकड़ी के टूकड़े और उसके जलते अलाव का।
लकड़ी के ठूंठ जलाकर काटते हैं हाड़ कंपाती सर्द रात!
लकड़ी के ठूंठ जलाकर काटते हैं हाड़ कंपाती सर्द रात!
कड़ाके की ठंड में नाकाफी अलाव

शुक्रवार सुबह 4 बजे कड़ाके की ठण्ड में वैशालीनगर माकड़वाली तिराहे पर क्रिश्चियनगंज पुलिस थाने के चार जवान ठंड से कसमसाते दिखे। उन्होंने ठंड से बचने के लिए तिराहे के एक कॉर्नर पर अलाव का इंतजाम किया लेकिन खुली जगह पर अलाव की तपिश नाकाफी थी। नजदीक जाकर देखा तो अलाव में टूटी बल्ली का ठूंठ ही पड़ा नजर आया। अलाव में लौ जलाए रखने को थोड़ी-थोड़ी देर पर दुपहिया वाहन से निकला काला ईंजन ऑयल डाल रात को ठंड से बचने की मशक्कत करते नजर आए।
बीते एक सप्ताह में प्रदेश में पारा माइनस में पहुंच गया। वहीं अजमेर शहर का तापमान भी 5 डिग्री से नीचे तक पहुंच चुका है। लेकिन कड़ाके की ठण्ड में चोरी की वारदातों पर अंकुश लगाने और जरायमपेशा की धरपकड़ के लिए पुलिस कप्तान विकास शर्मा ने चेतक सिग्मा के साथ शहर के मुख्य चौराहों पर फिक्स नाके लगा रखे हैं। इन मार्गों से गुजरने वाले वाहनों के साथ संदिग्धों पर निगरानी रखी जाती है।
ठण्डी रात में चाय की उम्मीद!

पत्रिका संवाददाता ने सिपाही डूंगरमल, भगवान सिंह, हंसराज, रामेश्वर किलक से बातचीत की। उनका कहना था कि ड्यूटी पर मुस्तैद तो रहना पड़ेगा लेकिन रात में कड़ाके की ठण्ड में अलाव के साथ एक अदद गर्म चाय उनको राहत दे सकती है।
पड़ोसी निभा सकते हैं सरोकार
कोरोना संक्रमण की पहली व दूसरी शहर के स्वयंसेवी संस्थाओं ने जो जज्बा दिखाया था उसे एकबारगी फिर से खुले मन से दिखाने की जरूरत है। बशर्ते उसे शहर के प्रमुख चौराहे के आसपास रहने वाले लोग ही निभाएं और ऐसे में निकट के नाकों पर तैनात जवानों को मानवीयता और सामाजिक सरोकार के तहत ठंडी रातों में चाय तो मुहैया करवा ही सकते हैं। जिससे उनकी ड्यूटी भी जारी रहे और जज्बा भी बना रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Thailand Open: PV Sindhu ने वर्ल्ड की नंबर 1 खिलाड़ी Akane Yamaguchi को हराकर सेमीफाइनल में बनाई जगहIPL 2022 RR vs CSK Live Updates: रोमांचक मुकाबले में राजस्थान ने चेन्नई को 5 विकेट से हरायासुप्रीम कोर्ट में अपने लास्ट डे पर बोले जस्टिस एलएन राव- 'जज साधु-संन्यासी नहीं होते, हम पर भी होता है काम का दबाव'ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंशिक्षा मंत्री की बेटी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिए बर्खास्त करने के निर्देश, लौटाना होगा 41 महीने का वेतनCBI रेड के बाद तेजस्वी यादव ने केंद्र सरकार पर कसा तंज, कहा - 'ऐ हवा जाकर कह दो, दिल्ली के दरबारों से, नहीं डरा है, नहीं डरेगा लालू इन सरकारों से'Ola-Uber की मनमानी पर लगेगी लगाम! CCPA ने अनुचित व्यवहार के लिए भेजा नोटिस, 15 दिन में नहीं दिया जवाब तो हो सकती है कार्रवाईHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.