बीवी को गलत मैसेज भेजता था, इसलिए मौत के घाट उतारा

रू जिले के किरसाली गांव में युवक की हत्या मामले में खुलासा, शव को कुंड में फैंकने से पहले ही कर दी थी हत्या, पुलिस ने तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार,आरोपियों ने अपराध कबूला

By: suresh bharti

Updated: 20 Jul 2020, 12:11 AM IST

अजमेर/चूरू. किसी को बीवी को मोबाइल पर गलत मैसेज भेजना एक युवक को भारी पड़ गया। इसके बदले उसे जान गंवानी पड़ गई। मृतक युवक हत्या के आरोपियों की बहनों से भी बातें करते रहता था जो भाइयों को मंजूर नहीं था। इसकी शिकायत की गई तो पहले तकरार हुई। फिर धमकियां दी गई। एक-दूसरे को देख लेने की चुनौती दी गई। उलाहना देने पर गलती स्वीकार करने की बजाए मृतक युवक अपनी जिद पर अड़ा रहा। यह मामला रंजिश में बदल गया।

पुलिस ने चूरू जिले के गांव किरसाली कांधलान में दो दिन पहले हुई अनुसूचित जाति के युवक की हत्या मामले का खुलासा कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि 17 जुलाई को किरसाली कांधलान गांव निवासी 28 वर्षीय युवक रामप्रताप मेघवाल की लाश संदिग्धावस्था में गांव की रोही में बने कुण्ड में मिली थी। मृतक युवक के पिता महेन्द्र ने पुत्र की हत्या की आशंका जताते हुए गांव के अजयसिंह व अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया।

शव को देखकर हुआ संदेश

मामले की जांच कर रहे डीएसपी रामप्रताप विश्नोई ने बताया कि पुलिस ने जब मृतक युवक रामप्रताप के शव को कुण्ड से बाहर निकाला तो उन्हें संदेह हुआ। इस पर शव को तारानगर के राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की मोर्चरी में लाकर उसका मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया। बाद में एक पुलिस टीम का गठन किया गया।

इसमें विश्नोई के नेतृत्व में थानाधिकारी राधेश्याम, हैड कांस्टेबल महावीरसिंह, कांस्टेबल संदीप, भूराराम, ओमप्रकाश की टीम ने गहनता से जांच की। टीम ने मामले में नामजद आरोपी अजयसिंह उर्फ अजयपालसिंह उर्फ अजू राजपूत निवासी किरसाली कांधलान की तलाश की। टीम ने प्रयासों से आरोपी अजयसिंह को दस्तयाब कर उससे कड़ी पूछताछ की।

मुख्य आरोपी सहित जीन जने धरे

अजयसिंह ने बताया कि 16 जुलाई की रात उसने व साथी किरसाली कांधलान गांव निवासी मानसिंह उर्फ मानिया मेघवाल व सुरेश मेघवाल ने मिलकर रामप्रताप का साफे से नाक व मुंह दबाकर दम घोंटकर हत्या कर दी। इसके बाद मृतक रामप्रताप के शव को गांव के कुण्ड में डाल दिया, ताकि किसी को पता न चले। आरोपी अजयसिंह की निशानदेही पर पुलिस ने खेतों में छुपे हत्या के अन्य आरोपी मानसिंह व सुरेश को भी दस्तयाब कर लिया। डीएसपी विश्नोई ने बताया कि तीनों के विरुद्ध अपराध प्रमाणित पाए जाने पर गरफ्तार कर लिया गया। तीनों को सोमवार को न्यायालय में पेश कर पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जाएगा।

आरोपी की पत्नी को युवक भेजता था मोबाइल संदेश

सीओ रामप्रताप ने बताया कि प्रारम्भिक पूछताछ में सामने आया है कि युवक रामप्रताप आरोपी अजयसिंह की पत्नी के मोबाइल पर आए दिन मैसेज कर परेशान करता था। यह बात पत्नी ने पति को बात बतार्ई। अजयसिंह इस बात का उलाहना देने पहुंचा तो दोनों में इस बात को लेकर कहासुनी हो गई। इस बात से आरोपी नाराज था। हत्याकांड में शामिल आरोपी युवकों की बहनों से युवक बातचीत करता था। ऐसे में दोनों भी हत्याकांड में शामिल हो गए। हालांकि पुलिस पूछताछ में जुटी है। इसके बाद ही पूरे मामले का खुलासा हो सकेगा।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned