गेस्ट हाउस में युवक की हत्या, बंद कमरे में मिला सात दिन पुराना शव

वारदात : एफएलएल व एमओबी की टीम की मौजूदगी में खोला गया कमरा, बैडशीट में लिपटा मिला युवक का शव प्रारंभिक पड़ताल में मृतक की पहचान यूपी मुरादाबाद निवासी मोहम्मद माजिद अली साबरी

By: manish Singh

Published: 04 Aug 2021, 01:56 PM IST

अजमेर. होलीदड़ा ईमली मोहल्ला स्थित एक गेस्ट हाउस में बुधवार सुबह उठती दुर्गंध से सनसनीफेल गई। दरगाह थाना पुलिस ने एफएसएल और एमओबी टीम की मौजूदगी में गेस्ट हाउस का कमरा खुलवाया। कमरे में जायरीन युवक का सड़ागाल शव मिला। प्रारंभिक पड़ताल में युवक की हत्या कर बैडशीट में लपेटा गया है। पुलिस ने कमरे की गहनता से पड़ताल के बाद शव को जवाहरलाल नेहरू अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है। पुलिस मामले की पड़ताल में जुटी है।
जानकारी अनुसार बुधवार सुबह दरगाह थाना क्षेत्र में होलीदड़ा ईमली मोहल्ला स्थित जैद गेस्ट हाउस के कमरा नम्बर 110 से दुर्गंध आने पर गेस्ट हाउस संचालक ने दरगाह थाना पुलिस की सूचित किया। गेस्ट हाउस संचालक का नाम की सूचना पर थानाप्रभारी दलबीरसिंह मय जाब्ता पहुंचे। पुलिस को कमरा नम्बर 110 के गेट पर बाहर से ताला जड़ा होने पर संदेह गहरा गया। पुलिस ने मामला संदिग्ध मानते हुए एफएसएल की टीम को सूचना दी। एफएलएल, एमओबी की टीम आने पर कमरा खोला गया। कमरे में बैडशीट में लिपटा युवक का सड़ा गला शव मिला। प्रारंभिक पड़ताल में युवक की हत्या कर शव को बैडशीट में लपेटा गया है। पुलिस मृतक की पहचान का प्रयास कर रही है। पुलिस उप अधीक्षक दरगाह रघुवीर प्रसाद शर्मा पहुंचे। पुलिस ने हत्या का मामला दर्जकर अनुसंधान शुरू कर दिया।

बिजली के तार, दुपटे से गला घोंटा!
पुलिस की प्रारंभिक पड़ताल में युवक की एक्सटेंशन बोर्ड के तार व दुपटे से गला घोंटा गया है। वहीं कमरे में खिड़की का पर्दा व लोहे का पाइप टूटा मिला। संभवत: मृतक ने हत्या से पहले संघर्ष किया। प्रथमदृष्ट्या वारदात 2-3 जनों ने अंजाम दी गई है। पुलिस मामले की गहनता से पड़ताल में जुटी है।

7 दिन पहले आया जायरीन
प्रारंभिक पड़ताल में गेस्ट हाउस में सात दिन पहले यूपी गोदी मुरादाबाद निवासी मोहम्मद माजिद अली साबरीू(33) पुत्र सायद हुसैन ठहरा हुआ था। उससे कुछ लोग मिलने भी आए थे। उसके बाद से कमरे में कोई नहीं आया। पुलिस गेस्ट हाउस के बाहर अन्य प्रतिष्ठानों के सीसीटीवी कैमरे खंगालने में जुटी है।

एफएसएल, फिर एमओबी का इंतजार
बुधवार को दरगाह थाना पुलिस ने घटना की सूचना एफएलएस व एमओबी की टीम को दे दी। सूचना के डेढ़ के घंटे बाद एफएसएल टीम घटनास्थल पर पहुंची। कमरे का ताला एमओबी की टीम की मौजूदगी में खोलने की बात सामने आने पर एमओबी टीम को सूचना दी गई। इस प्रक्रिया में पुलिस को करीब तीन घंटे से ज्यादा इंतजार करना पड़ा।

manish Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned