AMU में लगे नारे ‘कश्मीर की आजादी लेके रहेंगे...इंशाअल्लाह’, अनुच्छेद 370 हटाए जाने खिलाफ प्रदर्शन

AMU में लगे नारे ‘कश्मीर की आजादी लेके रहेंगे...इंशाअल्लाह’, अनुच्छेद 370 हटाए जाने खिलाफ प्रदर्शन
AMU में लगे नारे ‘कश्मीर की आजादी लेके रहेंगे...इंशाअल्लाह’, अनुच्छेद 370 हटाए जाने खिलाफ प्रदर्शन

Amit Sharma | Updated: 06 Sep 2019, 12:46:49 PM (IST) Aligarh, Aligarh, Uttar Pradesh, India

एएमयू में पढ़ रहे कश्मीरी छात्रों के हाथ में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के खिलाफ स्लोगन लिखी हुई तख्तियां थीं। ‘कश्मीर की आजादी का ख्वाब पूरा करेंगे...इंशाअल्लाह’ जैसे नारे भी लगाए गए।

अलीगढ़। अनुच्छेद 370 (Article 370) हटने के बाद अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी , Aligarh Muslim University (एएमयू AMU) में पढ़ रहे कश्मीरी छात्र-छात्राओं (Kashmiri Student) ने विरोध मार्च निकालकर प्रदर्शन किया। एएमयू से आवाज उठाई गई, ‘कश्मीर की आजादी का ख्वाब पूरा करेंगे...इंशाअल्लाह’। हैरानी की बात रही कि एएमयू इंतजामिया कश्मीरी छात्रों से लागातर संपर्क में होने का दावा करता रहा और उसे इस प्रदर्शन की तैयारी की कानों कान खबर भी न हुई। अब एएमयू इंतजामिया की तरफ से प्रदर्शन करने वाले छात्रों को नोटिस देकर कार्रवाई की बात कही जा रही है।

यह भी पढ़ें- एनजीटी की आड़ में प्रशासन की मनमानी, बेड़ियों में जकड़े गरिराज जी, निर्मोही अखाड़ा उतरा विरोध में

गुरुवार को बिना सूचना के हाथों में पोस्टर, बैनर लेकर एएमयू के कश्मीरी छात्र-छात्राएं बाबे सैयद गेट पर पहुंचे। छात्रों के हाथ में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के खिलाफ स्लोगन लिखे हुई तख्तियां थीं। ‘कश्मीर की आजादी का ख्वाब पूरा करेंगे...इंशाअल्लाह’ जैसे नारे भी लगाए गए। यहां मौजूद छात्रा का कहना था कि कश्मीरियों पर जुल्म किया जा रहा है। लोकतंत्र व धर्मनिरपेक्षता का कत्ल किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें- राधा अष्टमी उत्सव में शामिल होने जा रहे श्रद्धालुओँ से भरी बस का एक्सीडेंट, पुलिसकर्मी सहित तीन की मौत

मौजूद छात्र का कहना था कि अपने हक के लिए कश्मीर का बच्चा-बच्चा 70 साल से ढाल बना हुआ है। हम कश्मीर की आजादी का ख्वाब पूरा करेंगे, तब जाकर दम लेंगे। छात्रों का कहना था कि कश्मीर का मसला आज भी वैसा ही है, जैसा 70 साल पहले था। कश्मीरी अपना फैसला स्वयं करेंगे।

यह भी पढ़ें- तीन दिन से भूखी प्यासी कमरे में बंद है नागिन, वन विभाग की टीम भी नहीं निकाल सकी बाहर, देखें वीडियो

छात्र-छात्राओं ने पोस्टर-बैनरों पर घायल लोगों की तस्वीरों को लगाया था, दावा किया जा रहा था किकि ये पैलेट गन से जख्मी हुए लोग हैं। बच्चों पर भी पैलेट गन (pellet gun) दागी जा रही है।

बता दें कि एएमयू में फिलहाल कश्मीर के करीब 1100 छात्र-छात्राएं शिक्षा हासिल कर रहे हैं लेकिन फिलहाल कैंपस में केवल 500 छात्र-छात्राएं ही हैं। बताया जा रहा है कि बाकी छात्र-छात्राएं कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद लौटे ही नहीं हैं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned