By Election 2019 ‘मिनी छपरौली’ में 458 मतदेय स्थलों पर Polling शुरू, जानिए क्या है रुझान

-3.75 लाख मतदाता, शाम छह बजे तक चलेगा मतदान

-सवा लाख जाट वोटरों के रुख पर निर्भर है जीत-हार

-कड़ी सुरक्षा की जा रही, सात बैरियर लगाए गए हैं

अलीगढ़। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में इगलास विधानसभा सीट (Iglas constituency) पर उपचुनाव (By Election 2019 ) हो रहा है। इगलास को ‘मिनी छपरौली’ कहा जाता है। मतदान शुरू हो गया है। शुरुआती रुझान चौंकाने वाले हैं। विपक्ष की हवाइयां उड़ी हुई हैं। 458 मतदेय स्थलों पर 3.75 लाख मतदाता वोटिंग करेंगे। प्रशासन का उद्देश्य है मतदान अधिक से अधिक हो। इगलास की सीमा अलीगढ़, हाथरस और मथुरा जिले से लगती है। सीमा सील कर दी गई है ताकि बाहर के लोग यहां आकर गड़बड़ी न फैला सकें।

भाजपा उत्साहित

इगलास से भाजपा विधायक राजवीर दिलेर हाथरस से सांसद बन गए तो उन्हें सीट छोड़नी पड़ी। इसलिए भाजपा के लिए यह सीट नाक का सवाल बन गई है। यहां से कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी, राष्ट्रीय लोकदल भी चुनाव जीत चुके हैं। रालोद और समाजवादी पार्टी का प्रत्याशी नहीं है। बसपा और कांग्रेस प्रत्याशी जोर लगा रहे हैं। सांगठनिक दृष्टि से बात करें तो भारतीय जनता पार्टी ने मजबूत चक्रव्यूह की रचना है। हर बूथ पर भाजपा कार्यकर्ता हैं।

जाट मतदाता पर सबकी नजर

वह इसलिए कि यहां के जाट मतदाता तय करते हैं चुनाव कौन जीतेगा और कौन हारेगा। करीब सवा लाख जाट मतदाता हैं। जाटों को साधने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने पूरा जोर लगाया था। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की दो सभाएं की गईं। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने चुनाव प्रचार के अंतिम दिन जनसभा की।

ये हैं मुद्दे

आलू किसान, आवारा गौवंश, फसलों का सही दाम न मिलना, आर्थिक मंदी, ये विपक्ष के मुद्दे हैं। भारतीय जनता पार्टी  विकास के साथ जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाना और तीन तलाक के खात्मे के लिए कानू बनाना जैसे मुद्दों पर वोट मांग रही है। ताज्जुब की बात ये है कि इगलास में बिजली, पानी, सड़क, सिंचाई जैसा कोई मुद्दा नहीं है। इस कारण विपक्षी दल परेशान हैं।

ये हैं प्रत्याशी

राजुकमार सहयोगी, भाजपा, निवासी पत्थर मार्केट अलीगढ़

अभय कुमार, बसपा, निवासी केशव नगर, आगरा रोड, अलीगढ़

उमेश दिवाकर, कांग्रेस, निवासी करीरपुर, सादाबाद, हाथरस

मुकेश कमार, लोकदल, निवासी एमलपुर, कोल, अलीगढ़

हरीश धनगर, राष्ट्रीय शोषित समाज पार्टी, निवासी लोहवन, मथुरा
पुष्पेन्द्र सिंह, स्वतंत्र जनता राज पार्टी, निवासी लोधी विहार, सासनी गेट, अलीगढ़

विकास, भारतीय भाईचारा पार्टी, निवासी नुनेर गेट, अलीगढ़

 

एक नजर आकड़ों पर

कुल मतदाता 3,75,813

पुरुष मतदाता 2,01,819

महिला मतदाता 1,73,912

मंगलामुखी मतदाता 10

मतदान केन्द्र 345

मतदेय स्थल 458

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन 860

पिंक मतदेय स्थल 1

मॉडल मतदान केन्द्र 28

संवेदनशील मतदान केन्द्र 12

पीठासीन अधिकारी 2016

जोनल मजिस्ट्रेट 5

सेक्टर मजिस्ट्रेट 50

स्टेटिक मजिस्ट्रेट 180

वीडियो अवलोकन टीम-1
लेखा टीम- 1
मीडिया प्रमाणन और अनुवीक्षण टीम- 1

उड़नदस्ता -03
स्थाई निगरानी टीम-4
व्यय अनुवीक्षण टीम-1
काल सेंटर-1

सुरक्षा इंतजाम
मतदान के दौरान इगलास विधानसभा क्षेत्र में छह कंपनी सीपीएमएफ, 1500 सिपाही, 150 दारोगा, 100 हैड कांस्टेबिल तैनात किए गए हैं। सात बैरियर लगाए गए हैं। जगह जगह पुलिस दस्ता तैनात है।क्या है व्यवस्था
मतदान केन्द्र के अंदर सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति को सुरक्षा गार्ड के साथ प्रवेश नहीं कर सकेगा
मतदान केन्द्र से 200 मीटर की परिधि में किसी भी प्रत्याशी का बस्ता नहीं लगेगा।
मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की सुविधा के लिए प्रतीक्षा कक्ष बनाए गए हैं

मतदाता किसी भी प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह लगाकर मतदान केन्द्र में प्रवेश नहीं कर सकेगा।


दिव्यांग, बुजुर्ग एवं गर्भवती महिलाओं के लिए मतदान केंद्र में विशेष सुविधाएं
दिव्यांगों के लिए प्रत्येक मतदान केन्द्र पर रैम्प एवं ट्राई साइकिल की व्यवस्था

मतगणना नवीन मंडी धनीपुर में 24 अक्टूबर को होगी।

इगलास से अब तक के विधायक
1951-शिवदान सिंह कांग्रेस जीते, राजा बहादुर किशोरी रमण सिंह निर्देल हारे
1957-राजा बहादुर किशोरी रमण सिंह निर्दल जीते, लीडर लक्ष्मी सिंह निर्दल हारे
1959-लीडर लक्ष्मी सिंह निर्दल जीते, शिवदान सिंह कांग्रेस हारे

(उपचुनावः पिटीशन में राजा रमण सिंह को हटाने के बाद)
1962-शिवदान सिंह निर्दल जीते, सोरनलाल शर्मा जनघंस हारे
1967-मोहनलाल गौतम कांग्रेस जीते, शिवदान सिंह निर्दल हारे
1969-गायत्री देवी बीकेडी जीते, मोहनलाल गौतम कांग्रेस हारे
-1974-राजेंद्र सिंह बीकेडी जीते, शंभू सिंह सीपीआई हारे
1977-राजेंद्र सिंह जनता पार्टी जीते, मुख्तयार सिंह कांग्रेस हारे
1980-राजेंद्र सिंह जनता पार्टी जीते, उषा रानी कांग्रेस आई हारीं
1985-राजेंद्र सिंह लोकदल जीते, उदयवीर सिंह कांग्रेस हारे
1989-विजेंद्र सिंह कांग्रेस जीते, राजेंद्र सिंह जनता दल हारे
1991-ज्ञानवती सिंह जनता दल जीते, विक्रम सिंह हिंडौल भाजपा हारे
1993-विजेंद्र सिंह कांग्रेस जीते, विक्रम सिंह हिंडौल भाजपा हारे
1996-मलखान सिंह भाजपा जीते, विजेंद्र सिंह कांग्रेस हारे
2002-विजेंद्र सिंह कांग्रेस जीते, नरेंद्र कुमार दीक्षित बसपा हारे

2004-मुकुल उपाध्याय बसपा जीते, मलखान सिंह रालोद हारे

(उपचुनावःविजेंद्र सिंह के सांसद बनने के बाद)
2007-विमलेश सिंह रालोद जीते, मुकुल उपाध्याय बसपा हारे
2012-त्रिलोकीराम रालोद जीते, राजेंद्र सिंह बसपा हारे
2017-राजवीर दिलेर भाजपा जीते, राजेंद्र कुमार बसपा हारे

2019 उपचुनाव हो रहा है

Show More
Bhanu Pratap Desk/Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned