scriptCrime against women अपहरण के बाद नशीली गोलियां खिलाकर दस दिन तक गैंगरेप, 4 गिरफ्तार | Crime against women Gang rape of minor in Aligarh | Patrika News
अलीगढ़

Crime against women अपहरण के बाद नशीली गोलियां खिलाकर दस दिन तक गैंगरेप, 4 गिरफ्तार

Crime against women फिरौती मांगकर पुलिस को घुमाते रहे और करते रहे नाबालिग का शोषण

अलीगढ़Jul 13, 2024 / 02:49 am

Shivmani Tyagi

Crime against women
Crime against women यूपी के अलीगढ़ में विकृत मानसिकता की हदों को भी पार कर देने वाली घटना सामने आई है। यहां नाबालिग लड़की का अपहरण कर लिया गया। फिर नशीली गोलियां खिलाकर उससे बारी-बारी से रेप किया गया। आरोप है कि दरिंदे दस दिन तक पीड़िता का शोषण करते रहे। मामला खुलने पर चार आरोपियों के गिरफ्तार किया गया है। इनमें से एक नाबालिग है। इस घटना के सामने आने के बाद पीड़िता के परिवार वालों ने आरोपियों के फांसी की सजा दिलाए जाने की मांग की है।

अपहरण के बाद मांगी थी फिरौती

पीड़िता के परिवार वालों ने बताया कि अपहरणकर्ताओं ने बेटी के एवज में फिरौती की मांग की थी। इस पर परिवार वाले पुलिस थाने पहुंचे और पुलिस को पूरी घटना बताई। दस दिन तक उनकी बेटी का कोई पता नहीं चला। थाना क्वार्सी पुलिस के अलावा सर्विलांस टीम भी इस मामले में लगी हुई थी लेकिन आरोपी बेहद शातिर थे और पुलिस को चकमा देते रहे। दस दिन बाद पुलिस इन आरोपियों तक पहुंच पाई। चार आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए पुलिस ने इस मामले का खुलासा किया। उधर पीड़िता ने बताया कि उसके साथ दस तक सामूहिक रूप से दुष्कर्म होता रहा।

ये है पूरा मामला ( Crime against women )

29 जून को अलीगढ़ के क्वार्सी थाने में इसी थाना क्षेत्र का एक परिवार पहुंचा। इस परिवार के सदस्यों ने पुलिस को बताया कि इनकी बेटी गायब है। आरोप लगाया कि बेटी को बहलाफुसलाकर भगा ले गए हैं। पहले पुलिस इस मामले को प्रेम प्रसंग से जोड़कर देखती रही लेकिन जब अपहरणकर्ताओं ने फिरौती मांगी तो पुलिस हरकत में आई और अपहरणकर्ताओं तक जा पहुंची। इसके बाद पीड़िता ने जो बयान दिए उन्हे सुनकर पुलिस भी हैरान रह गई। पीड़िता ने बताया कि उसे हर रोज नशीले पदार्थों की हाइडोज दी जाती थी और फिर उसके साथ दरिंदगी की जाती थी।

पकड़े गए आरोपियों में एक नाबालिग भी

( Saharanpur Police ) पुलिस ने जिन चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है उनमें से एक नाबालिग है। नाबालिग को बाल सुधार गृह भेजा गया है। बाकी तीन ने पुलिस को अपने नाम आकाश पुत्र अमर सिंह निवासी गांव ताजपुरा रसूलपुर, जतिन कुमार पुत्र धर्मपाल सिंह निवासी कांशी राम आवास सारसौल, अंजना चौधरी पुत्री लाला चौधरी निवासी सांई विहार कालोनी बताए हैं। इन सभी को न्यायालय के समक्ष पेश किया गया जहां से इन्हे जेल भेज दिया गया।

Hindi News/ Aligarh / Crime against women अपहरण के बाद नशीली गोलियां खिलाकर दस दिन तक गैंगरेप, 4 गिरफ्तार

ट्रेंडिंग वीडियो