अलीगढ़ कांड: बच्ची को न्याय दिलाने के लिए DCW चेयरमैन स्वाति ने लिखा पीएम मोदी को खत, आरोपियों के ​लिए फांसी की मांग की

अलीगढ़ कांड: बच्ची को न्याय दिलाने के लिए DCW चेयरमैन स्वाति ने लिखा पीएम मोदी को खत, आरोपियों के ​लिए फांसी की मांग की
Demo Pic

suchita mishra | Updated: 12 Jun 2019, 04:17:13 PM (IST) Aligarh, Aligarh, Uttar Pradesh, India

दिल्ली महिला आयोग (Delhi commission for Women) की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद ने भी बच्ची को न्याय दिलाने के लिए कदम उठाया है।

अलीगढ़। टप्पल में ढाई साल की बच्ची की निर्मम हत्या के मामले में तमाम राजनेताओं और अभिनेताओं की प्रतिक्रियाएं सामने आने के बाद दिल्ली महिला आयोग दिल्ली महिला आयोग (Delhi commission for Women) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने भी बच्ची को न्याय दिलाने के लिए कदम उठाया है। उन्होंने इस मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिखा है और आरोपियों के लिए फांसी की सजा की मांग की है।

यह भी पढ़ें
बच्ची के परिवार से मिलने के बाद करणी सेना के अध्यक्ष का फूटा गुस्सा, बोले अगर अपराधियों को नहीं मिली फांसी तो करणी सेना देना जानती है...

बता दें कि अलीगढ़ जिले के टप्पल में ढाई वर्षीय बच्ची का 30 मई को अपहरण हो गया था। 2 जून को उसका शव घर के पास क्षत-विक्षत हालत में कूड़े के ढेर में मिला था। बच्ची की हत्या वीभत्स तरीके से की गई थी। उसका एक हाथ भी गायब था। इस मामले में पुलिस अभी तक कई आरोपितों को गिरफ्तार कर चुकी है। पैसों के लेन देन के विवाद इस घटना को अंजाम दिया गया था। पुलिस के मुताबिक आरोपित जाहिद ने बच्ची के दादा से 50,000 रुपये उधार लिए थे। इनमें से 10 हजार बकाया थे, पैसे नहीं देने पर 28 मई को जाहिद की दादा के साथ कहासुनी हुई। उसने परिवार से बदला लेने की धमकी दी थी। इसके बाद 30 मई को जाहिद ने बच्ची का अपहरण किया और हत्या कर साथी असलम की मदद से शव को ठिकाने लगाया।

यह भी पढ़ें
बच्ची की हत्या के बाद टप्पल में तनाव जारी, इंटरनेट सेवा बंद होने के बाद पहुंचे एडीजी

यह भी पढ़ें
अलीगढ़ हत्या: स्वरा भास्कर ने ढाई साल बच्ची की हत्या पर जताया शोक तो फूट पड़ा यूजर्स का गुस्सा, जमकर सुनायी खरी-खोटी

ये है पूरा घटनाक्रम
- 30 मई को सुबह साढ़े आठ बजे मासूम घर के बाहर खेलते समय गायब।
- 31 मई को टप्पल थाने में पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज की।
- 02 जून को सुबह सात बजे घर से चंद कदम दूर कूड़े के ढेर में शव पड़ा मिला।
- नौ बजे थाने के बाहर सड़क पर शव रखकर आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए ग्रामीणों ने लगाया जाम।
-11 बजे एसएसपी, सांसद, खैर विधायक पहुंचे और ग्रामीणों को समझा-बुझाकर जाम खुलवाया।
- दोपहर दो बजे पोस्टमार्टम हाउस पहुंचा बालिका का शव।
- शाम पांच बजे पोस्टमार्टम।
- सात बजे गांव में पुलिस की कड़ी सुरक्षा में अंतिम संस्कार।
- देर रात लापरवाही बरतने वाले इंस्पेक्टर टप्पल को किया लाइन हाजिर।
- 3 जून को दोषियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर धरना-प्रदर्शन।
- 4 जून को आरोपित जाहिद व असलम की गिरफ्तारी।
- सासंद व खैर विधायक ने ग्रामीणों को जूस पिलाकर धरना खत्म कराया।
- 5 जून को दोनों आरोपितों को पुलिस ने जेल भेजा।
- 6 जून को सोशल मीडिया पर छाया टप्पल प्रकरण।
- देर रात एसएसपी ने तत्कालीन इंस्पेक्टर टप्पल, तीन दारोगा व एक सिपाही निलंबित किया।
- 7 जून को एसआइटी जांच के साथ आरोपितों पर एनएसए व पॉक्सो एक्ट में कार्रवाई की घोषणा।
- देशभर में सोशल मीडिया पर लोगों की प्रतिक्रियाओं ने जोर पकड़ा।
- 8 जून को दो अन्य हत्यारोपी जाहिद की पत्नी शगुफ्ता और जाहिद का भाई मेंहदी हसन गिरफ्तार।
- 9 जून को ‘टप्पल चलो’ आह्वान के बाद पुलिस ने अलीगढ़ की सीमाएं सील कीं।
-टप्पल में हत्यारोपियों को फांसी की मांग को लेकर अलीगढ़-पलवल मार्ग और यमुना एक्सप्रेस वे पर जाम लगाया।
-पुलिस ने साध्वी प्राची को जेवर से लौटा दिया। अलीगढ़ में नहीं घुसने दिया। महापंचायत नहीं हो सकी।
- 10 जून को टप्पल में तनाव के चलते इंटरनेट सेवा बंद की गई। अपर पुलिस महानिदेशक अजय आनंद ने पीड़ित परिवार से भेंट की। आक्रोश जारी।
- 11 जून को टप्पल के बाजार खुले लेकिन तनाव बरकरार।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned