मुस्लिम फोरम ने संवेदनशील अलीगढ़ के लिए इस हिन्दूवादी संगठन को बताया खतरा

मुस्लिम फोरम ने संवेदनशील अलीगढ़ के लिए इस हिन्दूवादी संगठन को बताया खतरा

Amit Sharma | Publish: Dec, 18 2017 05:35:17 PM (IST) Aligarh, Uttar Pradesh, India

मुस्लिम फोरम ने एसएसपी से मांग की है एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जाए।

अलीगढ़। फोरम फॉर मुस्लिम स्टडीज एण्ड एनालिसिस (एफ॰एम॰एस॰ए॰) का कहना है कि हिन्दू जागरण मंच संवेदनशील अलीगढ़ के लिए कानून व्यवस्था के लिए खतरा है। हिन्दू जागरण मंच ने 25 दिसम्बर को क्रिसमस पर कार्यक्रम न करने की चेतावनी दी है। इस बारे में हिन्दू जागरण मंच ने स्कूल-कॉलेजों को पत्र भी भेजे हैं।

25 दिसम्बर को दी है चेतावनी
फोरम फॉर मुस्लिम स्टैडीज एण्ड एलालिसिस (एफ॰एम॰एस॰ए॰) के निदेशक डॉ. जसीम मोहम्मद ने एसएसपी भेजे पत्र में कहा है- अलीगढ़ जनपद विशेष रूप से अलीगढ़ नगर साम्प्रदायिक रूप से अति संवेदनशील नगर है। अलीगढ़ शिक्षा, व्यापार तथा उद्योग का केन्द्र भी है, जो राज्य और देश की अर्थ व्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान देता है। मीडिया में आए समाचारों के अनुसार हिन्दू जागरण मंच ने अलीगढ़ नगर के स्कूलों एवं विद्यालयों को पत्र भेज कर चेतावनी दी है कि वे 25 दिसम्बर को ईसाई धर्म के लोगों द्वारा मनाए जाने वाले क्रिसमस के त्योहार पर कार्यक्रम आयोजित न करें, अन्यथा विरोध किया जाएगा।

शांति व्यवस्था के लिए खतरा
पत्र में कहा गया है कि विद्यालयों में छात्र-छात्राओं को देश के धर्मनिरपेक्ष संविधान के अनुरूप सांझी संस्कृति के प्रति प्रोत्साहित किया जाता है। इसलिए प्रत्येक धार्मिक वर्गों के त्योहार जैसे दीवाली, होली, ईद आदि त्योहार मनाए जाते हैं। इसी प्रकार क्रिसमस त्योहार भी आयोजित किया जाता है, जिसमें छात्र-छात्राएं रुचि भी लेते हैं। हिन्दू जागरण मंच द्वारा इस प्रकार विद्यालयों को क्रिसमस न मनाने की चेतावनी देना न केवल देश के संविधान और कानून के विरुद्ध है, बल्कि अलीगढ़ नगर में कानून व्यवस्था तथा शान्ति के लिए भी खतरा है।

कार्रवाई की मांग
पत्र में कहा गया है कि हिन्दू जागरण मंच अलीगढ़ नगर में क्रिसमस के बहाने धार्मिक उन्माद की ओर धकेल रहा है, जो कि सर्वथा अनुचित एवं गैरकानूनी है। मांग की है कि हिन्दू जागरण मंच के पदाधिकारियों के विरुद्ध तत्काल एफ॰आई॰आर॰ दर्ज करके कानून सम्मत कार्यवाही की जाए, ताकि अलीगढ़ नगर की शान्ति व्यवस्था कायम रहे।

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned