कठुआ कांड पर आया हिन्दू महासभा का बड़ा बयान, कहा बलात्कारी का नहीं होता कोई धर्म

Dhirendra yadav

Publish: Apr, 17 2018 08:56:21 PM (IST)

Aligarh, Uttar Pradesh, India
कठुआ कांड पर आया हिन्दू महासभा का बड़ा बयान, कहा बलात्कारी का नहीं होता कोई धर्म

दुष्कर्म करने वालों को मिले सिर्फ मौत की सजा, राष्ट्रपति के नाम दिया ज्ञापन।

अलीगढ़। अखिल भारत हिंदू महासभा ने नाबालिक बच्चों के साथ बढ़ते अपराध को लेकर राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन सौंपा। कठुआ में आठ साल की बच्ची के साथ हुआ दुष्कर्म देश की सुर्खी में बना हुआ है। हिन्दू महासभा ने कहा कि बलात्कारी का कोई धर्म नहीं होता, लेकिन इस घटना को लेकर धर्म विशेष का प्रचार किया जा रहा है और इस को तूल दिया जा रहा है । अलीगढ़ में भी थाना पिसावा में 5 साल की बच्ची से दुष्कर्म किया गया, जिसमें एक वर्ग विशेष के युवक को गिरफ्तार किया गया, लेकिन यह मुद्दा मीडिया की सुर्खियों में नहीं बना।

पक्षपात के परिणाम होंगे गंभीर
हिन्दू महासभा के प्रवक्ता ने कहा कि समाज के बुद्धिजीवी लोग पक्षपात करेंगे और यहां पर हिंदू मुस्लिम देखेंगे, तो इसके दुष्परिणाम बहुत होंगे। हिंदू महासभा के प्रवक्ता ने कहा कि हमने राष्ट्रपति महोदय को संबोधित ज्ञापन सौंपा है और मांग की है कि 5 साल या नाबालिग बच्चों से बलात्कार करने वाले बलात्कारी को कानून में बदलाव करके फांसी की सजा दी जाए। ऐसे मामले को लंबित ना रखा जाए और तुरंत ट्रायल कर के डिसीजन दिया जाना चाहिए। हिन्दू महासभा ने ज्ञापन के जरिए मांग की है कि पीड़ित परिवार को दस लाख रुपए का मुआवजा दिया जाना चाहिए। वहीं उन्नाव की घटना पर कहा कि एक राजनीतिक षड्यंत्र भी हो सकता है।

लोगों को भी सोचने की जरूरत
हिन्दू महासभा ने कहा कि जम्मू कश्मीर से अलीगढ़ तक बच्चों के साथ दुष्कर्म हो रहा है और इस मुद्दे पर लोग हिंदू - मुस्लिम की बात कर रहे हैं । लोगों को सोचना होगा कि अगर कठुआ में भगवा आतंकवाद है तो अलीगढ़ में भी मुस्लिम युवक ने दुष्कर्म किया है, इसे कौन सा रंग से देखा जाए। हिन्दू महासभा के पदाधिकारी ने कहा कि बलात्कारी का और आतंकवादी का ना तो कोई मजहब होता है ना ही धर्म होता है, लेकिन उस के समर्थन में जब कोई उतरता है तो यह शर्मनाक बात है। हिंदू महासभा ने कहा कि बलात्कार पर जो लोग राजनीति कर रहे हैं यह गलत है।

Ad Block is Banned