दहेज प्रताड़ना से परेशान होकर मायके रह रही विवाहिता को पति ने बेहोशी का इंजेक्शन लगाया, फिर पेट्रोल छिड़ककर जिंदा जला दिया...

दहेज प्रताड़ना से परेशान होकर मायके रह रही विवाहिता को पति ने बेहोशी का इंजेक्शन लगाया, फिर पेट्रोल छिड़ककर जिंदा जला दिया...
Demo Pic

suchita mishra | Updated: 08 Aug 2019, 12:50:19 PM (IST) Aligarh, Aligarh, Uttar Pradesh, India

पति ने बड़े भाई और पिता के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया।

अलीगढ़। गंगीरी थाना क्षेत्र के गांव नगला हिमाचल में एक विवाहिता को उसके पति ने इलाज के बहाने इंजेक्शन लगाकर बेहोश किया फिर पेट्रोल छिड़ककर आग के हवाले कर दिया। दहेज प्रताड़ना से परेशान होकर महिला करीब डेढ़ माह पहले मायके आ गई थी। उसका पति भी उसके मायके में उसके साथ रह रहा था। मंगलवार रात पति बर्ताव बदल गया और उसने पिता और बड़े भाई के साथ मिलकर घटना को अंजाम दे डाला। आग देख जब विवाहिता के परिजनों ने शोर मचाया तो गांव वाले इकट्ठे हो गए। ये देख तीनों लोग मौके से भाग गए। हालांकि ग्रामीणों ने महिला के ससुर को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। फिलहाल मृतका के पिता ने उसके ससुरालीजनों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया है।

ये है मामला
गांव नगला हिमाचल निवासी रनवीर सिंह पुत्र मलखान सिंह की छह संतानों में सबसे बड़ी बेटी सीमा की शादी चार साल पहले थाना दादों के गांव नगरिया जाहर निवासी विजेंद्र सिंह के पुत्र रवि के साथ हुई थी। रनवीर सिंह के मुताबिक शादी में ससुरालीजनों को यथासंभव दहेज दिया गया। लेकिन कुछ समय बाद ससुराल पक्ष के लोग सीमा से एक लाख रुपये, एक भैंस, सोने की अंगूठी व जंजीर की मांग करने लगे। इसके लिए आए दिन उसे प्रताड़ित किया जाता था। परेशान होकर डेढ़ माह पहले वो अपने पति के मायके आकर रहने लगी।

रवि ने एक माह पूर्व नगला हिमाचल से करीब डेढ़ किलो मीटर दूर गांव नौगवां में डॉक्टरी की दुकान खोल ली। हालांकि उसके पास डॉक्टरी की कोई डिग्री नहीं है। मंगलवार रात अचानक उसके बर्ताव में बदलाव आ गया। वो अपने विजेंद्र सिंह व बड़े भाई सतीश को लेकर ससुराल पहुंचा। सीमा की तबियत खराब थी। तीनों सीमा के कमरे में जाकर बातचीत करने लगे। कुछ देर बाद पति रवि ने इलाज का बहाने बेहोशी का इंजेक्शन लगा दिया। इसके बाद पेट्रोल डाल कर उसे जिंदा आग के हवाले कर दिया। घर में मौजूद सीमा के भाई व बहन के शोर मचाने पर ग्रामीण इकट्ठे हो गए। इस दौरान तीनों भागने लगे तो ग्रामीणों ने सीमा के ससुर को पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने सीमा को मेडिकल कॉलेज पहुंचाया, जहां उसकी मौत हो गई।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned