अंतरराष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव में मंगलायतन विश्वविद्यालय की ये दो फिल्में सराही गईं

अंतरराष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव में मंगलायतन विश्वविद्यालय की ये दो फिल्में सराही गईं

Amit Sharma | Publish: Nov, 22 2018 07:03:26 PM (IST) Aligarh, Aligarh, Uttar Pradesh, India

चार दिवसीय फिल्म फेस्टिवल में मंगलायतन विवि, अलीगढ़ के जनसंचार एवं पत्रकारिता विभाग के छात्रों ने भी भाग लिया है।

अलीगढ़। मंगलायतन विश्वविद्यालय के जनसंचार एवं पत्रकारिता विभाग के छात्रों द्वारा बनाई गई शॉर्ट फिल्मों की स्क्रीनिंग देहरादून में चल रहे इंटरनेशनल किड्स फ़िल्म फेस्टिवल में की गई। लोगों ने विवि के छात्रों द्वारा बनाई गई फिल्म एहसास और मासूम को खूब सराहा।

दो फिल्में दिखाईं

देहरादून में स्थित आईआरडीटी ऑडीटोरियम में 20 से 23 नवम्बर तक इंटरनेशनल किड्स फिल्म फेस्टिवल व वर्कशॉप चल रहा है। चार दिवसीय इस फिल्म फेस्टिवल में मंगलायतन विवि के जनसंचार एवं पत्रकारिता विभाग के छात्रों ने भी भाग लिया है। फेस्टिवल में छात्रों द्वारा बनाई गई फिल्म एहसास और मासूम की ऑडीटोरियम में स्क्रीनिंग की गई। वहां मौजूद अन्य विश्वविद्यालयों से आए छात्रों ने देखा और कई छात्रों ने फ़िल्म पर अपने विचार रखे।

Mangalayatan university

उत्साहवर्धन किया

ऑडीटोरियम में मौजूद सभी लोगों को मासूम फ़िल्म बेहद पसंद आई। सभी ने तालियां बजाकर वहां मौजूद विवि के छात्र दिव्यम श्रीवास्तव, अलीशा सिद्दीकी, आयुषी रायजादा और नेहा चैधरी व फ़िल्म का छायांकन करने वाले चंद्रिल कुलश्रेष्ठ का उत्साह वर्धन किया। फ़िल्म के निर्देशक और विवि के छात्र दिव्यम श्रीवास्तव व फ़िल्म का छायांकन करने वाले चंद्रिल कुलश्रेष्ठ ने सभी को फिल्म के निर्माण के संबंध में अपने अनुभव साझा किये। फिल्म मासूम में नैरेशन करने वाली छात्रा प्रिया सिंह की आवाज को भी काफी सराहा गया।

film

फिल्म निर्माण के लिए प्रेरित किया

पंचम वेद क्रियेशंस चैरिटेबल ट्रस्ट और देहरा आर्ट होम्स के तत्वावधान में आयोजित फ़िल्म फेस्टिवल में मौजूद एग्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर अरमान कपूर ने बच्चों के हुनर की काफी तारीफ की। भविष्य में फिल्म निर्माण के लिए प्रेरित किया। फेस्टिवल में विशेषज्ञ की भूमिका में श्रीश डोभाल ने फ़िल्म की प्रशंसा करते हुए छात्रों को बेहतर फिल्म निर्माण के लिए कुछ टिप्स भी दिये। कार्यक्रम में विशेषज्ञ के रूप में मौजूद रंगमंच कलाकार संजय बढोणी ने भी छात्रों की रचनात्मकता की तारीफ की।

35 देशों की 100 फिल्म

पंचम वेद संस्था के अध्यक्ष अनुराग वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि करीब 35 देशों की सौ से अधिक फिल्में इस फिल्म फेस्टिवल में दिखाई जायेंगी। 10 दिसम्बर तक चलने वाले इस महोत्सव में सिनेमा से जुड़े हर क्षेत्र के विशेषज्ञ बच्चों की जिज्ञासाओं और प्रश्नों को पूरा करेंगे। उनकी टीम के साथ दून यूनिवर्सिटी व अन्य यूनिवर्सिटी से फ़िल्म फेस्टिवल और वर्कशॉप में प्रतिभाग कर रहे छात्र भी मौजूद रहे। छात्रों की इस प्रशंसनीय पहल पर विवि के कुलपति प्रो0 केवीएसएम कृष्णा, कुलसचिव अजीत सिंह, जनसंचार एवं पत्रकारिता विभाग के डीन व निदेशक, विभागाध्यक्ष मनीषा उपाध्याय, मयंक जैन आदि ने बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned