Aligarh: किशोरी की हत्या के बाद आगजनी और पथराव, तीन युवक पुलिस हिरासत में

Highlights

- अलीगढ़ जिले के अकबराबाद थाना क्षेत्र के एक गांव की घटना

- अलीगढ़ में किशोरी के हत्यारों की तलाश में रातभर खेतों में दौड़ी पुलिस

- - परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने हत्या और दुष्कर्म का केस दर्ज किया

By: lokesh verma

Published: 01 Mar 2021, 10:20 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
अलीगढ़. यूपी के अलीगढ़ जिले के अकबराबाद थाना क्षेत्र के एक गांव में 16 वर्षीय किशोरी का अर्द्धनग्न शव खेत में मिलने के बाद जमकर बवाल, आगजनी और पथराव हुआ। बताया जा रहा है कि किशोरी खेत से चारा लेने गई थी। दोपहर बाद हत्या कर उसका शव खेत में फेंक दिया गया। देर शाम जैसे ही परिजनों को किशोरी का शव मिला तो ग्रामीण आक्राेशित हो गए। ग्रामीणाें ने गैंगरेप के बाद हत्या का आरोप लगाते हुए देर रात तक बवाल काटा और पुलिस पर पथराव करते आगजनी भी की गई। इस पथराव में गंगीरी कोतवाली प्रभारी प्रमेंद्र घायल हो गए। ग्रामीणों को समझाने के बाद रात करीब साढ़े 10 बजे किशोरी के शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया जा सका। इसके बाद पुलिस की टीम रातभर खेत में सबूत खोजती रही। पुलिस ने सोमवार सुबह परिजनों की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ हत्या व दुष्कर्म की धाराओं में केस दर्ज किया है। इसके साथ ही पुलिस ने तीन युवकों को हिरासत में भी लिया है।

यह भी पढ़ें- पानी में बहकर आई बच्चे की लाश, पुलिस पहचान में जुटी

दरअसल, किशोरी 11 वर्ष से अपनी नानी के साथ गांव में रह रही थी। मृतक किशोरी की नानी ने बताया कि नातिन रविवार दोपहर करीब 12 बजे खेत से पशुओं का चारा लेने के लिए गई थी। जब वह ढाई बजे तक भी घर नहीं लौटी तो बुजुर्ग ने ग्रामीणों के साथ उसकी तलाश शुरू की। शाम को करीब छह बजे किशोरी का अर्द्धनग्न शव खेत से आधा किलोमीटर दूर पड़ा मिला। ग्रामीणों के अनुसार, उसकी मुंह या गला दबाकर हत्या की गई है। ग्रामीणों का आरोप है कि गैंगरेप के बाद पहचाने जाने के डर से आरोपियों ने उसकी हत्या की है। इसके बाद ग्रामीणों ने हंगामा करना शुरू कर दिया।

ग्रामीणों के हंगामे की सूचना मिलते ही रात को ही एसएसपी मुनिराज, एसपी देहात और बरलासीओ समेत कई थानों की पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई। आलाधिकारियों ने ग्रामीणों को जांच के बाद दोषियों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया, लेकिन जैसे ही पुलिस ने किशोरी का शव उठाया तो ग्रामीण भड़क गए और पुलिस अधिकारियों के साथ झड़प करते हुए पथराव शुरू कर दिया। पथराव के दौरान सिर में पत्थर लगने से इंस्पेक्टर गंगीरी प्रवेंद्र सिंह जख्मी हो गए। इसके बाद पुलिस ने किसी तरह स्थिति को संभाला और किशोरी के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। ग्रामीणों ने पहले हत्यारोपियों को गिरफ्तार करने फिर शव ले जाने की मांग की। इस दौरान ग्रामीणों ने पुलिस का रास्ता रोकने का प्रयास किया और अधिकारियों की कार जाने लगी तो आगजनी कर दी।

एसएसपी मुनिराज ने बताया कि पुलिस किशोरी की हत्या की जांच कर रही है। ग्रामीणों ने पड़ोस के गांव में रहने वाले दो युवकों पर शक जाहिर किया है। घटना की जांच के लिए पुलिस की पांच टीमों का गठन किया गया है। पुलिस हर एंगल से घटना की जांच में जुटी है। पुलिस ने इस मामले में हत्या और दुष्कर्म की धाराओं में परिजनों की तहरीर पर केस दर्ज किया है। साथ ही गांव के तीन युवकों को भी हिरासत में लिया गया है। वहीं, युवकों के परिजनों ने उन्हें छोड़ने की गुहार लगाई है। परिजनों का कहना है कि उनके बच्चे रविवार शाम छह बजे ही आगरा से सेना भर्ती से लौटे हैं। पुलिस ने उन्हें जल्द छोड़ने का आश्वासन दिया है।

यह भी पढ़ें- 18 मंडलों की 18 खबरें जो आपको बताएंगी पूरे यूपी का का हाल

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned