विनय कटियार का बयान संविधान विरोधी: मुस्लिम फोरम

सांसद विनय कटियार के विरूद्ध भारतीय दण्ड संहिता की धारा 505 तथा धारा 298 के अन्तर्गत कार्रवाई की मांग की गई है।

By: अमित शर्मा

Published: 10 Feb 2018, 07:07 PM IST

अलीगढ़। फोरम फॉर मुस्लिम स्टडीज एण्ड एनालिसिस (एफएमएसए) ने सांसद विनय कटियार के बयान पर प्रतिक्रिया दी।विनय कटियार ने कहा था कि मुसलमानों को जब अलग भू-भाग दे दिया गया तो वे भारत मे क्यों रहते हैं? वे पाकिस्तान और बंगलादेश क्यों नहीं जाते? मुस्लिम फोरम ने इस सम्बन्ध में राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग में राज्यसभा सांसद विनय कटियार के विरूद्ध शिकायत दर्ज कराने मांग की है। फोरम फॉर मुस्लिम स्टडीज एण्ड एनालिसिस के निदेशक डा जसीम मोहम्मद ने कहा कि राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग विनय कटियार सांसद के विरूद्ध भारतीय दण्ड संहिता की धारा 505 तथा धारा 298 के अन्तर्गत प्रथम सूचना रिर्पोट दर्ज कराये।


मोदी को छवि को किया धूमिल

इस सम्बन्ध में फोरम फॉर मुस्लिम स्टडीज एण्ड एनालिसिस के निदेशक डा जसीम मोहम्मद ने बताया कि सांसद विनय कटियार ने हैदराबाद के सांसद असदउद्दीन उवैसी के बयान की प्रतिक्रिया में कहा कि जब एक बार मुसलमानों ने धर्म के आधार पर देश का बंटवारा करा लिया तो वे क्यों भारत में हैं? वे क्यों नहीं पाकिस्तान और बंगलादेश जाते? डा जसीम मोहम्मद ने कहा कि विनय कटियार का बयान संवैधानिक प्रावधानों के खिलाफ है जिसमें सभी धर्मों के लोगों को भारत में निवास करने का अधिकार दिया गया है। उन्होंने कहा कि एक तरफ प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी देश के सभी वर्गों को साथ लेकर भारत के विकास के लिए प्रयत्नशील हैं वहीं विनय कटियार के इस बयान से न केवल देश बल्कि अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर नकारात्मक सन्देश गया है तथा प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी की विकासशील नीतियों और योजनाओं को झटका लगा है।


अल्पसंख्यक आयोग को लिखा पत्र

डा जसीम मोहम्मद ने कहा कि उन्होंने मुस्लिम फोरम की ओर से राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग को पत्र के माध्यम से विनय कटियार के खिलाफ शिकायत दर्ज की है जिसमें राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग से मांग की गई है कि वह विनय कटियार के संविधान विरोधी भड़काऊ बयान का संज्ञान लेकर उनके विरूद्ध भारतीय दण्ड सहिता की धारा 505 (जनता में अशान्ति फैलाने वाला बयान) तथा धारा 298 (जानबूझकर धार्मिक भावनाओं को आहत करना) के अन्तर्गत दिल्ली में प्राथमिकी दर्ज कराये तथा विनय कटियार को नोटिस जारी करे।


अमित शाह को भी लिखा पत्र

डा जसीम मोहम्मद ने कहा कि विनय कटियार का बयान देश की सामाजिक और धार्मिक एकता, साम्प्रदायिक सौहार्द तथा शान्ति के लिए खतरा है। उन्होंने कहा कि मुस्लिम फोरम को आशा है कि राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग इस सम्बन्ध में त्वरित कार्रवाई करेगा और विनय कटियार संसद सदस्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराके कानून सम्मत उचित कार्रवाई करेगा।

डा जसीम मोहम्मद ने आयोग के अलावा भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह को भी पत्र लिखकर संगठनात्मक अनुशासन पर कार्रवाई करने की मांग की है और राज्यसभा स्पीकर एम वैंकय्या नायडू से कारण बताओ नोटिस हेतु सांसद पर कार्रवाई करने की मांग की गई है।

Amit Shah BJP bjp leader
Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned