AMU के शताब्दी समारोह में शिरकत कर कल इतिहास रचेंगे PM Modi, डाक टिकट भी करेंगे जारी

Highlights

- Aligarh Muslim University की स्थापना दिवस के शताब्दी समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होंगे पीएम मोदी

- पीएम मोदी एएमयू के कार्यक्रम में 56 साल बाद शामिल होने वाले पहले प्रधानमंत्री बनेंगे

- शताब्दी समारोह को यादगार बनाने के लिए एएमयू की इमारतों को दुल्हन की तरह सजाया गया

By: lokesh verma

Published: 21 Dec 2020, 04:19 PM IST

अलीगढ़. पीएम मोदी (PM Modi) मंगलवार 22 दिसंबर को एएमयू (AMU) के शताब्दी समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करेंगे। सुबह 11 बजे पीएम मोदी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। बताया जा रहा है कि इस दौरान पीएम मोदी एक डाक टिकट भी जारी करेंगे। कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल के साथ विश्वविद्यालय के कुलपति शसैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन भी मौजूद रहेंगे।

यह भी पढ़ें- गायों की मौत पर प्रियंका गांधी ने योगी सरकार को लिखा पत्र, गोरक्षा में प्रदेश की भाजपा सरकार पूरी तरह विफल

उल्लेखनीय है कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की स्थापना के सौ वर्ष पूरे हो गए हैं। इसके उपलक्ष्य में शताब्दी समारोह (Centenary Celebrations) का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें पीएम मोदी का ऑनलाइन (Online) संबोधन होगा। कार्यक्रम को लेकर इंतजामिया कमैटी ने तैयारियां पूरी कर ली हैं। बता दें कि इसके साथ ही पीएम मोदी एएमयू के कार्यक्रम में 56 साल बाद शामिल होने वाले पहले प्रधानमंत्री बन जाएंगे। 56 वर्ष पहले एएमयू के दिक्षांत समारोह में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय लाल बहादुर शास्त्री ने शिरकत की थी। कोरोना संक्रमण के कारण एएमयू में होने वाला यह कार्यक्रम वर्चुअल तरीके से आयोजित होगा।

रंग-बिरंगी लाइटों से रोशन हुई एएमयू

शताब्दी समारोह को यादगार बनाने के लिए एएमयू की इमारतों को दुल्हन की तरह खूबसूरत तरीके से सजाया गया है। एएमयू में विश्वविद्यालय प्रशासनिक ब्लॉक, यूनिवर्सिटी मस्जिद, विक्टोरिया गेट, स्ट्रेची हाल और सेंटेनरी गेट को भी रंग-बिरंगी लाइटों से सुसज्जित किया गया है। तरह-तरह की रंग-बिरंगी रोशनियों से नहाया एएमयू का नजारा देखते ही बन रहा है।

17 दिसंबर 1920 में बनी एएमयू

बता दें कि मुहम्मद एंग्लो-ओरिएंटल कॉलेज को राजपत्र अधिसूचना के बाद 1 दिसंबर 1920 को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी बनाया गया था। 17 दिसंबर 1920 को तत्कालीन कुलपति मुहम्मद अली मुहम्मद खान राजा महमूदाबाद ने एएमयू का विश्वविद्यालय के रूप में उद्घाटन किया था। अलीगढ़ में विश्वविद्यालय का परिसर 467.6 हेक्टेयर भूमि पर फैला हुआ है। इसके अलावा इसके तीन अन्य कैम्पस मुर्शिदाबाद-जंगीपुर (पश्चिम बंगाल), मलप्पुरम (केरल) और किशनगंज (बिहार) में भी हैं।

यह भी पढ़ें- यूपी ग्राम पंचायत चुनाव 2020 : अंतिम मौका, नहीं तो ये 142 ग्राम प्रधान नहीं लड़ सकेंगे चुनाव, नोटिस जारी

pm modi PM Narendra Modi
Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned