सर्विस सलेक्शन कमीशन नहीं, बल्कि स्लो सर्विस कमीशन है एसएससी

वर्ष 2015 की परीक्षा का रिजल्ट अब तक नहीं आने के कारण इस्लामिक आॅर्गेनाईजेशन ने एसएससी को स्लो सर्विस कमीशन कहा है।

By: suchita mishra

Updated: 13 Mar 2018, 12:21 PM IST

अलीगढ़। जिले में स्टूडेंट इस्लामिक आॅर्गेनाईजेशन ने एसएससी की परीक्षा में धांधली को लेकर मानव श्रृंखला बना कर केन्द्र सरकार से कार्रवाई की मांग की है। इस्लामिक आॅर्गेनाईजेशन ने कहा है कि 17 फरवरी से 22 फरवरी तक होने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं के उत्तर सोशल मीडिया पर वायरल होने की जानकारी साफ तौर पर मिलने पर भी कर्मचारी चयन आयोग ने परीक्षा को कुछ तकनीकी कमी का हवाला देते हुए दो घंटे देर से कराया। जब परीक्षार्थियों ने इसका विरोध करते हुए प्रदर्शन किया, तब जाकर परीक्षा को निरस्त किया गया। वहीं वर्ष 2015 की परीक्षा का रिजल्ट अब तक नहीं आने के कारण इस्लामिक आॅर्गेनाईजेशन ने एसएससी को सर्विस सलेक्शन कमीशन के बदले स्लो सर्विस कमीशन कहा है।

छात्रों का कहना है कि SSC की परीक्षाओं में होने वाली धांधली बेहद विचारणीय है। स्टूडेंट इस्लामिक आॅर्गेनाईजेशन के इस मुद्दे पर सरकार को तुरंत संज्ञान में लेना चाहिए। इस्लामिक आॅर्गेनाईजेशन ने इसकी कड़ी निंदा की है। देशभर में प्रदर्शन के बाद सरकार ने एसएससी परीक्षाओं की सीबीआई की जांच के आदेश दिए हैं। वहीं आयोग अभी भी परीक्षा में धांधली को मानने के लिए तैयार नहीं है। दिल्ली स्थित कर्मचारी चयन आयोग के कार्यालय के बाहर लगातार प्रदर्शन जारी है, परीक्षार्थी सड़क पर हैं। वहीं सरकार का रवैया परीक्षार्थियों के प्रति गंभीर नहीं है। सरकार द्वारा सीबीआई जांच का आदेश देकर समस्या को हल मान लिया गया है, जबकि परीक्षार्थियों की बात को सरकार ने केवल आंशिक रूप से ही माना है।

छात्रों का कहना है कि SSC की सभी परीक्षाओं की CBI जांच होनी चाहिए और यह कोर्ट की निगरानी में हो। छात्रों ने बताया कि प्रतियोगी परीक्षाओं में धांधली से संबंधित यह पहली घटना नहीं है। पहले भी छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ किया जाता रहा है।

इस मामले में एसआईओ के पश्चिमी यूपी प्रभारी अहसानुल हक ने कहा कि लम्बित वैकंसी को भरने के लिए कोर्ट ने आदेश दे रखा है लेकिन सरकार कोर्ट के आॅर्डर को नहीं मानती है। रोजगार पाने के लिए छात्र सड़क पर बैठे हैं, लेकिन सरकार खामोश बैठी है। धरना प्रदर्शन करने पर वेकैंसी खत्म करने की धमकी दी जाती है। इस्लामिक आर्गेनाइजेशन के अध्यक्ष ने कहा कि एसएससी का मतलब स्लो सर्विस कमीशन है, हम ऐसा इसलिए कहते है क्योंकि 2015 के परीक्षा का रिजल्ट अभी तक नहीं निकला है। एसएससी की परीक्षा में क्या धांधली हुई सरकार को नहीं पता, लेकिन छात्रों ने धांधली की बात पकड़ी। ये काम छात्रों का नहीं है, कि वे धांधली को पकड़े। अगर सरकार छात्र को रोड पर लायेगी, तो वो दिन दूर नहीं जब छात्र भी सरकार को रोड पर ले आएंगे।

Show More
suchita mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned