भाजपा जिलाध्यक्ष के बिगड़े बोल, कांग्रेस विधायक को कहा सूर्पनखा

- बड़वानी भाजपा जिलाध्यक्ष सोनी ने तोड़ी मर्यादा
- विधायक कलावती को कहा सूर्पनखा
- कांग्रेसी में आक्रोश, कार्रवाई नहीं होने पर जिला बंद की घोषणा
- एसपी कार्यालय का घेराव कर चूडिय़ा व साड़ी भेट करने की दी चेतावनी

By: Hitendra Sharma

Published: 16 Feb 2021, 08:42 AM IST

आलीराजपुर. मध्य प्रदेश में नेताओं के बयानों में फिर से मर्यादा तार-तार होने लगी है। अब बीजेपी जिला अध्य़क्ष के बिगड़े बोल। बडवानी भाजपा जिलाध्यक्ष ओम सोनी ने जोबट में आयोजित कार्यक्रम में मंच से जोबट विधायक कलावती भूरिया के खिलाफ विवादित बयानबाजी की थी। अब कांग्रेस इस मामले को लेकर विरोध दर्ज करा रही है। सोमवार को बीजेपी अध्यक्ष के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग को लेकर पुलिस कंट्रोल रूम अजाक थाने के सामने विरोध-प्रदर्शन कर करीब तीन घंटे तक चक्काजाम किया गया। इस दौरान कांग्रेस नेताओं की पुलिस अधिकारियों से कई बार बहस भी हुई।

कांग्रेस जिलाध्य़क्ष महेश पटेल ने सोनी पर एफआईआर दर्ज ना होने को लेकर जिला बंद करने के साथ ही एसपी कार्यालय का घेराव कर नवागत एसपी को साड़ी और चूडिय़ां भेंट करने की चेतावनी भी दी। इस दौरान विधायक मुकेश पटेल सहित बडी संख्या मे कांग्रेसी नेता और कार्यकर्ता उपस्थित थे। करीब 3 घंटे तक चले चक्काजाम के बाद एएसपी बिटटू सहगल, एसडीओपी धीरज बब्बर, जोबट एसडीएम श्यामवीरसिंह, आलीराजपुर एसडीएम लक्ष्मी गामड़ व तहसीलदार केएल तिलवारे ने कांग्रेस के नेताओं से बंद कमरे में चर्चा कर कार्रवाई करने का आश्वासन देते हुए चक्काजाम समाप्त करने का निवेदन किया। इसके बाद चक्काजाम समाप्त हुआ।

 

0_3.png

एफआइआर नहीं हुई तो धरने से नहीं उठेंगे
चक्काजाम के पूर्व जिला कांग्रेस कार्यालय पर सैकड़ों कांग्रेसी कार्यकर्ता एकत्रित हुए। जहां से जिला कांग्रेस अध्यक्ष महेश पटेल एवं विधायक मुकेश पटेल के नेतृत्व में रैली निकाली गई। रैली नगर के पंचेश्वर महादेव मंदिर, दाहोद नाका होते हुए पुलिस कंट्रोल रूम अजाक थाने पर पहुंची। जहां पर कांग्रेसी नेताओ ने बड़़वानी भाजपा जिलाध्यक्ष ओम सोनी द्वारा सार्वजनिक मंच से जोबट विधायक भूरिया के खिलाफ अशोभनीय एवं विवादित बयानबाजी के विरोध मे सोनी के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराने पहुंचे। अजाक प्रभारी भाकर ने तत्काल एफआईआर दर्ज नहीं करते हुए मामले की जांच करने का आश्वासन दिया। लेकिन कांग्रेसी नेता एफआईआर दर्ज करने की मांग पर अड़े रहे। गुस्साए कांग्रेस नेता एवं कार्यकर्ताओं ने खंडवा-बडौदा हाईवे मार्ग स्थित पुलिस कंट्रोल रुम अजाक थाने के सामने विरोध प्रदर्शन करते हुए चक्काजाम पर बैठ गए और जब तक ओम सोनी के विरुद्ध एफआईआर दर्ज नहीं होती तब तक धरने पर बैठे रहने की बात कहीं गई।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned