कुपोषित बच्चों के लिए किया रक्तदान

कुपोषित बच्चों के लिए किया रक्तदान

Rajesh Mishra | Publish: Jul, 26 2019 05:57:17 PM (IST) Alirajpur, Alirajpur, Madhya Pradesh, India

सोंडवा एसडीएम ने किया था आह्वान

सोंडवा/आलीराजपुर. जिले में कुपोषित बच्चों को रक्त की आवश्यकता के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत तहसील मुख्यालय पर एसडीएम विजय मंडलोई के आह्वान पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। इसमें बड़ी संख्या में रक्तदूतों ने भाग लेकर रक्तदान किया। इस अवसर पर तहसीलदार व बीएमओ केएस जमरा, रवि मुवेल, सुनिता मंडलोई, नितेश सोलंकी, धर्मेंन्द्र चावड़ा, विनय कुमार जायसवाल, पटवारी गोरासिया सहित बड़ी संख्या मे रक्तदूत मौजूद थे। उल्लेखनीय है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर आयोजित विकासखंड स्तरीय उक्त रक्तदान कार्यक्रम में 86 यूनिट रक्त एकत्रित किया गया। रक्तदान का उद्देश्य लोगों में रक्तदान के प्रति जागरूकता लाना है, क्योंकि इस क्षेत्र में रक्तदान के प्रति लोगों में जागरूकता की कमी है, इसीलिए उक्त कार्यक्रम आयोजित किया ताकि लोगों में रक्तदान के प्रति जागरूकता आ सके।
संघ कार्यकर्ताओं ने किया रक्तदान
आलीराजपुर. जिला ब्लड बैंक में हो रही रक्त की आपूर्ति के लिए दस्तक अभियान के अंतर्गत रक्तदान शिविर का आयोजन जिला चिकित्सालय में किया गया। इसमें राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के आह्वान पर युवाओं ने बढ़-चढक़र रक्तदान किया। रक्तदान कार्यक्रम गुरुवार सुबह 11.00 बजे प्रारंभ हुआ जो शाम 5.00 बजे तक चला। शिविर को सफल बनाने में जिला चिकित्सालय के चिकित्सक, रक्तकोष टीम सहित संघ के संयम गुप्ता, भुवान भवर, मनीष राठौड़, श्रवण गुप्ता आदि का सहयोग रहा।
कलेक्टर ने किया जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण, मरीजों से चर्चा की
आलीराजपुर. कलेक्टर सुरभि गुप्ता ने जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान एनीमिया से पीडि़त बच्चों को उन्होंने देखा। कलेक्टर सुरभि गुप्ता ने पीडि़त बच्चों के पालकों से चर्चा की। उन्होंने निर्देश दिए कि एनीमिया से पीडि़त बच्चों की सम्पूर्ण मेडिकल जांच कराई जाए, जिससे बच्चों का बेहतर उपचार किया जा सके। पीडि़त बच्चों को दिए जाने वाले उपचार का रिकॉर्ड संधारण किया जाए तथा लगातार उनका फॉलोअप किया जाए। उपचार के लिए आने वाले एनीमिया से ग्रसित हर बच्चे को रिकॉर्ड में दर्ज किया जाए। बच्चों के उपचार के लिए हर मूल सुविधा उपलब्ध करना सुनिश्चित करें। किसी भी प्रकार की लापरवाही बरतने पर संबंधित के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। अभियान के दौरान एनीमिया से पीडि़त बच्चे अधिक मात्रा में चिह्नित होते हैं तो उनके उपचार के लिए अतिरिक्त कक्ष ट्रॉमा सेंटर में तत्काल दो दिवस के भीतर तैयार किए जाने के निर्देश कलेक्टर ने सीएमएचओ को दिए। इस दौरान उन्होंने ब्लड बैंक का भी निरीक्षण किया। उन्होंनें निर्देश दिए कि वे किसी भी दिन जिला चिकित्सालय के औचक निरीक्षण पर आएंगी, इसलिए व्यवस्थाओं को सुनिश्चित किया जाए।

Collector Surbhi Gupta

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned