लिपिक वर्ग कर्मचारियों की अनिश्चिकालीन हड़ताल शुरू

काम बंद हड़ताल से सरकारी कामकाज हुआ ठप

By: amit mandloi

Published: 24 Jul 2018, 04:56 PM IST

आलीराजपुर. वेतन विसंगति दूर करने और संबंधी मांगों और रमेशचंद्र शर्मा समिति द्वारा की गई 23 सूत्रीय अनुशंसाओं को लागू कराने को लेकर मध्यप्रदेश लिपिक वर्गीय चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के आव्हान पर सोमवार से लिपिक वर्ग और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने प्रदेश व्यापी काम बंद हड़ताल और धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया है। जिसके चलते जिला मुख्यालय पर विभिन्न विभागों के लिपिक और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने सरकारी कामकाज बंद करके अनिश्चितकालीन हड़ताल की शुरुआत की। हड़ताल से सभी विभागों के सरकारी कामकाज बुरी तरह से प्रभावित हुए। अधिकारी सहित बाहरी लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। सारे कर्मचारी कलेक्टर कार्यालय के सामने सुबह एकत्र हुए, जिसके बाद रैली के रूप में फतेह क्लब मैदान स्थित सभागार पहुंचे। रैली में लिपिक और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हमारी मांगे पूरी करो के नारे लगा रहे थे।

सरकार हमारी मांगों को गंभीरता से नहीं ले रही- हड़ताल में बड़ी संख्या में इकट्ठे हुए महिला-पुरुष कर्मचारियों ने धरना-प्रदर्शन किया। लिपिक वर्ग की वेतन विसंगति दूर कर अपनी मांगों को पूरा करने की मांग सरकार के समक्ष रखी। इस अवसर पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए विभिन्न वक्ता कर्मचारियों ने कहा कि लिपिक कर्मचारियों की वेतन संबंधी मांगे वर्षों पुरानी है। सरकार इसे गंभीरता से नहीं ले रही है। सभा को जिला लिपिक संघ के अध्यक्ष दिलीपसिंह पंवार, सरंक्षक अनिल दसौंधी, अलाउद्दीन चंदेरी, रफीक खान, तरुण वाणी, निरजा चंदेल, राजेश बिश्या, रजनीकांत जोशी, रमेश गहलोत, दुर्गेश कलम, संजय तोमर,नीलोफर बिलवाल, निंगवाल व अन्य ने संबोधित किया।

आजाद को किया नमन
दोपहर में संघ के लिपिक कर्मचारी शहीद चन्द्रशेखर आजाद की जयंती के अवसर पर आजादनगर रैली के रूप में पहुंचे और आजाद को नमन कर पुष्पांजलि अर्पित की। इसके बाद लिपिक वर्ग की अनिश्चितकालीन हड़ताल की शुरुआत की गई। जिलाध्यक्ष पंवार ने बताया कि मंगलवार को फतेह क्लब मैदान पर सुबह १०.३० बजे से शाम ५ बजे तक धरना-प्रदर्शन चलेगा।

amit mandloi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned