नागरिको की जागरूकता से रुका घटिया निर्माण

Arjun Richhariya

Publish: Jan, 13 2018 05:20:38 PM (IST)

Alirajpur, Madhya Pradesh, India
नागरिको की जागरूकता से रुका घटिया निर्माण

ठेकेदार और विभाग की मिलीभगत से हो रहा था निर्माण, जवाबदारों ने नहीं दिया ध्यान

पत्रिका नेटवर्क
आलीराजपुर. जिला चिकित्सालय में सौंदर्यीकरण का कार्य किया जा रहा है, जो केवल दिखावे के तौर पर ही हो रहा है, किए जा रहे सौंदर्यीकरण के कार्य में तय मापदंड़ों को ताक पर रखकर ठेकेदार द्वारा घटिया सौंदर्यीकरण का कार्य करवाया जा रहा है व इस पर संबंधित विभाग के कुछ कर्मचारी चुप बैठकर ठेकेदार को मनमाना काम करने की छूट दे रहे है, जो शंका का विषय है। इस बात की जानकारी जिला चिकित्सालय के सीविल सर्जन एवं सीएमएचओ प्रकाश ढोके को जागरूक नागरिकों के द्वारा दी गई तो उन्होंने मौके पर पहुंचकर विभाग के आला अधिकारी को मौके पर बुलवाया और काम को रुकवाया गया। मौके पर पहुंचे पीडल्ब्यूडी के मुख्य कार्यपालन यंत्री वीके उईके ने भी माना की तय मानक के अनुसार कार्य नहीं किया जा रहा है। उन्होंने सब इंजीनियर मुकेश सोलंकी और संबंधित ठेकेदार मगन हाड़ा को शासन द्वारा तय किए गए मानक के अनुसार कार्य करने के निर्देश दिए।
लेवल का नहीं दिया जा रहा था ध्यान : वीके उईके द्वारा बताया गया कि पेवर्स को बने हुए रोड के लेवल से मिलान करते हुए उससे निचा लेवल लेते हुए लगाए जाना चाहिए, लेकिन ठेकेदार द्वारा रोड लेवल ना लेते हुए बिना लेवल ही पेवर्स को लगाया जा रहा था, जबकी कई जगह पर लेवल के हिसाब से सडक़े ऊंची-निची होने के कारण खुदाई करते हुए लेवल बनाकर कार्य किए जाना चाहिए था, लेकिन ठेकेदार अपनी मनमर्जी से सभी जगह एक जैसा कार्य कर रहा था। ज्ञात हो कि संबंधित इंजीनियर के द्वारा भी मौका मुआयना ना करते हुए ठेकेदार को छूट दी जा रही थी, जो की लापरवाही को दर्शाता है। उईके द्वारा बताया गया कि जिला चिकित्सालय में सौंदर्यीकरण के लिए 15 लाख रुपए की लागत से कार्य करवाया जा रहा है।

सिविल सर्जन ने दी जानकारी
"जिला चिकित्सालय में जो सौंदर्यीकरण का कार्य चल रहा है वह ठीक तरीके से नहीं किया जा रहा है। इसकी जानकारी सीविल सर्जन डॉ. ढोके द्वारा मुझे दी गई जिस पर मैरे द्वारा मौका मुआवना किया गया तो पाया की हकीकत में काम ठीक तरीके से नहीं चल रहा है ठेकेदार को अच्छा काम करने के निर्देश दिए गए है। "
वीके उईके, कार्यपालन यंत्री पीडब्ल्यूडी आलीराजपुर

क्या है मामला
जिला चिकित्सालय में पीडब्ल्यूडी विभाग के अधीन सौंदर्यीकरण का कार्य ठेके पर पेटलावद के ठेकेदार मगन हाड़ा के द्वारा किया जा रहा है, जहां पर पेवर्स लगाने का कार्य चल रहा है। उक्त स्थान पर लगाए जाने वाले पेवर्स घटिया किस्म के होने के साथ साथ तय मानक के अनुसार नहीं लगाए जा रहे है। इस दौरान जिला चिकित्सालय में आने वाले लोगों ने चल रहे घटिया निर्माण की जानकारी मीडिया व अन्य लोगों को दी। जिस पर जिला चिकित्सालय प्रभारी डॉ. ढोके ने विभाग के मुख्य कार्यपालन यंत्री को मौके पर बुलाकर घटिया निर्माण से अवगत करवाया।

अधिकारी ने माना, हो रहा था घटिया निर्माण
मौके पर पहुंचे पीडब्ल्यूडी के मुख्य कार्यपालन यंत्री उईके ने चल रहे निर्माण कार्य को देखा और उसके बाद पाया की निर्माण में प्रयुक्त होने वाली पेवर्स के निचे चूरी का इस्तेमाल किया जाना था, जबकि संबंधित ठेकेदार द्वारा चूरी के स्थान पर रेत भरी जा रही थी, जिसके चलते पेवर्स का स्थाई होना असंभव था। अधिकारी द्वारा उक्त कार्य स्थल पर नियुक्त सब इंजीनियर को निर्देशित किया गया कि तय मानकों के अनुसार ही उक्त निर्माण कार्य होना चाहिए। निर्माण कार्य में होने वाली कोताही को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned