‘गोविंद जीवन का करते हैं कल्याण’

भागवत महापुराण सोंडवा में कथा के पांचवे दिन उमड़ा धर्मालुओं का सैलाब

आलीराजपुर. सोंडवा में भागवत महापुराण के पांचवें दिन मालव माटी के संत पं. कमल किशोर नागर ने मानव जीवन का बखान करते हुए कहा कि मानव जीवन एक खाली पात्र है ,जिसमें किन कर्मो का समावेश करना है, वो उसी के हाथों में है। उन्होंने कहा मां केवल जन्म देती है और गुरू जीवन देता है और गोविंद उस जीवन का कल्याण करता है। युवाओं से आव्हान किया कि पार्टी छोड़ कर उत्सव करो,पार्टी में नेता आते है और उत्सव में देवता आते हैं। धर्म परिवतर्न करने वालो से आव्हान किया कि धर्म मत छोड़ो , जिन्होंने धर्म परिवर्तन किया है उन्हें भी समझाओं ।अपने धर्म से बेहतर संसार में कोई धर्म नहीं है यह सद्गति देगा। उन्होंने आदिवासी जाति के महत्व को बताते हुए कहा कि आदिवासी से ही संसार प्रारम्भ हुआ। राम भी सारे साधू सन्तों को छोड़ शबरी की कुटिया में गए।

गो= ग्रास से मिट जाते है जीवन के त्रास : पंडित नागर ने गौ ग्रास के महत्व को बताते हुए कहा कि गौ ग्रास से जीवन के त्रास मिट जाएंगे। गाय माता को दूध के लिए ही नही बल्कि दर्शन के लिए भी रखें। उनके द्वारा गाए गए भालो लागे रे म्हरो सावरिया रे सेठ भजन पर 80 वर्ष के बुजुर्ग भी अपने को थिरकने से ना रोक सके। वृंदावन का बखान करते हुए उन्होंने बताया कि वृन्दावन सा वन नही और नन्द गांव सा गांव नही। पंडित नागरजी ने युवाओ को सीख दी कि अपना पहनावा सही रखें क्योकि जमाने की नजरें खराब है। इसलिए बहू-बेटियो को भी अपने परिधान संस्कारित पहनना चाहिए। उन्होंने अपनी परम्परा का पालन करने और अपने आप मे खुश रहने का आव्हान किया। पंडित जी ने कहा कि आदमी का मन हर चीज बदलने का शौक होता है महिलाएं मंगल सूत्र बदलती है, किसान फसल बदल बदल कर करता है हम घर मे हर सप्ताह चादर तकिया बदलते है लेकिन वह अपने आपको के स्वभाव को नही बदलना चाहता है जिससे की अन्य लोगों को कष्ट होता है। आदमी को चाहिए की सबसे पहले अपने अंतर मन में झाकते हुए अपने स्वभाव में परिवर्तन करे। कथा समिति के द्वारा पांडाल में कथा सुनने वाले श्रद्धालुओं के लिए व्यापक स्तर पर व्यवस्था की गई है। वहीं मुख्य यजमान रामु डावर और आरएस परमार अपने परिजनो के साथ श्रद्धालुओं के लिए अन्य व्यवस्थाओ को भी देख रहे है ताकी कहीं कोई अव्यवस्था ना हो।

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned