मवेशी चराने गए तीन मासूमों की डूबने से मौत, गांव में पसरा मातम

तीनों बच्चों के शव का पोस्टमार्टम के बाद गांव में किया अंतिम संस्कार

By: tarunendra chauhan

Published: 14 Apr 2021, 02:24 PM IST

आलीराजपुर. आदिवासी अंचल आलीराजपुर जिले के ग्राम बोकडिय़ा थाना क्षेत्र चांदपुर में मंगलवार की शाम को दिल दहला देने वाली घटना घटित हुई। गांव के तीन मासूम अपने-अपने मवेशी लेकर जंगल चराने के लिए गए थे, जहां पर खोदरी में डूबने से तीनों की मौत हो गई।

क_ीवाड़ा जनपद के पूर्व अध्यक्ष व भाजपा नेता भदू भाया पचाया से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को गांव के तीन परिवारों के बच्चे अपने-अपने मवेशी लेकर जंगल में चराने गए थे। देर शाम को तीनों घरों के मवेशी तो वापस आ गए, लेकिन बच्चे नहीं लौटे, इस पर बच्चों के परिजन घबरा गए और बच्चों को आसपास ढूंढना शुरू किया, लेकिन कहीं नहीं मिले। इसके बाद परिजन बच्चों को ढूंढते हुए जंगल पहुंचे, तभी परिजन को जंगल स्थित खोदरी के पास कपड़े दिखे, नजदीक जाकर देखा तो कपड़े बच्चों के थे। ग्रामीणों ने खोदरी में उतर बच्चों की तलाश शुरू की तो तीनों बच्चों के शव मिले। घटना की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने पंचनामा कार्रवाई कर बच्चों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवाते हुए मर्ग कायम किया है। शंभवत: बच्चे नहाने के लिए खोदरी में उतरे और गहरे पानी में डूब जाने से उनकी मौत हो गई। पुलिस के अनुसार मृतक बच्चों में जितेन्द्र पिता चमार(7), वेस्ता पिता कालिया(6) व इकराम पिता सूरसिंह(6) सभी निवासी पटेल फलिया ग्राम बोकडिय़ा शामिल है।

गांव में एक साथ तीन मासूम बच्चों की मौत होने से पूरे गांव मातम का माहौल है, परिजन का रो-रोकर बुरा हाल है। इस हृदयविदारक घटना के बारे में जिसने भी इस सुना आंसू नहीं रोक पाया। भाजपा नेता भदू पचाने तीनों मृतक परिवारों को शासन से सहायता दिलाने का आश्वासन दिया है। पचाया व अन्य जनप्रतिनिधियों ने तीनों मृतक बच्चों को श्रद्धांजलि दी।

Show More
tarunendra chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned