नई रेत नीति में संशोधन और आलीराजपुर में कन्या महाविद्यालय के लिए सीएम को सौंपा पत्र

नई रेत नीति में संशोधन और आलीराजपुर में कन्या महाविद्यालय के लिए सीएम को सौंपा पत्र
नई रेत नीति में संशोधन और आलीराजपुर में कन्या महाविद्यालय के लिए सीएम को सौंपा पत्र

Rajesh Mishra | Updated: 15 Sep 2019, 05:27:05 PM (IST) Alirajpur, Alirajpur, Madhya Pradesh, India

Alirajpur News :
कांग्रेस जिलाध्यक्ष महेश पटेल, विधायक मुकेश पटेल ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात, जिले के कई विकास कार्यों को लेकर भी सौंपा मांग पत्र

आलीराजपुर. जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष महेश पटेल एवं क्षेत्रीय विधायक मुकेश पटेल ने बुधवार को झाबुआ में शहरी आवास मिशन योजना कार्यक्रम में आए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को नई रेत नीति में संशोधन कर पुरानी नीति लागू करने की मांग को लेकर एक आवेदन सौंपा। वहीं कन्या महाविद्यालय खोलने एवं शासकीय पीजी कॉलेज में सीट वृद्धि करने को लेकर मुख्यमंत्री को एक मांग पत्र सौंपा है। उन्होंने कई महत्वपूर्ण विकास कार्यों को लेकर भी मांग पत्र सौंपा। इस पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इन पर गौर कर समस्याओं को हल करने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर जिले के प्रभारी मंत्री सुरेंद्रसिंह बघेल, नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धनसिंह, कृषि मंत्री सचिन यादव, जनसम्पर्क विभाग मंत्री पीसी शर्मा, विधायक कलावती भूरिया सहित कांग्रेसी नेता उपस्थित थे।
जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष महेश पटेल और क्षेत्रीय विधायक मुकेश पटेल ने मुख्यमंत्री को बताया, मप्र शासन द्वारा हाल ही में पूरे प्रदेश में नई नीति लागू की गई है। इस नई रेत नीति से इस आदिवासी बहुल जिले सहित पूरे प्रदेश को नुकसान होने का अंदेशा है। उल्लेखनीय है कि पूर्व की रेत नीति में पृथक-पृथक खदान के मान से ओपन (खुली) नीलामी होती थी, जिसमें छोटे, मंझले आदिवासियों को रोजगार की उपलब्धता हो जाती थी किंतु नई रेत नीति से ब्लॉक स्तरीय ऑनलाइन नीलामी का प्रावधान रखा गया है। इससे बाहरी व्यापारियों को व्यवसाय करने का मौका मिलेगा किंतु इस जिले के गरीब आदिवासियों के रोजगार में कमी हो जाएगी। जिले के आदिवासियों के आजीविका के लिए रेत खनन एक प्रमुख साधन है जिससे उनके परिवार का भरण-पोषण होता है। नई रेत नीति से इनकी आजीविका का माध्यम छीन जाएगा।
जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष महेश पटेल और क्षेत्रीय विधायक मुकेश पटेल ने मुख्यमंत्री को आलीराजपुर में कन्या महाविद्यालय खोलने की वर्षोंपुरानी मांग को लेकर बताया, प्रदेश में सभी जिलों में कन्या महाविद्यालय हैं। वर्तमान में आलीराजपुर जिला इससे अछूता है जिससे उच्च अध्ययन के लिए आसपास के अंचलों की छात्राओं को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। वर्तमान में शासकीय महाविद्यालय में करीब एक हजार छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हंै। शासकीय कॉलेज में सीट कम होने से सैकड़ों छात्र-छात्राएं प्रवेश पाने से वंचित हो गए हंै। कॉलेज में प्रवेश पाने को लेकर अंचल के आदिवासी छात्र-छात्राएं कॉलेज और जनप्रतिनिधियों के चक्कर लगा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कन्या महाविद्यालय के संचालन के लिए स्थानीय फ्तेह क्लब मैदान के समीप एक भवन उपलब्ध है, जहां पर पूर्व में कॉलेज और जिला पंचायत कार्यालय संचालित होता था। नगरपालिका परिषद उक्त भवन को कन्या महाविद्यालय के संचालन हेतु देने के लिए सहमत है। इससे शासन पर वित्तीय भार भी नहीं आएगा। यह जानकारी जिला कांग्रेस कमेटी के जिला मीडिया प्रभारी रफीक कुरैशी ने दी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned