जन्माष्टमी पर नंद घर आनंद भयो जय कन्हैयालाल की जयघोष से गूंजे शहर के मंदिर

जन्माष्टमी पर नंद घर आनंद भयो जय कन्हैयालाल की जयघोष से गूंजे शहर के मंदिर

Arjun Richhariya | Publish: Sep, 03 2018 09:59:29 PM (IST) Alirajpur, Madhya Pradesh, India

अंचल में धूमधाम व परंपरागत तरीके से मनाया जन्माष्टमी पर्व, भक्तों ने आरती उतारकर किए दर्शन

आलीराजपुर. जिला मुख्यालय सहित जिले भर में सोमवार को कृष्ण जन्माष्टमी का पर्र्व धूमधाम व उत्साह पूर्वक माहौल में मनाया गया। नगर के श्री रणछोडऱायजी मंदिर, शेषशायी आचार्य मंदिर, श्री लक्ष्मी नृसिंह मंदिर, गोपाल मंदिर, श्रीराम मंदिर, रामदेवजी मंदिर सहित अनेक मंदिरों में भगवान श्री कृष्ण का आकर्षक शृंगार कर मंदिरों की आकर्षक सजावट की गई। जहां बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने भगवान के दर्शन-पूजन किए।

कई परिवारों में रक्षा बंधन पर्व मनाया : जन्माष्टमी पर्व पर नगर के कई परिवारों में रक्षा बंधन पर्व मनाया जाता है। रात्रि 12 बजे नगर के सभी मंदिरों में भगवान की महाआरती उतार कर माखन व पंजेरी का वितरण किया गया। जन्माष्टमी पर नगर के अनेक मंदिरों में भजन-कीर्तन का कार्यक्रम भी चलता रहा। पर्व को लेकर देर रात्रि तक नगर की सडक़ों पर चहल-पहल बनी रही। नगर में अनेक स्थानों पर जन्माष्टमी पर माखन मटकी फोडऩे का कार्यक्रम आयोजित हुआ।
प्रमुख स्थानों पर बांधी मटकी- जन्माष्टमी पर्व को लेकर नगर के प्रमुख स्थानों पर मटकी बांधी गई। मटकी बांधने को लेकर युवाओ में उत्साह देखा गया। स्थानीय रणछोडऱाय मंदिर के बाहर नवरंग फ्रेंड सर्कल द्वारा मटकी बांधी गई। नवरंग फ्रेंड सर्कल के संजय बिश्या, चिनूभाई,भावेश, कल्पेश, प्रशांत, सुशील, कार्तिक, लकी गोस्वामी, गोपाल मोदी, लक्ष्मी नारायण राठौड, राजेन्द्र राठोड, सचिन बिश्या, विशाल सेन, संदीप जेथलिया व सर्कल के अन्य सदस्यो के द्वारा माखन मटकी को सजाकर बांधी गई।

नोटों व फूलों से सजाया मंदिर
पर्व को लेकर नगर के श्री रणछोडऱाय मंदिर, शेषषायी आचार्य मंदिर सहित अनेक मंदिरों में भगवान कृष्ण का आकर्षक शृंगार किया गया। अनेक मंदिरों में श्रीकृष्ण जन्मोत्सव की नयनाभिराम झांकियां भी बनाई गईं, जिन्हें सैकड़ों भक्तगणों ने निहारा। समिति की ओर से प्रात: समय में भगवान का विशिष्ठ पूजन किया गया। पर्व पर सुबह से ही मंदिरों में भक्तगणों की भीड़ उमडऩा प्रारंभ हो गई थी, जिन्होंने भगवान के दर्शन-पूजन कर धर्म लाभ लिया। पर्व को लेकर सभी मंदिरों पर आकर्षक विद्युत साज-सज्जा भी की गई। इस दौरान मंदिरों में सुबह दूध, केसर व पंचामृत से भगवान श्रीकृष्ण का अभिषेक किया गया। वहीं श्री लक्ष्मी नृसिंह मंदिर परिसर को 100, 50, 20, 10 व 5 रुपए के नोटों से सजाया गया। वहीं श्री रणछोडऱायजी मंदिर व श्री शेषशायी आचार्र्य मंदिर को फूल बंगले की तरह सजाया गया।

Ad Block is Banned